एंड्रायड आधारित मोबाईल क्यों लिया…

पिछले लेख में जब मैंने लिखा कि एंड्रायड फोन के खो जाने पर किस तरह एक एप्लीकेशन की सहायता से फोन वापस पाया जा सकता है, नियंत्रित किया जा सकता है, तो इधर दिनेशराय द्विवेदी जी की साँसे ऊँची नीची हो गईँ. उधर अली जी ने मासूम सा प्रश्न उछाल दिया कि एंड्रायड आधारित मोबाईल क्यों लिया जाए?

हमने चुटकी लेते हुए लिख तो दिया ‘पहले ये बताईये कि फोन खरीदा ही क्यों जाए 🙂

फिर ख्याल आया कि ‘ एंड्रायड आधारित मोबाईल क्यों लिया जाए?’ ऐसा प्रश्न ना जाने कितनों के ही मन में उठता होगा. अब ये तो अपनी अपनी पसंद है कि कौन सा फोन लिया जाए. मैं तो इतना बता सकता हूँ कि मेरे पास जो एंड्रायड आधारित मोबाईल है उससे मैं क्या करता हूँ.

इससे पहले आगे बढ़ें, ये बता दिया जाए कि मेरा नितांत व्यक्तिगत मत है कि मशीनों को, तकनीक को इतना इस्तेमाल ना किया जाए कि मानव उनका गुलाम हो जाए, उसकी लत पड़ जाए और कभी उससे जुदा होना पड़े तो जीवनचर्या में खलल पैदा हो. वैसे भी कई आधुनिक चीजें केवल दिखावे के लिए फूँ फाँ वाले चोंचले ही हैं, जिनके बिना भी जीवन चलता है.

smartphone-android

आजकल जितने एंड्रायड आधारित फोन बाज़ार में आ रहे हैं उनसे मिलने वाली सुविधाएं इतनी अधिक हैं कि उन्हें स्मार्टफोन कहा जाता है. अब ये कोई ज़रूरी थोड़े ही है कि जिसके पास स्मार्टफोन हो वो बंदा खुद मोबाईल का इस्तेमाल करने में स्मार्ट हो, हाँ, ये बात अलग है कि संगत का असर होता है और स्मार्ट फोन के साथ रहते रहते उसका मालिक भी स्मार्ट होता जाए 😀

मेरे पास जो एंड्रायड आधारित मोबाईल है उस पर जितनी कॉल्स आती जाती हैं उन नंबरों के प्रकार (लैंडलाइन/ मोबाईल), ऑपरेटर, शहर, राज्य आदि की call detailsजानकारी ShaPlus STD Info की सहायता से स्क्रीन पर दिखती रहती है. अनजान काल्स के लिए तो यह बहुत सहायक होता है कि आखिर ये काल है कहाँ से? सारी कॉल्स का डाटा एक अलग फाईल में इकट्ठा होता रहता है. जिसे ज़रुरत हो तो बाद में देखा जा सकता है.

इसी एप्लीकेशन पर आप अपने शहर का एस टी डी कोड डाल देंगे तो स्थानीय लैंडलाइन नंबरों के लिए हर बार एस टी डी कोड नहीं लगाना पडेगा, जैसा हम लैंडलाइन नंबरों से डायल करते समय करते हैं.

इसके अलावा जब भी ज़रूरत पड़े, बिना कॉल किए ही टेलीफोन नंबरों के शुरूआती 4 – 5 अंक डालते ही उनका विवरण देखा जा सकता है.

हर कॉल की रिकॉर्डिंग भी होती रहती है Auto Call Recorder की सहायता से. रिकॉर्ड की गई फाईल को ड्रॉपबॉक्स (क्लाउड) पर भेज दिया जाता है. अपलोड की जाने वाली फाईल के लिए नेटवर्क की सहायता ना लेनी हो तो निर्देश दिया जा सकता है कि केवल वाई फाई से जुड़ने पर ही फाईल अपलोड हो.

हर कॉल रिकॉर्ड करने का इरादा ना हो तो फोनबुक में शामिल व्यक्तियों को छोड़कर केवल अनजान नंबरों की कॉल को ही रिकॉर्ड किया जा सकता है.

Skypeसामान्य कॉल के अलावा Skype भी ऑन रहता है जिससे दुनिया के किसी भी कोने में मोबाईल/ लैपटॉप/ डेस्कटॉप पर Skype ऑनलाइन धारक को मुफ्त ही कॉल किया जा सके.

अगर दूर किसी देश में सामान्य लैंडलाइन या मोबाईल नंबर पर कॉल करना हो तो भी बहुत कम दरों पर Skype से कॉल की जा सकती है. इसके लिए स्काइप खाते में कम से कम 10 डॉलर जमा करने पड़ते हैं, जो भारत में अधिकतर बैंकों द्वारा दिए जाने वाले सामान्य VISA प्रदत्त एटीएम कार्ड से हो जाता है.

मोबाईल कॉल करनी हो या नेटवर्क आधारित स्कायप कॉल हो या फिर बाक़ी काम हों. ये तो देखना होता है ना कि ‘टावर’ है कि नहीं कितनी ‘डंडियाँ’ दिख रहीं. 😀 चालू भाषा के इन शब्दों की बात ना की जाए तो नेटवर्क की सेहत देखने-दिखाने के लिए मैंने Open Signal का सहारा लिया हुया है

open-signal-bspabla

यह मुझे बताता है कि कमजोर सिग्नल की स्थिति में नेटवर्क किस तरफ ठीक-ठाक मिल रहा, उधर ही खिसक लिया जाए. और अगर आस-पास कोई वाईफ़ाई router हो तो उसका उपयोग कर लिया जाए. मुझे इससे यह भी पता चल जाता है कि मैं जहाँ हूँ वहां किस का नेटवर्क तगड़ा है? रिलायंस का, बी एस एन एल का या एयरटेल का!

इसके अलावा जब चाहो,  मुझे अपनी कॉल, इंटरनेट डाटा, एस एम एस का इकट्ठा हुया डाटा भी मिल जाता है, जिससे आने वाले मोबाईल बिल वगैरह काबू में रहते हैं 🙂

Cellular Network Heat map of Lucknow
लखनऊ शहर का मोबाईल नेटवर्क हीट मैप

अब कुछ मिल रहा है तो देना भी चाहिए ना! इसलिए इस सुविधा को देने वालों को इतना योगदान कर देता हूँ कि वे मेरे मोबाईल से मिलने वाली जानकारी को अपने डाटाबेस में शामिल कर सारी दुनिया का एक वृहद नेटवर्क मानचित्र बना सकें, दिखा सकें. इस मानचित्र में वे नेटवर्क हीट मैप तथा टावर की स्थिति दिखाते हैं.

ये तो थे मोबाईल पर आपस में बात करने वाली मूलभूत सुविधा से जुड़े कुछ एप्लीकेशन . अब बात हो जाए एस एम एस की

Go SMS Pro

एस एम एस के लिए Skype के साथ साथ मैं Go SMS Pro का प्रयोग करता हूँ.जिसमें जीमेल सरीखे एक व्यक्ति से हुए संवाद को एक साथ ही देखा जा सकता है नाम, नंबर, समय, संदेश के शब्दों का आकार बदला जा सकता है. थीम बदली जा सकती है, रात को सोते समय कोई संदेश ना आये इसका इंतज़ाम हो सकता है या नाईट मोड के लिए स्क्रीन ब्राईटनेस व्यवस्थित की जा सकती है, संदेश के साथ ही भेजने वाले का ताज़ा फेसबुक प्रोफाईल चित्र दिखाया जा सकता है, एस एम एस भेजे जाते समय अपने ‘सिग्नेचर’ भी चिपकाए जा सकते हैं, संदेश के लिए विभिन्न तरह की ध्वनियाँ व्यवस्थित की जा सकती हैं,

इसकी एक खूबी मुझे अच्छी लगी कि संदेश भेजे जाते समय आप एक क्लिक में ही अपना संदेश बोल कर भेज सकते हैं, तुरंत कोई फोटो ले कर भेज सकते हैं, अपने स्थान की जानकारी भेज सकते हैं. सबसे बढ़िया तो ये है कि एक निश्चित अन्तराल में आटोमेटिक सारे एस एम एस का डाटा एक साथ Save / सहेज कर मेमोरी कार्ड में रख सकते हैं या फिर ड्रापबॉक्स में भेज सकते हैं.

whatsappवैसे नई तकनीक के नाम पर कुछ समय पहले WhatsApp Messenger भी स्थापित कर लिया था, इस नए साधन से आप अपने मोबाईल द्वारा, अपने ऐसे फोनबुक संपर्कों को नि:शुल्क, असीमित एस एम एस भेज सकते हैं जिनके पास भी Whatsapp है. यह ऐसा ही है जैसा Skype,द्वारा अपने सदस्यों के बीच असीमित बातचीत की सुविधा दी जाती है. सुविधाएं लगभग वैसी ही हैं जैसी Go SMS Pro में दिखी. इसकी अधिक जानकारी विकिपीडिया पर ली जा सकती है.

जो एप्लीकेशन पहले से ही फोन प्रणाली से संलग्न मिले हैं उनमे Google Maps, Video Editor, S Suggest, Kies Air, Street View on Google Maps, Picasa Uploader, Music Hub प्रमुख हैं.

इनके साथ ही मैनें सोशल मीडिया संबंधित फेसबुक, लिंक्डइन स्थापित कर रखा है, लेकिन चूंकि ट्विटर पर सक्रिय नहीं इसलिए उसे अभी शामिल नहीं किया है.

कंप्यूटर तकनीक की बात की जाए तो जहाँ WinZip है और WebPageViewSource, View HTML Source जैसे एप्लीकेशन वेबसाइट संबंधित जानकारी के लिए सहायक हैं, वहीं Scan to PDF Free, Handy Scanner Free PDF Creator, CamScanner -Phone PDF Creator, कागजातों को स्कैन करने में अपनी अपनी खूबियों के साथ मदद करते हैं

location alertसामान्य दिनचर्या में सहायता के लिए मुझे Location Alert बहुत पसंद आता है. अब मान लीजिये आपको ऑफिस से लौटते हुए बिटिया से वादा किया प्यारा सा टेडी बीयर लेना है, दुकान आपके रास्ते में ही है लेकिन बॉस से पड़ी डांट के कारण आप तमाम बातें सोचते घर पहुँच जाते हैं, फिर सामने दिखता है नन्ही गुडिया का उदास चेहरा. अब यदि Location Alert को आप कह दें कि भई, उस खिलौने की दुकान के 500 मीटर पहले ही मुझे बता देना कि बिटिया के लिए खिलौना लेना है तो 500 मीटर के दायरे में आते ही आपका मोबाईल चीख पुकार मचाने लगेगा ‘बिटिया का खिलौना, बिटिया का खिलौना’.

अब अगर कंप्यूटर के कभी-कभी बिगड़ जाने वाले की-बोर्ड को बदलना है और सिर्फ इसी काम के लिए आपको 11 किलोमीटर दूर अपने परिचित की दुकान तक जाना जम नहीं रहा तो Location Alert को बता दीजिये. अगली बार जब कभी भी आपको उस क्षेत्र में किसी दूसरे काम के लिए जाना पड़ जाए तो मोबाईल याद दिला देगा ‘आपके परिचित की दुकान पास में ही है, की-बोर्ड ले लो’

इसी तरह To Do List आपकी छोटी सी डायरी का काम करता है कि कौन कौन से काम करने बाक़ी हैं, Tiny Flashlight + LED बेहद शक्तिशाली टोर्च का काम करता है, Mirror हो तो आकस्मिक क्षणों में दर्पण का काम कर देगा, Alarm Clock Xtreme बहुतेरी खूबियों वाली अलार्म घड़ी है, Barcode Scanner से किसी भी उत्पाद की सारी आवश्यक जानकारी ले उसकी गुणवता, असली-नकली होने की जानकारी ली जा सकती है. और कुछ नहीं तो व्यस्त क्षणों के बीच India Newspapers की सहायता से भारतीय अखबारों की ख़बरें पढ़ सकते हैं

पिता जी के स्वास्थ्य का रिकॉर्ड रखने के लिए Sugar log का इस्तेमाल कर मुझे यह याद रखने में आसानी होती है कि क्या खाने के बाद उनकी शुगर का स्तर क्या था और एकत्रित आंकड़ों, ग्राफ की सहायता से मधुमेह बढ़ने घटने का पैटर्न समझा जा सकता है,

इसके अलावा Blood Pressure Log के साथ रक्तचाप का रिकॉर्डInstant Heart Rate की सहायता से मोबाईल के कैमरे पर ऊँगली रख कर मिली दिल की धड़कनों का हिसाब भी रखता हूँ.

मोबाइल संबंधित उठापटक के लिए मेरे पास Ringtone Maker है और दिए गए कैमरे का अधिकतम उपयोग करने के लिए Camera360 Ultimate काम में लाता हूँ.

एंड्रायड से पंगे लेने के लिए Fingerprint Scanner Superuser, Tasker, Root Uninstaller, Elixir 2, APP Lock, Advanced Task Killer, MacroDroid – Device Automation, App Cache Cleaner मेरे लिए बहुत हैं 😀

बैंकिंग कार्यों को चलते फिरते State Bank Freedom तथा ICICI Mobile Banking – iMobile द्वारा निपटा देने की ज़रुरत आ ही जाती है अक्सर

निवेश संबंधित उतार चढ़ाव पर निगाह रखने के लिए Gold Live! के साथ साथ स्टॉक मार्केट की पल पल होती हलचल, अपने शेयरों की स्थिति, बाज़ार की ख़बरों के लिए Stock Watch: BSE / NSE पर निर्भर हूँ.

दिक्कत तब होती है जब शहर से बाहर रहता हूँ और रेल यात्रा संबंधित कोई कार्य आ पड़े. इसलिए PNR status and train info की सहायता से ट्रेनों की metro-bspablaआवाजाही, सीट उपलब्धता से जानकारी से ले कर अपने IRCTC खाते की टिकटों का पी एन आर देख लेता हूँ.

लेकिन कभी किसी ट्रेन से जाना हो या किसी स्टेशन पर उतरना हो Indian Railway Train Alarm मेरी इतनी सहायता कर देता है कि बताये गए समय से मुझे लगातार संबंधित ट्रेन की जानकारी देते रहता है कि ट्रेन अभी कहाँ पहुंची है. इसी एप्लीकेशन से मैं IRCTC पर जा कर आरक्षण संबंधी कार्य भी कर लेता हूँ.

दिल्ली में जब भी रहना होता है तो Delhi Metro Navigator मुझे हर वह जानकारी चुटकियों में दे देता है जिसकी ज़रुरत के बिना मेट्रो में सफ़र करना दुश्वार हो जाए .कभी ज़रुरत पड़ी दिल्ली की बसों में सफ़र करने की तो Delhi DTC Info स्थापित कर लेने का इरादा है जबकि मेट्रो व डी टी सी दोनों का ही संयुक्त एप्लीकेशन Delhi Route Planner भी उपलब्ध है.
,
अपनी कार से चलना हो या किसी अन्य के वाहन पर. एक एप्लीकेशन Car Dashboard स्पीडोमीटर का काम तो करता ही है, साथ ही साथ अलग अलग स्थानों पर स्वयं निर्धारित गति बढ़ जाने पर आवाज़ लगाकर, रंग दिखा कर चेतावनी देता है, किस स्थान पर हूँ बताता है, आसपास का तापमान क्या है, समुद्र तल से ऊंचाई क्या है, आदि आदि की जानकारी भी देता है

आम भाषा में कहा जाए तो कार के ‘एवरेज’ पर निगाह रखने के लिए FuelLog – Car Management सारा लेखा जोखा रख लेता है. ज़रुरत पड़े तो, आंकड़ों और ग्राफ की सहायता से सारी स्थिति साफ दिखती है.

ब्लॉगिंग की दुनिया से जुड़ा हूँ तो गूगल ब्लॉग के लिए Blogger को कैसे छोड़ देता 🙂 इसकी सहायता से वो सभी आवश्यक कार्य किये जा सकते हैं जो फोटो वाली पोस्ट लिखते समय होते है. वर्डप्रेस वाली वेबसाईट्स या ब्लॉग के लिए मैंने WordPress को चुना है जिसने मुझे कभी निराश नहीं किया

हिंदी लिखने के लिए हाल ही में प्रस्तुत किया गया Google Hindi Input मुझे बेहद पसंद आया है. इसकी सहायता से फेसबुक पर कमेंट किया जा सकता है, ब्लॉग लिखा जा सकता है, एस एम एस लिखा जा सकता है और जहाँ जहाँ भी लिखा जा सकता है अपन हिंदी लिख ही लेते हैं.

वेबसाईट्स पर गूगल एडसेंस से होने वाली आमदनी के अवलोकन के लिए AdSense Dashboard मेरा सहायक है मोबाईल पर.

android-apps-bspabla

कोई जिज्ञासु मित्र पूछेगा कि एंड्रायड आधारित मोबाईल क्यों लिया मैंने/ क्यों लिया जाए/ क्यों नहीं लिया जाए/ क्यों नहीं लिया यार अब तक, तो मैं बता सकता हूँ इस लेख के सहारे कि ये तो वे एप्लीकेशन हैं जो मुझे सामान्यजन के लिए याद आये. ऐसे और भी ना जाने कितने ही ऐसे एप्लीकेशन हैं जो मैंने अपनी रूचियो के हिसाब से अपनाए हुए है.

यूं तो मेरे द्वारा उपयोग किये जा रहे अधिकतर एपलीकेशन मुफ्त हैं, लेकिन कुछ एप्प्स भुगतान करने पर ही अधिक सुविधा दे पाते हैं

अधिकतर एप्लीकेशन, जिन्हें एप्प्स भी कहा जाता है अक्सर, नेटवर्क और जीपीएस का उपयोग करते हैं. इसलिए जब तक घर, ऑफिस में रहता हूँ तब तक अनलिमिटेड ब्रॉडबैंड वाले वाई-फाई का उपयोग करता है मेरा मोबाईल. जब घर से बाहर रहता हूँ तो ज़रुरत पड़ने पर 2G, 3G चलता है अनवरत.

मुझे याद आता है जब INSAT 1B उपग्रह छोड़े जाना था तो दूरदर्शन के चिट्ठी पत्री कार्यक्रम में किसी दर्शक ने पूछा था “इस उपग्रह से छोड़े जाने से हमको ज़्यादा चित्रहार और फिल्में देखने मिलेंगे क्या?” कुछ इसी तरह मेरे साथी भी पूछते हैं इस पर गेम अच्छे से चलेगी ना? यूं-ट्यूब कैसा दिखता है? वो जो अजीब सी आवाज़ में आपकी ही कही बात को दोहराने वाली बिल्ली कित्ती प्यारी है ना!

मैं नहीं जानता कि गूगल के मंच पर उपलब्ध 10 लाख से भी अधिक एप्प्लिकेशन से कितने आपके काम के हैं लेकिन स्मार्टफोन के साथ रहना है तो निश्चित ही कुछ तो पसंद आ ही जायेंगे

आपने भी अपनी रूचियों, ज़रूरतों के अनुसार कुछ एप्प्लिकेशन अपनाए हैं कि नही?

एंड्रायड आधारित मोबाईल क्यों लिया…
5 (100%) 1 vote
Print Friendly, PDF & Email

Related posts

57 Thoughts to “एंड्रायड आधारित मोबाईल क्यों लिया…”

  1. Mahfooz Ali

    ओ लैय ! साड्डे पाबला जी दी बात ही लग है …..

    1. बी एस पाबला

      Heart

  2. Mahfooz Ali

    Very nice article…. knowledge is to/for disperse ….

    1. बी एस पाबला

      THANK-YOU

  3. वाह ! आप तो इतने सारे फीचर इस्तेमाल करते है यहाँ तो इन्हें पढ़कर याद रखना ही भारी पड़ रहा है 🙂
    टिप्पणीकर्ता रतन सिंह शेखावत ने हाल ही में लिखा है: म्हारे मरुधर देश रा प्यारा ढाणी-गाँवMy Profile

    1. बी एस पाबला

      Smile

  4. बहुत बढिया और उपयोगी जानकारी

    1. बी एस पाबला

      .THANK-YOU

  5. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
    आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज सोमवार (15-04-2013) के ‘दूसरी गुज़ारिश ‘ : चर्चा मंच 1215 (मयंक का कोना) पर भी होगी!
    नवरात्रों की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ!
    सूचनार्थ…सादर!

    1. बी एस पाबला

      THANK-YOU.

  6. ये हुई ना बात 🙂
    इसे पढ़ने के बाद द्विवेदी जी के फोन खो जाने वाली पोस्ट को पढ़ने का मज़ा ही दोगुना हो गया 🙂
    शुक्रिया !

    1. बी एस पाबला

      Heart .

  7. आपने तो फोन को निचोड़ ही लिया है, हमारी आवश्यकतायें बहुत कम हो गयी हैं अतः इतने एप्स का प्रयोग नहीं कर पाते हैं।

    1. बी एस पाबला

      Happy

  8. एंड्रायड फ़ोन से हम क्या-क्या कर सकते!!! पढ़कर ही हैरान हूँ।

    नये लेख : प्राण जी को दादा साहब फाल्के पुरस्कार और भगत सिंह की याचिका।
    टिप्पणीकर्ता HARSHVARDHAN ने हाल ही में लिखा है: श्रद्धांजलि : अब्राहम लिंकनMy Profile

    1. बी एस पाबला

      Approve

  9. sandeep singh, Allahabad

    Sir G, Ek baat ye bataiye ki kya kisi android mobile ka version update kar sakte hain, aur kya uske liye charge dena padta hai ??????????

    1. बी एस पाबला

      एंड्रायड मोबाईल के वर्सन का (आधिकारिक) अपडेट, उसे जारी करने वाली कंपनी की ओर से किया जाता है और उसका चार्ज लेना ना लेना भी उसी के हाथ में है.

      अनाधिकृत अपडेट भी होता है जिसके नाकाम हो जाने पर फोन का बंटाधार भी हो सकता है.
      Weary

  10. Sudhir

    सरजी , १५००० की कीमत का कौन सा एंड्रायड मोबाईल लेना चाहिए. ब्रांड एवं मॉडल बता दे तो मेहरबानी होगी.

    1. बी एस पाबला

      Sad
      मैं पहले ही ऊपर तीसरे पैराग्राफ में लिख चुका हूँ
      …ये तो अपनी अपनी पसंद है कि कौन सा फोन लिया जाए.

  11. वाह! शानदार लेख. इसीलिए तो दुनिया में एण्ड्रॉयड छा रहा है 🙂
    टिप्पणीकर्ता रवि ने हाल ही में लिखा है: लेटेस्ट फंडा – लो देखो, इलेक्ट्रानिक टेरेरिज्म के पीछे कौन है?My Profile

    1. बी एस पाबला

      Cheers

  12. इस लेख को – चित्र समेत कृपया इलेक्ट्रॉनिकी मैगजीन को अवश्य भेजें. हाँ, अपना अता पता अवश्य दे दें – क्योंकि वे चेक भी भेजते हैं 🙂
    यदि लेख को कृतिदेव में कन्वर्ट कर दें और जो अंग्रेज़ी के रोमन अक्षर हैं उन्हें भी देवनागरी में (ऐप्प के नाम) कर दें तो और बढ़िया.

    उनका पता है – electroniki@electroniki.com
    टिप्पणीकर्ता रवि ने हाल ही में लिखा है: लेटेस्ट फंडा – लो देखो, इलेक्ट्रानिक टेरेरिज्म के पीछे कौन है?My Profile

    1. बी एस पाबला

      Yes-Sir

  13. satish kumar chouhan

    विंडो मोबाइल बेहतर है या एंड्राइड आवर क्यों मेरा विंडो चोरी हो गया पता नहीं चल रहा क्या कुछ मदद मिल सकती है

    1. बी एस पाबला

      Thinking

  14. तब तो अगला फ़ोन जल्द ही लेना पड़ेगा. 🙂
    टिप्पणीकर्ता Dr. Zakir Ali Rajnish ने हाल ही में लिखा है: अंतर्राष्ट्रीय ब्‍लॉग पुरस्कार # आपके आशीष की ज़रूरत है….My Profile

    1. बी एस पाबला

      Pleasure

  15. मैंने भी अभी कुछ दिन पहले एक एंड्राइड फोन खरीदा है
    और थोड़े जांचने परखने के बाद ऐसे ही एक लेख पर काम जारी था

    पर इतना अच्छा तो शायद ही कोई और लिख पाता
    धन्यवाद

    अब रूट करके कुछ एप्स को हटाने के काम पर लग जाता हूँ

    Superman
    टिप्पणीकर्ता नवीन प्रकाश ने हाल ही में लिखा है: अब ATM खुद आएगा आपके पासMy Profile

    1. बी एस पाबला

      Cheers

  16. मयंक मयूर

    मै अपने एंड्रो फोन में लिनक्स उबुन्तु इनस्टॉल करना चाहता हूँ… lekin कोई खास सफलता नहीं मिल पा रहू.. क्या अप कोई मदद करेंगे ??? 🙁

    1. बी एस पाबला

      Amazed
      इससे भी काम नहीं बना आपका?
      https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zpwebsites.linuxonandroid

    2. आेह ! आपके लिए लिखी बात ऊपर सतीश चौहान जी के नाम छाप मारी 🙁
      टिप्पणीकर्ता काजल कुमार ने हाल ही में लिखा है: कार्टून :- आे ब्रूटस तुम ही तुम हर तरफ़ !My Profile

    3. १. आइए पहले हम ये समझ लेें कि उबुंटू क्या है. जब फ़ोन बनता है तो उसमें कोई साफ़्टवेयर नहीं होता. इसलिए निर्माता कंपनी उसमें विंडोज़, एंड्रायड या उबुंटू जैसा कोई एक प्लेटफ़ार्म इंस्टाॅल करके आपको देती है.

      २. अगर आप एंड्रायड फ़ोन में उबुंटू इंस्टाॅल करना चाहते हैं तो इसका मतलब है कि आप फ़ोन को फ़ार्मेट कर उसमें उबंुटू डाल रहे हैं.

      ३. इसलिए आप चाहें तो https://play.google.com/store/apps/details?id=com.cuntubuntu&feature=search_result यह एप्प इंस्टाॅल कर सकते हैं जो आपको उबुंटू का आनंद देगी. यह विंडोज़ के भीतर ही उबुंटू इंस्टाॅल करने जैसी एप्प है. यह उबुंटू का अधिकारिक संस्करण नहीं है.

      ४. वैसे अधिक जानकारी के लिए उबुंटू का अधिकारिक पृष्ठ यहां है http://www.ubuntu.com/phone/ubuntu-for-android/features
      टिप्पणीकर्ता काजल कुमार ने हाल ही में लिखा है: कार्टून :- आे ब्रूटस तुम ही तुम हर तरफ़ !My Profile

  17. बहुत जानकारीप्रद लेख ..
    पर स्‍मार्ट फोन साथ रहने पर भी हर कोई स्‍मार्ट नहीं हो सकते …

    1. बी एस पाबला

      .Approve

  18. सुशील बाकलीवाल

    गजब उपयोग दर्शाए साहेबजी आपने एन्डायड मोबाईल स्मार्ट फोन के । अपने राम तो अपने एन्ड्राई़ड फोन से इसका 12% 15% उपयोग भी मुश्किल से ले पाते हैं । अब कोशिश करेंगे कि आपकी इस जानकारी से अपने मोबाईल की उपयोगिता थोडी और बढाई जा सके ।

    1. बी एस पाबला

      Yes-Sir..

  19. फोन भी कहता होगा कहाँ फँस गया पाबला जी के पास।

    बहुत बढ़िया जानकारी।
    टिप्पणीकर्ता ePandit ने हाल ही में लिखा है: नैक्सस ७ टैबलेट भारत में आधिकारिक रूप से जारी, प्रीबुकिंग शुरु @₹१६,०००My Profile

    1. बी एस पाबला

      Overjoy

  20. pbchaturvedi

    बहुत अच्छी प्रस्तुति….बहुत बहुत बधाई…

    @मेरी बेटी शाम्भवी का कविता-पाठ

    1. बी एस पाबला

      THANK-YOU:

  21. बढिया जानकारी….
    काफी समय से एंड्राइड फोन उपयोग कर रहा हू, पर कई जानकारी मिली…

    आभार…..

    1. बी एस पाबला

      THANK-YOU..

  22. पूरा लेख पढ़ लेने पर याद आया आपका यह वाक्‍य- ”मशीनों को, तकनीक को इतना इस्तेमाल ना किया जाए कि…”

    1. बी एस पाबला

      Pleasure.

  23. बाप रे …
    इत्ती नोलिज सरदार की ?? 🙂
    जरूर कोई सेक्रेटरी रखी होगी !
    टिप्पणीकर्ता सतीश सक्सेना ने हाल ही में लिखा है: इतने भी मगरूर न हों, सम्मान न दें , इन प्यारों को -सतीश सक्सेनाMy Profile

    1. बी एस पाबला

      Please
      आना तो कई चाहती हैं

  24. अंकल,

    मैंने काफी बार गूगल पर छपे अनेक ऐसे पोस्ट्स देखे है जिसके टाइटल- “बेस्ट एंड्राइड अप्प्स” “मस्ट हैवे अप्प्स फॉर योर एंड्राइड” होते है.

    सही मायने में उन्हें पढने का कोई मतलब नहीं निकलता.

    आपका यह पोस्ट पढ़ कर न सिर्फ मज़ा आया बल्कि कुछ २-४ अप्प्स मैंने इनस्टॉल भी कर लिए, जो की वाकई बहुत सहायक है.

    1. बी एस पाबला

      :THANK-YOU

  25. bhanu pratap

    में अपने फ़ोन को रूट करना चाहता हु। कृपा करके इसके फायदे और नुकसान बताए। और केसे करे ये भी। तो आपकी बड़ी मेहरबानी होगी। प्लीज सर

  26. vinod saini

    मेरा मोबाइ्रल् सेम्‍सग जीटी 18262 है उसको रूट किया है काफी दिनो से यूज कर रहा हॅ पर एक परेषानी हे ज‍ब हम जीमेल से एमएसवर्ड फाईल जाे कि हिन्‍दी फोन्‍ट कुर्ति देव 10 मे लिखी होती है उसको जब एन्‍ड्रायड फोन मे डाउनलोड करके आपन करते है तो उसमे हिन्‍दी फोन्‍ट दिखाई नही देता है मैने रूट एक्‍सप्‍लोरर द्वारा सिस्‍टम एप्‍प मे हिन्‍दी फान्‍ट भी इस्‍टाल किया परन्‍तु कोई फायदा नही हुआ इस बारे मे जानकारी देवे

  27. बहुत सुन्दर आलेख …पाबला जी साधुवाद

    1. बी एस पाबला

      THANK-YOU
      शुक्रिया विनोद जी

  28. ज़माने के साथ चलने के लिए नै तकनीकिा तो अपनानी ही पार्टी है.

Leave a Comment


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons