ब्लॉगस्पॉट पर हिंदी लिखने की सुविधा समाप्त!?

आम तौर पर जब सुबह की चहलकदमी के लिए निकलता हूँ तो अपने सभी मोबाइल, कम्प्यूटर टेबल पर ही छोड़ जाता हूँ। आज सुबह जब मैक के साथ टहल कर लौटा और कुछ समय बाद कार्यालयीन कार्य के लिए मोबाइल उठाते ही नज़र पड़ी मिस्ड कॉल की संख्या 2 बताती सूचना पर, दूसरा मोबाइल भी सूचना दे रहा था कि 1 मिस्ड कॉल वहाँ भी है। वह कॉल थीं अरविंद मिश्रा जी की।

मैंने तुरंत ही वापस उन्हें कॉल किया। क्योंकि इतनी सुबह उनके द्वारा याद किया जाना मतलब कुछ गड़बड़ है। औपचारिक बातों के बाद उन्होंने अपनी उलझन बताई कि गूगल ब्लॉगस्पॉट पर पोस्ट लिखते समय हिंदी नहीं लिखी जा रही है और न ही ऊपर चिन्ह दिख रहा है भाषा चुनने के विकल्प का। मैंने झट से पूछ लिया कि गूगल क्रोम का प्रयोग कर रहे हैं ना? उनके हामी भरते ही कंधे उचकाते हुए सलाह दे डाली कि फायरफ़ॉक्स का प्रयोग करें, क्रोम में तो पहले से ही वह विकल्प नहीं दिखता और ना ही नए एडिटर में इसका आरंभ किया गया था। इस बारे में एक स्थान पर उल्लेख भी कर चुका हूँ।

transliteration button not functioning
उन्होंने तो ठीक है कह कर बात समाप्त की किन्तु मैंने दोपहर बाद देखा कि वाकई यह विकल्प गायब हो चुका है और किसी ब्राऊज़र मे उपलब्ध नहीं है। तब ख्याल आया कि कुछ साथियों ने ई-मेल द्वारा बताया भी था लेकिन मैंने ध्यान ही नहीं दिया इस बात पर। गूगल से पूछताछ किए जाने पर सूचना मिलती है कि:

We’ve temporarily disabled the transliteration feature until we sort out a few issues with the feature. Engineers are looking into this and hope to have the feature re-enabled shortly.

जब गूगल ने खुद ही यह सुविधा बंद कर दी है तो कोई क्या कर सकता है। इस बीच ब्लॉगस्पॉट के ड्राफ़्ट शैली का रंग रूप पूरी तरह से बदल दिया गया है और एक किनारे पर अनुवाद की सुविधा दिख रही है। हो सकता है कि जब हिंदी लेखन की सुविधा फिर शुरू हो तो सभी ब्राऊज़रों पर हिंदी लिखे जाने का यह विकल्प मिले। तब तक धैर्य तो रखना पड़ेगा ना!

आपका क्या कहना है?

लेख का मूल्यांकन करें

Related posts

16 Thoughts to “ब्लॉगस्पॉट पर हिंदी लिखने की सुविधा समाप्त!?”

  1. ब्लॉ.ललित शर्मा

    ये तो परसों से ही बंद है। लगता है गु्गल अब हिंदी सपोर्ट भी बंद कर सकता है।
    नया डेशबोर्ड फ़जीता करने वाला है। अब वेबसाईट पर जाना ही होगा 🙂

  2. दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi

    ललित जी बहुत जल्दी अपनी राय बना रहे हैं। मुझे तो नया डेशबोर्ड अधिक सुविधाजनक लगा। हाँ आदत पड़ने में दो-चार दिन लगेंगे।
    ट्रांसलिटरेशन वालों को परेशानी हो गई है। हम इन्स्क्रिप्ट वाले अच्छे हैं।

  3. Arvind Mishra

    oh!it is stretching too long!

  4. डॉ॰ मोनिका शर्मा

    Jankari ke liye Dhanywad….

  5. संगीता स्वरुप ( गीत )

    नए डैश बोर्ड पर हिंदी में लिखने की सुविधा समाप्त नहीं हुयी है … आप नयी पोस्ट जब डालें तो उसके लास्ट में एक लाल रंग का बटन है ..define/ translate उस पर जा कर आप सेटिंग कर सकते हैं … और हिंदी में लिखा जा सकता है ..

  6. Manish Kr. Khedawat

    tension ki kya baat hai ab to microsoft ne bhi hindi supporting softylaunch kar diya hai , jo ab tak ka most user friendly softy hai 🙂
    ek snap dekhiye neeche wali link pe ki ye kaise kaam karta hai 🙂

    http://i53.tinypic.com/4szf40.jpg

    ye softy windows ki kisi bhi application for ex. notepad , word , even directy in url bar mai hindi type kar sakta hai , wo bhi roman basis pe 🙂

    aasha hai aapko achha laga hoga !

  7. बी एस पाबला

    इससे पहले कि भ्रम उत्पन्न हो यह जान लें कि
    संगीता स्वरूप जी का कथन इस समय केवल (विभिन्न सुविधाओं के पहले जाँच करने के लिए बनाई गई ब्लॉगर प्रयोगशाला) draft.blogger.com कड़ी के लिए है ना कि पूर्ण रूप से समर्पित blogger.com के लिए।
    उस पर भी ध्यान दें कि वह लाल चिन्ह केवल तात्कालिक अनुवाद के लिए है न कि इससे पहले मिल रही लिप्यांतरण सुविधा के लिए

    मैंने क्लिक किया लिख कर
    kursii rakhii gaii hai kamre me
    तो क्लिक करने के बाद मिला
    kursii rakhii gaii है मुझे kamre
    लिप्यांतरण का परिणाम होना चाहिए
    कुर्सी रखी गई है कमरे में

  8. चंद्रमौलेश्वर प्रसाद

    हम तो बराह से काम चला रहे हैं 🙂

  9. बी एस पाबला

    @ चंद्रमौलेश्वर प्रसाद जी

    मुझे यह जानकारी दी गई थी कि बराह, विन्डोज़ 7 में धन की मांग करता है!

  10. योगेन्द्र पाल

    गूगल आई.एम.ई. का प्रयोग करें ब्लोगर

  11. vidhya

    ohhhhhh. ye kaya hogaya hai, mare to nukasan, muje kuch deno se takalef ho raha hai may google se kam karathi hu

  12. ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish')

    मेरे विचार में भी हिन्‍दी लिखने के लिए आई एम ई सबसे बेहतर तरीका है।

    ——
    TOP HINDI BLOGS !

  13. निशांत मिश्र - Nishant Mishra

    आखिर कोई इन्स्क्रिप्ट क्यों नहीं सीखता?

  14. डॉ. दलसिंगार यादव

    शार्टकट अपनाने वाले या शार्टकट की तलाश में रहने वालों को इसी प्रकार की कटिनइयों का सामना गाहे बगाहे करना पड़ता है। यदि हिंदी में काम करना है तो भाषा के साथ इसके प्रौद्योगिकी टूल को अपनाना चाहिए। बिना इसके काम करने में कई प्रकार की कठिनइयों का सामना करना पड़ता है। केवल हिंदी ट्रेडिशनल कीबोर्ड ही एक मात्र सुविधा जनक टूल है। सीखना भी आसान है।

    इसी हिंदी ट्रेडिशनल कीबोर्ड में संशोधन करके राजभाषा विकास परिषद ने एक नया कीबोर्ड विकसित किया है जिससे हिंदी भाषा की वर्णमाला के क्रम में ही टाइपिंग संभव है और विराम चिह्न तथा 1234567890!@#$%^*()-=+?.।/ की टाइपिंग अंग्रेज़ी मोड गए बिना ही संभव हो गई है। इतना ही नहीं इसे लोड करने के साथ ही विंडोज़ एक्सपी में यूनीकोड अपने आप ही सक्रिय हो जाता है। मैं इसका ही प्रयोग करता हूं। इसके बारे मैंने अपने ब्लॉग राजभाषा विकास परिषद में विस्तार से लिखा है।

    परंतु दुराग्रही लोग पुरानी असुविधा जनक तकनीक को छोड़ नयी तकनीक सीखना ही नहीं चाहते हैं।

    पाबला जी! आपकी पोस्ट मेरी जानकारी में आज ही आई है।

  15. अभी जारी है पर गु – मेल पर हिंदी और अन्य भाषाओ में नहीं लिख शकते.
    टिप्पणीकर्ता विरल त्रिवेदी ने हाल ही में लिखा है: वायब्रंट गुजरात – एक जलकMy Profile

    1. बी एस पाबला

      ऐसा नहीं है विरल जी

      जी मेल में हिन्दी सहित अन्य भाषाएँ बखूबी काम कर रही हैं

Leave a Comment

टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)

[+] Zaazu Emoticons