ब्लॉगिंग को अब पुन: समय, इस नए वर्ष में

अरे! अभी अभी तो हैप्पी न्यू ईयर 2009 कहा था और इतनी जल्दी हैप्पी न्यू ईयर 2010 कहना पड़ रहा है!! और दो दिन पहले ही तो 21वीं सदी का स्वागत किया था हैप्पी मिलेनियम कह कर। इस बार तो सच में लगता है कि समय बड़ी तेजी से बीत गया।

इस ब्लॉग जगत की बात की जाए तो नि:संदेह मेरे लिए ब्लॉगिंग का यह वर्ष बहुत आनंददायक रहा है। तमाम खट्टे मीठे अनुभव और नए मित्रों के साथ से जीवन के ढ़ंग, सोच व मानसिकता में उल्लेखनीय परिवर्तन महसूस किया है।

इस वर्ष की अपनी योजनाएँ हैं। गुजर चुके वर्ष के अंतिम माहों में परिवार के कुछ दुखद घटनाक्रमों के बाद एकाएक अपने कार्यस्थल में शिफ़्टों के बदले सामान्य ऑफिस समय में आ जाने के कारण ब्लॉग लेखन उत्तरोत्तर धीमा होता चला गया था। न तो नई पोस्ट्स अपनी गति से आ रहीं थीं और न ही मनमाफिक टिप्पणियाँ कर पाता था। साथियों की शिकायतें भी थीं इस बारे में।

किन्तु कल रात्रि मिले नए निर्देशों के अनुसार आज, 1 जनवरी से पुन: शिफ़्टों में कार्य करने का अवसर आ गया है। उम्मीद है सामाजिक-पारिवारिक-आजीविका की जिम्मेदारियों से बचे समय के बाद ब्लॉग लेखन में भी समय दे पाऊँगा।
आपके परिवार के वरिष्ठजनों सहित आप सभी शुभचिंतकों को, पाश्चात्य नववर्ष 2010 की शुभकामनाएँ
ब्लॉगिंग को अब पुन: समय, इस नए वर्ष में
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

Related posts

21 Thoughts to “ब्लॉगिंग को अब पुन: समय, इस नए वर्ष में”

  1. मथुरा कलौनी

    आप 2009 की परेशानियों से उबर जायें और
    नया साल आपके लिये सुख शांति और समृद्धि ले कर आये, इस शुभकामना के साथ
    मथुरा कलौनी

  2. अविनाश वाचस्पति

    भरपूर लगा रहे हैं पोस्‍टें

    इस पर टिप्‍पणियों से आतंक मचायें

    दस का दम

    टिप्‍पणी दमदार लगायें।
    हमें भी आप सदा

    अपने आसपास ही तैनात पायें।

  3. ललित शर्मा

    चीयर्स……………..2010

    HAPPY NEW YEAR

  4. जी.के. अवधिया

    "उम्मीद है सामाजिक-पारिवारिक-आजीविका की जिम्मेदारियों से बचे समय के बाद ब्लॉग लेखन में भी समय दे पाऊँगा।"

    सामाजिक-पारिवारिक-आजीविका की जिम्मेदारियाँ को प्राथमिकता देना आवश्यक है। ब्लॉग लेखन बाद में। आशा है कि कि नये वर्ष में आप लेखन के लिये अधिक समय निकाल पायेंगे।

    आप तथा आपके परिजनों के लिये नववर्ष मंगलमय हो!

  5. संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari

    नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये.

  6. राजकुमार ग्वालानी

    आप और आपके परिवार को नववर्ष की सादर बधाई
    नव वर्ष की नई सुबह

  7. हिमांशु । Himanshu

    आपकी प्रखर उपस्थिति से ब्लॉगजगत समृद्ध होगा ।
    नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें ।

  8. पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

    पाबला जी, अगर गिलासों में कोई शर्बत वगओरह है तो फिर तो हमारी ओर से भी "चीयर्स"….वर्ना फिर तो सूखे सूखे ही आपको सपरिवार नववर्ष की शुभकामनाऎँ दे देते हैं 🙂

  9. संगीता पुरी

    अच्‍छी खबर है .. आपके और आपके परिवार वालों के लिए भी नववर्ष मंगलमय हो !!

  10. डॉ टी एस दराल

    आपको और आपके समस्त परिवार को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें।

    सादर।
    डॉ दराल

  11. राज भाटिय़ा

    आप को ओर आप के परिवार को नववर्ष की बहुत बधाई एवं अनेक शुभकामनाए

  12. अजय कुमार झा

    हां सर मैं भी सोच ही रहा था कि रफ़्तार में कमा क्यों आ गई है । चलिए अच्छा है कि अब बदले हुए समय से हमे आप दोबारा मिल गए ॥

    नए साल के आगमन पर आपको एवं आपके परिवार को और साथ ही ब्लोग जगत के अपने इस परिवार को बहुत बहुत बधाई और शुभकामना

  13. Suman

    आप सब को भी सपरिवार नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाऎँ!!

  14. Mithilesh dubey

    आपको भी नव वर्ष की ढेरों शुभकामनाए!

  15. anitakumar

    नव वर्ष आप के लिए और आप के परिवार के लिए मंगलमय हो। भगवान करे आप हर महीने नये ब्लोग बनायें जैसा जन्मदिन का ब्लोग बनाया है। ज्यादा से ज्यादा लोगों की तकनीकी जानकारी देने में मदद करने का समय निकाल पायें और आप की शिफ़्टें पूरे साल बरकरार रहें

  16. डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर

    नये वर्ष की शुभकामनाओं सहित

    आपसे अपेक्षा है कि आप हिन्दी के प्रति अपना मोह नहीं त्यागेंगे और ब्लाग संसार में नित सार्थक लेखन के प्रति सचेत रहेंगे।

    अपने ब्लाग लेखन को विस्तार देने के साथ-साथ नये लोगों को भी ब्लाग लेखन के प्रति जागरूक कर हिन्दी सेवा में अपना योगदान दें।

    आपका लेखन हम सभी को और सार्थकता प्रदान करे, इसी आशा के साथ

    डा0 कुमारेन्द्र सिंह सेंगर

    जय-जय बुन्देलखण्ड

  17. अभिषेक ओझा

    नववर्ष की मंगलकामनायें ! बाकी अनिताजी ने जो कहा है वही हमारी भी कामना है.

  18. Arvind Mishra

    क्या बढियां संकल्प है -आईये साथ साथ रहें साथ साथ चलें …….

  19. राजू मिश्र

    ब्‍लागरों में असल जोश तो आप भरते हैं पाबला जी। नूतन वर्ष की शुभकामनाओं के साथ।

  20. शरद कोकास

    तभी पिछले माह सभी ब्लॉगर पाबला जी के लिये यह गीत गा रहे थे .." हाय हाय यह मजबूरी ब्लॉगिंग से यह दूरी ..हमे पल पल है तड़पाये तेरी दो टकिया दी नौकरी मे लाखों की ब्लॉगिंग जाये ..।
    चलिये नये साल में नई व्यवस्था मुबारक हो ।

Leave a Comment

टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)

[+] Zaazu Emoticons