ब्लॉगस्पॉट बंद होगा!? गूगल आया पहाड़ के नीचे!!

ज़िंदगी के मेले

लीजिये! आपकी मेहनत पर फिर झाडू फेरने को तैयार हो गया है गूगल! 15 जनवरी 2012 से गूगल ने अपनी Google Code Search परियोजना, Google Labs site पर ताला लगा दिया, फिर Buzz सेवा बंद कर दी, Jaiku, iGoogle’s social features, University Research Program for Google Search भी बंद किया जा रहा 15 जनवरी से, अब नंबर आया है Knol का.

और हाँ! नवीन प्रकाश जी ने याद दिलाया कि Google Friend Connect भी बंद हो रहा 1 मार्च 2012 से. अरे वही Google Friend Connect जिसे हम सब फॉलोअर के नाम से जपते हैं और उस पर मित्रों की गिनती गिनते रहते हैं.

मुझे याद आता है कि Knol के दिनों में कई नामी ब्लॉगरों में अपनी लेखनी का कमाल दिखाने की होड़ लगी थी। वे अक्सर ही अन्य ब्लॉगरों को (हिंदी की स्मृद्धि के लिए) अपना ज्ञान Knol पर साझा करने की प्रेरणा देते भी देखे जाते थे। मुझे भी एक बार बुखार चढ़ा लेकिन मन के किसी कोने में यह बात घर कर गई कि कभी यह बंद हो गया ज्ञान की बात तो दूर रही,मेरे इस दिए गए समय का क्या होगा?

आज मुझे लग रहा कि मेरी शंका किसी ना किसी स्तर पर ठीक ही थी।

blogger bspabla wordpess

 

एक बात और रेखांकित करने वाली है कि 1 मई 2012 से गूगल ने Knol के लेखों को जिस नए Annotum मंच पर ले जाने की बात की है वह वर्डप्रेस आधारित है। अब इस प्रयास से गूगल खुद वर्डप्रेस पर खाता बनाने को कह रहा, ब्लॉगस्पॉट पर नहीं! गूगल के SEO विशेषज्ञ मैट कट्स वर्डप्रेस पर अपनी बात कहते हैं, अपनी वेबसाईट बना कर होस्टिंग के लिए प्रेरित किया जा रहा, Knol को वर्डप्रेस पर ले जाया जा रहा, टिप्पणियाँ गायब हो रहीं, ब्लॉग गायब होते जा रहे तो क्या उसका इरादा ब्लॉगस्पॉट बंद करने का है!?

अच्छा हुआ मैं बिना किसी चिंता के अपनी वेबसाईट पर, अपनी बातें, अपने साथियों के साथ, अपने विज्ञापनों के सहारे, अपनी पसंद के डिज़ायन से कह पाता हूँ। लिखा भी ही है मैंने कि गंभीर, स्थापित ब्लॉगर मुफ्त का मंच छोड़कर खुद की वेबसाईट पर क्यों चले जाते हैं?

आपका क्या इरादा है?

ब्लॉगस्पॉट बंद होगा!? गूगल आया पहाड़ के नीचे!!
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

मेरी वेबसाइट से कुछ और ...

45 thoughts on “ब्लॉगस्पॉट बंद होगा!? गूगल आया पहाड़ के नीचे!!

  1. पाबला जी क्यो डरा रहे हैं? ब्लोगर्स कहाँ जायेंगे फिर? सभी का दम निकल जायेगा………:):)………एक बात समझ नही आयी knol ही तो बंद कर रहा है ना बाकि ब्लोग्स तो बने रहेंगे ना तो फिर क्या मुश्किल आयेगी वो समझ नही आया।.

  2. हमने भी गूगल एप्स से अपने डोमेन का ओथोरैजेशन कोड मंगवा लिया है और Delighted way4host.com पर होस्ट कर वर्डप्रेस का इस्तेमाल करने की तैयारी कर ली है|

  3. आपका शीर्षक ही गलत है। गूगल कहां पहाड़ के नीचे आया? पोस्ट के अनुसार तो गूगल ही सभी ब्लॉगरों को पहाड़ के नीचे लाने की तैय्यारी कर रहा है!:-(,:-(,:-(……..

  4. अपने को तो जरा भी डर नहीं लग रहा है। अपनी खुद की होस्टिंग और वर्डप्रेस की इतनी सारी खूबियाँ जो अपने साथ हैं। “धान के देश में” वहीं ले जाएँगे।

  5. राजेन्द्र जी,
    ऐसा कोई पैमाना नहीं होता कि किसे मुफ्त के मंच पर रखा जाए और किसे भुगतान वाली सेवा में
    यह तो अपनी रुचि और क्षमता पर निर्भर है

    वेबसाईट पर केवल सर्वर और डोमेन का ही प्रति वर्ष 2000 -3000 /- निश्चित जानिए. अन्य सारी बातें अलग

  6. वैसे भी अगर गूगल कोई service बंद करता है, तो २ महीने पहले से warning mail आने लगती है…….जैसे की इन्हों ने googlepages को change किया था google sites में…

    और वैसे भी, ब्लॉग पर तो export का आप्शन रहता है न , जहाँ से आप किसी भी Atom supported वेबसाइट में import कर सकते हैं! है न?

  7. पाबलाजी, आपकी आशंका अपनी जगह, पर मेरे विचार में ब्‍लॉग स्‍पॉट अभी बंद नहीं होगा। गूगल की अभी तक जो सेवाएं बंद हुई हैं, वे लोकप्रियता के पैमाने पर खरी नहीं उतरी हैं। लेकिन ब्‍लॉग स्‍पॉट उनकी एक हिट साइट है, दुनिया की सबसे लोकप्रिय साइटों में शायद 8वें नम्‍बर पर है। ऐसे में अगर गूगल इसे बंद करता है, तब तो फिर हम यह भी कह सकते हैं कि जीमेल भी बंद हो सकती है।

      1. मैं तो एक आध बार ही गया होऊंगा बज्‍ज पर।

        क्‍या इसे लोकप्रियता का पैमाना मानेंगे? 🙂

  8. समय पर जानकारी देने के लिए शुक्रिया,पाबला जी.
    इस दुनिया में ज़िंदा रहने के लिए दो कदम आगे चलना होगा.
    टिप्पणीकर्ता vishal ने हाल ही में लिखा है: बात बेचारीMy Profile

  9. हालाँकि वर्डप्रेस पर जा चुके हैं। जल्द ही उधर ही रहने का विचार है। लेकिन इस तरह डराइए मत जी। तब तो जीमेल से भी डरना पड़ सकता है?
    टिप्पणीकर्ता चंदन कुमार मिश्र ने हाल ही में लिखा है: इस शहर में हर शख़्स परेशान-सा क्यों हैMy Profile

  10. आप ही की तरह मैंने भी खुद की वेबसाइट पर ब्लॉग बनाना बेहतर समझा. लेकिन फिर भी, ब्लागस्पाट पर न केवल हिंदी के अच्छे रचनाकार सक्रिय हैं, वरन अनेक “एग्रीगेटर” भी हैं, जिनसे सभी एक दुसरे से जुड़े हुए हैं. उम्मीद है कि ब्लागस्पाट बंद हो भी, तो गूगल कुछ अच्छा, सुविचारित, सुप्रबंधित 🙂 विकल्प दे.

    आज आपकी वेबसाइट मैंने पहली बार देखी है. मुझे आपकी डिज़ाइन, पोस्ट्स का ओर्गनाईज़ेशन आदि बहुत ही अच्छा लगा.
    टिप्पणीकर्ता अनूषा ने हाल ही में लिखा है: प्यारी बहना दुल्हन बनी हैMy Profile

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons