गूगल एडसेंस (Google Adsense) से होने वाली बीमारी और उसका इलाज़

इन्टरनेट से आमदनी की जब बात होती है तो सबसे मशहूर है गूगल एडसेंस (Google Adsense)। इसके बारे में कोई बात करने से पहले मैं एक बात बता देना चाहता हूँ। गूगल एडसेंस (Google Adsense) में सफल व्यक्ति के बारे में एक चिंताजनक बात सामने आई है कि उसे एक बीमारी जकड़ लेती है। उस बीमारी को संक्षेप में जीएडी GAD (Google Adsense Disorder) कहा जाता है। इस बीमारी में होता यह है कि गूगल एडसेंस धारी व्यक्ति थोड़ी-थोड़ी देर बाद अपना खाते की जांच करता रहता है, रिफ्रेश करता है कि आमदनी बढ़ी कि नहीं, क्लिक्स clicks बढे या नहीं? ये क्रिया इतनी बढ़ जाती है कि बंदे की भूख प्यास मर जाती है, उसे कंप्यूटर के सामने बैठे बस इतना ही ख्याल रहता है कि मेरे पैसे कितने बढ़े, देखूं क्या!

तकनीक के इस युग में इसका इलाज़ भी तुंरत खोज निकाला गया। इस इलाज़ के लिए ज़रूरी है कि आप इंटरनेट का उपयोग करते समय फायर फॉक्स का इस्तेमाल करें। उसका नतीज़ा यह होगा कि आप अपना काम करते हुए, कभी भी एक निगाह अपने गूगल एडसेंस (Google Adsense) के एकाऊँट पर डाल सकते हैं। बार बार गूगल एडसेंस (Google Adsense) का लॉगिन पेज खोलकर, आईडी पासवर्ड डालकर, रिफ्रेश refresh करते रहने से ये सुविधा ज़्यादा बेहतर है।

कहा जाता है कि इलाज से परहेज अच्छा! तो क्यों न एक सफल गूगल एडसेंस (Google Adsense) धारक होने के नाते या बनने की ओर अग्रसर होने के नाते, बार-बार गूगल एडसेंस (Google Adsense) का पेज खोलकर जाँच करते रहने से परहेज किया जाये। इस मर्ज़ की दवा का नाम है Adsense Notifier . इसके लिए इंटरनेट पर फायर फॉक्स का इस्तेमाल करते हुए यहाँ क्लिक करें

हो
सकता है कि फायर फॉक्स आपको चेतावनी दे कि एक सॉफ्टवेयर स्थापित (Software Installation) होने से रोका जा रहा है। उसे अनुमति दें।जो आयत सामने आये उसमें Install Now पर क्लिक करें।

चुटकियों में ही इंस्टालेशन खतम हो जायेगा।

फायर फॉक्स, रिस्टार्ट होना चाहेगा, कीजिए।

फायर फॉक्स चलते ही एक बड़ा सा आयत आयेगा। उसमें ऊपर अपने एडसेंस खाते का यूज़र आईडी व पासवर्ड डालिये। दो अपडेट के बीच का अंतराल बताईये। फायर फॉक्स के स्टेटस बार के आईकॉन पर माऊस की गतिविधि बताईये। किस अवधि की रिपोर्ट दिखे, बताईये। क्या क्या दिखे, यह बताईये। और फिर OK पर क्लिक कर दें।

कुछ सेकेंड्स में ही आपका मनचाहा पूरा डाटा वहाँ दिखने लगेगा।

आज नहीं तो कल यह आपके साथ होना ही था। लेकिन कर लिया ना आपने Google Adsense Disorder नाम की बीमारी के कारण का इलाज़?



गूगल एडसेंस (Google Adsense) से होने वाली बीमारी और उसका इलाज़
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

Related posts

4 Thoughts to “गूगल एडसेंस (Google Adsense) से होने वाली बीमारी और उसका इलाज़”

  1. संगीता पुरी

    अभी हिन्‍दी ब्‍लागरों के खाते की वह स्थिति नहीं कि उन्‍हें यह रोग हो .. जब होनेवाली स्थिति होगी .. आपके सुझाव पर अमल किया जाएगा .. जानकारी के लिए धन्‍यवाद।

  2. Anil

    उपयोगी आलेख। जानकर खुशी हुयी कि आप Adsense से पैसे बना पा रहे हैं।

    लेकिन मेरा एडसेंस खाता बहुत पहले ही अस्वीकर कर दिया गया था, क्योंकि मैंने अपने ही एड पर दो क्लिक कर दिये थे। उसके बाद मैंने अपने ब्लाग को पूरी तरह से विज्ञापनरहित रखने का फैसला लिया था, और आज भी उस पर कायम हूँ!

  3. भुवनेश शर्मा

    शुक्र है हमें अभी इस दवा की जरूरत नहीं है…आपसे एक गुजारिश है कि आपके इस ब्‍लॉग पर जो एड दिख रहे हैं उनका राज क्‍या है…क्‍या ये गूगल एड हैं….और यदि नहीं हैं तो क्‍या गूगल के अलाव दूसरे प्रोग्राम्‍स से कमाई की जा सकती है और वे कितने सफल हैं…साथ ही इनसे कहीं गूगल एडसेंस के नियमों का उल्‍लंघन तो नहीं होता

  4. badhiya janakri
    टिप्पणीकर्ता रतन सिंह शेखावत ने हाल ही में लिखा है: वर्डप्रेस ब्लॉग में पोस्ट लिखनाMy Profile

Leave a Comment

टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)

[+] Zaazu Emoticons