अब रोबोट करेगा यात्रियों की जांच पड़ताल

यदि आप ब्रिटिश, बायोमीट्रिक पासपोर्टधारी हैं, तो सम्भव है कि अगली बार रोबोट आपकी पहचान सुनिश्चित कर हवाई जहाज में यात्रा करने की अनुमति दे। सुरक्षा बढ़ाने और एयरपोर्ट पर भीड़ नियंत्रित करने के मकसद से ब्रिटेन एक नई तकनीक का इस्तेमाल करने वाला है। यात्रियों के चेहरे पहचानने वाली इस तकनीक को ब्रिटेन शुरू में कुछ ही हवाई अड्डों और केवल ब्रिटिश व यूरोपियन यूनियन के यात्रियों के लिए लागू करेगा।

इस योजना के तहत इन यात्रियों की जांच सुरक्षाकर्मियों की जगह रोबोट करेंगे। रोबोट से अनुमति पाने के लिए यात्रियों के पास Biometric पासपोर्ट का होना जरूरी होगा। बायोमीट्रिक पासपोर्ट में एक इलेक्ट्रॉनिक चिप लगी होती है, जिसमें पासपोर्ट धारक के हुलिए का ब्यौरा होता है। ब्रिटिश बॉर्डर सिक्युरिटी अधिकारियों का मानना है कि पासपोर्ट की जांच का काम मशीनें इंसानों से ज्यादा बेहतर तरीके से कर सकेंगी। लेकिन कुछ लोगों को आशंका है कि हो सकता है कि यात्री किसी रोबोट के द्वारा रोके जाने पर बुरा मान जाएं। एक ब्रिटिश अखबार में छपी रिपोर्ट में लिखा है ‘कोई पुलिस की वांछित सूची में है या नहीं है इसे जानने का यह सबसे गलत तरीका है। हो सकता है कि तकनीकी गड़बड़ी की वजह से कोई रोबोट किसी निर्दोष यात्री को नकार दे।’

प्रणाली का एक प्रतीकात्मक वीडियो नीचे देखा जा सकता है



यूके बॉर्डर एजेंसी के लिए Operational Design & Development के प्रमुख के तौर पर काम करने वाले गैरी मर्फी का कहना है ‘ऐसे लोगों को पारंपरिक पासपोर्ट जांच वाली लाइन में भेजा जाएगा या हो सकता है कि इन नए गेटों पर कुछ अधिकारी भी तैनात कर दिए जाएं। हम जानना चाहते हैं कि जनता इस नए तरीके पर क्या प्रतिक्रिया देगी। हम इसी गर्मियों में इसे परखेंगे।’

इस तरह की तकनीकों के विरोधी, ‘No to I Cards’ अभियान के फिल बूथ का कहना है ‘ये लोग कुछ ज्यादा ही आशावादी हैं। सही मायनों में तो ऐसी कोई तकनीक ही नहीं है। पिछली बार जब मैंने इसके बारे में जानकारी ली तो पता चला कि सबसे बढि़या सिस्टम की सफलता दर केवल 40 फीसदी थी। मैं हैरान हूं कि जब पहले से ही यात्री परेशान हैं उस समय यह नई चीज भी लागू की जा रही है।’ लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स के विशेषज्ञ गस हुसैन ने कहा ‘यह एक हास्यास्पद तकनीक है।’

बहरहाल 2006 से अब तक ब्रिटेन में करीब 80 लाख से एक अरब लोगों को बायोमीट्रिक पासपोर्ट जारी किए जा चुके हैं। गौरतलब है कि 2016 के बाद ब्रिटेन में गैर बायोमीट्रिक पासपोर्ट वैध नहीं माने जाएंगे। इस बीच होम ऑफिस मिनिस्टर लियाम बाइर्नी का कहना है ‘ब्रिटेन की सीमा सुरक्षा इस समय दुनिया भर में सबसे ज्यादा सख्त है और सख्त जांच पड़ताल में समय लगता है लेकिन हम ऐसा नहीं चाहते। इसलिए बॉर्डर एजेंसी जल्द ही ब्रिटिश और यूरोपियन इकनॉमिक एरिया के नागरिकों क
े लिए स्वचालित द्वार शुरू करने वाली है। हम इन्हें इस साल शुरू करेंगे और अगर ये कामयाब रहे तो सभी अहम बंदरगाहों और हवाई अड्डों पर इन्हें लगाया जाएगा।’

इस प्रणाली की कार्यविधि से अधिक जानकारी आपको यहाँ, यहाँ और यहाँ मिल सकती है।

अब रोबोट करेगा यात्रियों की जांच पड़ताल
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

Related posts

One Thought to “अब रोबोट करेगा यात्रियों की जांच पड़ताल”

  1. अतुल

    रोचक जानकारी.

Leave a Comment


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons