ड्राइवर को कार बतायेगी , आगे खतरा है

अभी कुछ समय पहले ही एक वैज्ञानिक भविष्यवाणी की गयी थी कि सन 2050 तक कार के स्टेयरिंग पर हाथ रखना और एक्सीलेटर पर पाँव रखना गैरकानूनी होगा।

लगता है यह भविष्यवाणी कुछ पहले ही सच साबित हो जायेगी, क्योंकि वाहन और सड़क सुरक्षा के लिए यूरोपीय संघ के अनुदान से एक बहुत बड़ा प्रोजेक्ट चलरहा है। इसके तहत एक ऎसी प्रणाली विकसित की जा रही है, जिससे Satellite navigation map के जरिए कार, ड्राइवर को सड़क के खतरों से आगाह किया जा सकेगा।

उपग्रह मानचित्र के जरिए कार चला रहे शख्स को सड़क पर मौजूद तीखे मोड़, गड्ढों और दूसरी ऐसी चीजों की पहले ही जानकारी मिल सकेगी, जिनसे दुर्घटना की आशंका को टाला जा सके।इतना ही नहीं इस प्रणाली के भौगोलिक डेटा बेस को ड्राइवर खुद अपडेट भी कर सकेंगे।


आईये अब देखें कि कैसे इस प्रणाली से गाड़ी चलाते वक्त मदद मिल पाएगी। जब किसी अनजान सड़क से गुजरते हुए रास्ते की जानकारी के लिए आप उपग्रह मार्गदर्शन का इस्तेमाल कर रहे होंगे, तब आपकी कार में मौजूद चतुर तकनीक, इलाके की भौगोलिक स्थिति के बारे में आपको जानकारी दे रही होगी। वह आपको सड़क पर आने वाले घुमाव और चौराहों के बारे में भी बता रही होगी। ‘प्रिवेंट’ नामक यह सिस्टम दुर्घटना की आशंका वाले स्थानों और सड़कों के अलावा और भी कई तरह की जानकारियों से लैस होगा। कार के बेतार संचार के जरिए यह आसपास के दूसरे वाहनों से भी संपर्क कर सकता है।

इस प्रोजेक्ट के समन्वयक मैथिएस शुल्ज के मुताबिक- इसमें सड़क पर पैदा होने वाले बहुत से हालात का विश्लेषण किया गया है। गाड़ी के आसपास के स्थानों के बारे में इससे बहुत काम की जानकारियां मिलेंगी। दरअसल ‘प्रिवेंट’ को विकसित करने के लिए दर्जनों सब-प्रोजेक्ट्स की मदद ली जा रही है। इनमें हर सब-प्रोजेक्ट सड़क सुरक्षा के किसी खास मुद्दे से जुड़ा है। इनसे एक-दूसरे को सूचनाएं और मदद मिल रही है। मसलन एक सब-प्रोजेक्ट का नाम MAPS & ADAS है। इसके तहत सुरक्षा को बढ़ाने वाले डिजिटल नक्शों की जांच की जाती है। इसके तहत एडीएएस (Advance Driving Assistant System) के लिए मानक भी तय किए जा रहे हैं।

इंटरसेफ नामक सब-प्रोजेक्ट में वाहन चालन के दौरान सुरक्षित राह तय करने के लिए सेंसर का इस्तेमाल किया जा रहा है। Wireless Alert System के साथ नई ट्रैफिक लाइटें विकसित की जा रही है। इससे रेड लाइट आने से पहले ही ड्राइवर सचेत हो जाएगा। शुल्ज ने कहा कि अभी यह प्रणाली पूरी तरह विकसित नहीं हुयी है, लेकिन इसके लिए जरूरी खाका तैयार कर लिया गया है। जरूरी ढांचा तैयार होते ही उसे नए सिस्टम से जोड़ा जा सकता है।

कुछ अधिक जानकारी आप यहाँ पा सकते हैं।

ड्राइवर को कार बतायेगी , आगे खतरा है
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

Related posts

7 Thoughts to “ड्राइवर को कार बतायेगी , आगे खतरा है”

  1. अतुल

    चलेगी तो देखेंगे.

  2. indu puri

    ये बेहद खुशी की बात है.तब शायद दुर्घटनाओं के कारण यूँ घर उजड़ेंगे.
    पर…..इतनी देर बाद ये टेक्नोलोजी आएगी.तब तक जाने कितने..?????
    मैं इसीलिए हजारों साल तक जीना चाहती हूँ और देखना चाहती हूँ विज्ञान कहाँ तक पहुँचता है और मानवीय रिश्ते भी.
    शायद तब शुक्र से बुलावा आये या मंगल से 'नानी! इस बार छुट्टियों पर यहीं आ जाओ ना अपने एक हजार नाती पोतों सहित. बस मंगल के मेप को खोल कर उसके सामने देखना राईट साइड में चौथे नम्बर का बंगला मेरा है. हाँ उसके सामने खड़े हो जाओ बस १००-१०० व्यक्ति और माउस को क्लिक करो मैं बाहर ही खड़ा हूँ.मिल जाऊंगा आपको. पर….अपनी छड़ी मत लाना यहाँ आ कर आप फिर अठारह साल की हो जायेंगी और गोस्वामीजी बीस के.
    हा हा हा

  3. indu puri

    ये बेहद खुशी की बात है.तब शायद दुर्घटनाओं के कारण यूँ घर उजड़ेंगे.
    पर…..इतनी देर बाद ये टेक्नोलोजी आएगी.तब तक जाने कितने..?????
    मैं इसीलिए हजारों साल तक जीना चाहती हूँ और देखना चाहती हूँ विज्ञान कहाँ तक पहुँचता है और मानवीय रिश्ते भी.
    शायद तब शुक्र से बुलावा आये या मंगल से 'नानी! इस बार छुट्टियों पर यहीं आ जाओ ना अपने एक हजार नाती पोतों सहित. बस मंगल के मेप को खोल कर उसके सामने देखना राईट साइड में चौथे नम्बर का बंगला मेरा है. हाँ उसके सामने खड़े हो जाओ बस १००-१०० व्यक्ति और माउस को क्लिक करो मैं बाहर ही खड़ा हूँ.मिल जाऊंगा आपको. पर….अपनी छड़ी मत लाना यहाँ आ कर आप फिर अठारह साल की हो जायेंगी और गोस्वामीजी बीस के.
    हा हा हा

  4. indu puri

    ये बेहद खुशी की बात है.तब शायद दुर्घटनाओं के कारण यूँ घर उजड़ेंगे.
    पर…..इतनी देर बाद ये टेक्नोलोजी आएगी.तब तक जाने कितने..?????
    मैं इसीलिए हजारों साल तक जीना चाहती हूँ और देखना चाहती हूँ विज्ञान कहाँ तक पहुँचता है और मानवीय रिश्ते भी.
    शायद तब शुक्र से बुलावा आये या मंगल से 'नानी! इस बार छुट्टियों पर यहीं आ जाओ ना अपने एक हजार नाती पोतों सहित. बस मंगल के मेप को खोल कर उसके सामने देखना राईट साइड में चौथे नम्बर का बंगला मेरा है. हाँ उसके सामने खड़े हो जाओ बस १००-१०० व्यक्ति और माउस को क्लिक करो मैं बाहर ही खड़ा हूँ.मिल जाऊंगा आपको. पर….अपनी छड़ी मत लाना यहाँ आ कर आप फिर अठारह साल की हो जायेंगी और गोस्वामीजी बीस के.
    हा हा हा

  5. indu puri

    ये बेहद खुशी की बात है.तब शायद दुर्घटनाओं के कारण यूँ घर उजड़ेंगे.
    पर…..इतनी देर बाद ये टेक्नोलोजी आएगी.तब तक जाने कितने..?????
    मैं इसीलिए हजारों साल तक जीना चाहती हूँ और देखना चाहती हूँ विज्ञान कहाँ तक पहुँचता है और मानवीय रिश्ते भी.
    शायद तब शुक्र से बुलावा आये या मंगल से 'नानी! इस बार छुट्टियों पर यहीं आ जाओ ना अपने एक हजार नाती पोतों सहित. बस मंगल के मेप को खोल कर उसके सामने देखना राईट साइड में चौथे नम्बर का बंगला मेरा है. हाँ उसके सामने खड़े हो जाओ बस १००-१०० व्यक्ति और माउस को क्लिक करो मैं बाहर ही खड़ा हूँ.मिल जाऊंगा आपको. पर….अपनी छड़ी मत लाना यहाँ आ कर आप फिर अठारह साल की हो जायेंगी और गोस्वामीजी बीस के.
    हा हा हा

  6. indu puri

    ये बेहद खुशी की बात है.तब शायद दुर्घटनाओं के कारण यूँ घर उजड़ेंगे.
    पर…..इतनी देर बाद ये टेक्नोलोजी आएगी.तब तक जाने कितने..?????
    मैं इसीलिए हजारों साल तक जीना चाहती हूँ और देखना चाहती हूँ विज्ञान कहाँ तक पहुँचता है और मानवीय रिश्ते भी.
    शायद तब शुक्र से बुलावा आये या मंगल से 'नानी! इस बार छुट्टियों पर यहीं आ जाओ ना अपने एक हजार नाती पोतों सहित. बस मंगल के मेप को खोल कर उसके सामने देखना राईट साइड में चौथे नम्बर का बंगला मेरा है. हाँ उसके सामने खड़े हो जाओ बस १००-१०० व्यक्ति और माउस को क्लिक करो मैं बाहर ही खड़ा हूँ.मिल जाऊंगा आपको. पर….अपनी छड़ी मत लाना यहाँ आ कर आप फिर अठारह साल की हो जायेंगी और गोस्वामीजी बीस के.
    हा हा हा

  7. indu puri

    ये बेहद खुशी की बात है.तब शायद दुर्घटनाओं के कारण यूँ घर उजड़ेंगे.
    पर…..इतनी देर बाद ये टेक्नोलोजी आएगी.तब तक जाने कितने..?????
    मैं इसीलिए हजारों साल तक जीना चाहती हूँ और देखना चाहती हूँ विज्ञान कहाँ तक पहुँचता है और मानवीय रिश्ते भी.
    शायद तब शुक्र से बुलावा आये या मंगल से 'नानी! इस बार छुट्टियों पर यहीं आ जाओ ना अपने एक हजार नाती पोतों सहित. बस मंगल के मेप को खोल कर उसके सामने देखना राईट साइड में चौथे नम्बर का बंगला मेरा है. हाँ उसके सामने खड़े हो जाओ बस १००-१०० व्यक्ति और माउस को क्लिक करो मैं बाहर ही खड़ा हूँ.मिल जाऊंगा आपको. पर….अपनी छड़ी मत लाना यहाँ आ कर आप फिर अठारह साल की हो जायेंगी और गोस्वामीजी बीस के.
    हा हा हा

Leave a Comment

टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)

[+] Zaazu Emoticons