गूगल एडसेंस ने हिंदी ब्लॉगों को सलाह देनी शुरू की!!

पिछले दिनों जब मुझे अपने ई-मेल इनबॉक्स में गूगल एडसेंस की ओर से आई ईमेल दिखी तो दिल की धड़कन बढ़ गई! कहीं मेरा खाता तो बंद नहीं कर दिया गूगल ने?

लेकिन जब शीर्षक दिखा तो चौंका। आम तौर पर गूगल की ऐसी सलाह देती मेल उन्हें ही मिलती है जिस पर गूगल के विज्ञापन सक्रिय रहते हैं और उनसे आमदनी भी होती है।

शीर्षक था Earn more from your Blog with AdSense और अंग्रेजी में कहा गया था कि प्रिय ब्लॉगर, हम कुछ सरल और सिद्ध सुझाव आप से साझा करने के लिए संपर्क कर रहे हैं जिससे आपको अपने ब्लॉग से एडसेंस आय को अधिकतम करने में मदद मिलेगी।

इसके बाद कुछ सलाहें थी जिसे ब्लॉग विशेष का विश्लेषण कर बताया गया था कि किस आकार का विज्ञापन कहाँ लगाया जाए आदि आदि।

इस तरह की सलाहें, गूगल एडसेंस टीम की ओर से पहले भी मिलती रही हैं किन्तु अंग्रेजी के ब्लॉग या वेबसाईट्स के लिए। इस बार गूगल की टीम ने हिन्दी ब्लॉग के लिए ऐसी सलाह दे मुझे हैरत में डाल दिया है।

क्या कारण हो सकता है? क्या आपको भी ऐसी कोई मेल मिली?
गूगल एडसेंस ने हिंदी ब्लॉगों को सलाह देनी शुरू की!!
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

मेरी वेबसाइट से कुछ और ...

गूगल एडसेंस ने हिंदी ब्लॉगों को सलाह देनी शुरू की!!” पर 20 टिप्पणियाँ

  1. हाँ! मेरे पास तो बाय पोस्ट लेटर आया है… आपसे बताया भी तो था…

  2. लगता है हिन्दी एडसेंस फ़िर शुरु होने वाला है।

    बधाई

  3. पहले कमाई कर के तो देखे….. मेरे पास भी आया था, मेने डिलीट कर दिया, क्योकि कोन आप की एड देखेगा? हम कितनी देखते है?

  4. पाबला जी नमस्कार, अपने पास इस तरह का इमेल अगर आता भी होगा तो इंतजार कर के चला जाता होगा | पहले तो ईमेलों को चैक करने का समय कम,फिर अपनी समझ में वैसे ही इंग्लिश बहुत कम आती है | बस आपसे ही जानकारी मिल जाती है | इसके लिए आपका धन्यवाद |
    इमेल से एस एम् एस भेजने का तरीका हो तो कुछ जानकारी दीजिये, बहुत आभारी होऊंगा | धन्यवाद |

  5. आपका ब्लॉग बहुत अच्छा लगा. हिंदी में ऐसी जानकारी का अभाव है. इसे आप पूरा कर अच्छा काम कर रहे हैं. धन्यवाद.

  6. लीगल सैल से मिले वकील की मैंने अपनी शिकायत उच्चस्तर के अधिकारीयों के पास भेज तो दी हैं. अब बस देखना हैं कि-वो खुद कितने बड़े ईमानदार है और अब मेरी शिकायत उनकी ईमानदारी पर ही एक प्रश्नचिन्ह है

    मैंने दिल्ली पुलिस के कमिश्नर श्री बी.के. गुप्ता जी को एक पत्र कल ही लिखकर भेजा है कि-दोषी को सजा हो और निर्दोष शोषित न हो. दिल्ली पुलिस विभाग में फैली अव्यवस्था मैं सुधार करें

    कदम-कदम पर भ्रष्टाचार ने अब मेरी जीने की इच्छा खत्म कर दी है.. माननीय राष्ट्रपति जी मुझे इच्छा मृत्यु प्रदान करके कृतार्थ करें मैंने जो भी कदम उठाया है. वो सब मज़बूरी मैं लिया गया निर्णय है. हो सकता कुछ लोगों को यह पसंद न आये लेकिन जिस पर बीत रही होती हैं उसको ही पता होता है कि किस पीड़ा से गुजर रहा है.

    मेरी पत्नी और सुसराल वालों ने महिलाओं के हितों के लिए बनाये कानूनों का दुरपयोग करते हुए मेरे ऊपर फर्जी केस दर्ज करवा दिए..मैंने पत्नी की जो मानसिक यातनाएं भुगती हैं थोड़ी बहुत पूंजी अपने कार्यों के माध्यम जमा की थी.सभी कार्य बंद होने के, बिमारियों की दवाइयों में और केसों की भागदौड़ में खर्च होने के कारण आज स्थिति यह है कि-पत्रकार हूँ इसलिए भीख भी नहीं मांग सकता हूँ और अपना ज़मीर व ईमान बेच नहीं सकता हूँ.

  7. मेरा बिना पानी पिए आज का उपवास है आप भी जाने क्यों मैंने यह व्रत किया है.

    दिल्ली पुलिस का कोई खाकी वर्दी वाला मेरे मृतक शरीर को न छूने की कोशिश भी न करें. मैं नहीं मानता कि-तुम मेरे मृतक शरीर को छूने के भी लायक हो.आप भी उपरोक्त पत्र पढ़कर जाने की क्यों नहीं हैं पुलिस के अधिकारी मेरे मृतक शरीर को छूने के लायक?

    मैं आपसे पत्र के माध्यम से वादा करता हूँ की अगर न्याय प्रक्रिया मेरा साथ देती है तब कम से कम 551लाख रूपये का राजस्व का सरकार को फायदा करवा सकता हूँ. मुझे किसी प्रकार का कोई ईनाम भी नहीं चाहिए.ऐसा ही एक पत्र दिल्ली के उच्च न्यायालय में लिखकर भेजा है. ज्यादा पढ़ने के लिए किल्क करके पढ़ें. मैं खाली हाथ आया और खाली हाथ लौट जाऊँगा.

    मैंने अपनी पत्नी व उसके परिजनों के साथ ही दिल्ली पुलिस और न्याय व्यवस्था के अत्याचारों के विरोध में 20 मई 2011 से अन्न का त्याग किया हुआ है और 20 जून 2011 से केवल जल पीकर 28 जुलाई तक जैन धर्म की तपस्या करूँगा.जिसके कारण मोबाईल और लैंडलाइन फोन भी बंद रहेंगे. 23 जून से मौन व्रत भी शुरू होगा. आप दुआ करें कि-मेरी तपस्या पूरी हो

  8. मैंने मेरी जिंदगी में पहली बार किसी ब्लाग पर टिपण्णी की है क्यों की मैंने ब्लाग ही पहली बार पढ़ा है वो भी आपका बी.एस.पाबला साहब . यह मेरी ज़िन्दगी में इंटरनेट पर कुछ भी लिखने की शुरुआत है आज गणेश चतुर्थी के शुभ अवसर यह शुभारम्भ मेरे प्रथम प्रेरणा पुरुष श्री बी.एस.पाबला साहब को सादर समर्पित आपको मेरी और से प्रणाम
    सत्यनारायण यादव
    सोमानियों की पोल , बड़ा बाज़ार
    गोविन्दगढ़ तहसील पीसांगन
    जिला अजयमेरु राजस्थान

    • Weary
      मुझे बेहद अफ़सोस है इतनी देर बाद ज़वाब देने के लिए
      दरअसल जब आपकी टिप्पणी आई तब मैं अपने युवा बेटे को खो देने पर बेहद अवसाद के क्षणों से गुजर रहा था, फिर इधर ध्यान ही नहीं गया

      आभार आपका जो आपने इतना मान दिया
      स्नेह बनाए रखियेगा

  9. मैने अभी जुलाई में हिंदी ब्लॉगिंग शुरू कि है…आप ने जो ये ऐड सेन्स के बारे में जानकारी दी उसके लिए शुक्रिया… पर एक प्रश्न ह मैने सुना ह कि absence हिंदी ब्लॉग को सपोर्ट नहीं कर रहा है,…
    इस के बारे में मुझे कुछ जानकारी देने कि कृपा करे.
    http://prathamprayaas.blogspot.com
    टिप्पणीकर्ता richa ने हाल ही में लिखा है: Great Beneficence ( Ishwarchandra Vidya Sagar- A motivational Story in Hindi)/उपकारMy Profile

    • Weary
      हिंदी ब्लॉग को समर्थन तो है एडसेंस का
      लेकिन नए खातों के लिए हिंदी ब्लॉग/ वेबसाईट्स मान्य नहीं

      बेहतर हो कि अंग्रेजी के लिए खाता बनाया जाए और फिर हिंदी में प्रयोग कर लिया जाए, गूगल को भी कोई आपत्ति नहीं है ऐसे में

  10. सर,,, अच्छी जानकारी दी आपने, क्या आप “गूगल एडसेंस में हिंदी ब्लॉगर खाता (अकाउंट) कैसे बनाये”? इस पर एक विस्तारपूर्वक पोस्ट लिख सकते हैं?? हम हिंदी ब्लॉगरों को इससे बहुत मदद मिलेगी।। आभार।

  11. hi, sir मुझे यह जानना है की गूगल एडसेन्स से मेरे बैंक अकाउंट मे पैसा कैसे आएगा

    • Smile
      आपके द्वारा दिए गए डाक पते पर गूगल द्वारा जारी किया हुया चेक आयेगा भारतीय मुद्रा का
      जिसे आप अपने नाम वाले किसी भी खाते में जमा करवा सकते हैं

  12. पाब्ला जी नमस्कार
    पाबला जी कोई उपाय हमें भी बताओ की थोड़ी बहुत ऐड हमें भी मिलनी शुरू हो जाए कुछ सलाह दो

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons