भिलाई में हुई ब्लॉगर बैठक, दो नए ब्लॉगरों के साथ: चिट्ठाचर्चा डॉट कॉम की प्रगति पर भी चर्चा

मोबाईल की धुन बजी तो नाम चमकता दिखा नरेश सोनी! ठीक 6 बजे थे। वह समय जो तय किया गया था एक ब्लॉगर बैठक का। ‘मुझे मालूम था कि आप सबसे पहले पहुंचोगे’ मैंने हंसते हुए सोनी जी से कहा। आधे घंटे की मोहलत ली मैंने और कॉल खत्म होते ही संजीव तिवारी जी को संपर्क किया गया। पता चला कि वे बस पहुँचने ही वाले हैं तयशुदा स्थान, आकाशगंगा के इन्डियन कॉफी हॉउस में।

इस ब्लॉगर बैठक की योजना दो दिन पहले ही बनाई गई थी। कुछ मुद्दों पर बातचीत के अलावा मामला यह भी था कि पिछली बैठक के बाद अंतराल कुछ अधिक ही हो गया था बैठक में शामिल होने की सहमति देने वालों में मेरे अतिरिक्त संजीव तिवारी, नरेश सोनी, शरद कोकास, सूर्यकांत गुप्ता, राजेन्द्र ठाकुर, सतीश चौहान, डॉ सुधीर शर्मा थे।
बैठक की सूचना लीक हो जाने से ललित शर्मा ने भी आने की सूचना दे दी थी। अब मैं असमंजस में था क्योंकि बैठक थी दुर्गभिलाई के ब्लागरों के लिए और ललित जी आना चाह रहे थे। वे अकेले यदि आए तो बाक़ी साथी शिकायत करते, ना बुलाए जाने की इससे बेहतर है कि किसी और को भी बुला लिया जाए, यह सोच कर मैंने राजकुमार ग्वालानी जी से संपर्क किया। लेकिन वे कोंडागाँव के लिए निकल ही रहे थे, असमर्थता बता दी उन्होंने।
अब जो होगा देखा जाएगा, सोचते हुए जब मैं पहुंचा तो अन्धेरा हो ही रहा था. रविवार होने के कारण जबरदस्त भीडभाड़ थी। वैन पार्क करने के लिए नज़रें घुमाने ही लगा था कि सामने की जगह खाली होते दिखी। जब तक गाड़ी आगे बढ़ कर अपनी जगह जा कर रूकती, पीछे से एक चेरी लाल रंग की मारूति पास की ही खाली जगह पर आ लगी और जोरों की आवाज़ आई स्वागत है पाबला जी देखा तो शरद कोकास जी अपनी मनमोहक हँसी के साथ कार से निकल रहे हैं!
हम दोनों आगे बढे तो गेट पर ही इंतजार करते दिखे संजीव तिवारी व नरेश सोनी। बिना वक्त गवाएं, हम चल दिए कॉफ़ी हॉउस के अंदर, इस आशंका में कि पता नहीं बैठने की जगह मिलेगी या नहीं।
(नरेश सोनी)
सबसे पहले परिचय हुआ नरेश सोनी जी से। वे एक स्थानीय दैनिक समाचार-पत्र में सह-संपादक का दायित्व निभा रहे हैं। हालांकि कुछ समय से वे संपर्क में थे किन्तु रूबरू उसी दिन हो सके हम सबसे।

(सतीश चौहान)

अभी औपचारिक वार्तालाप शरू ही हुआ था कि सतीश चौहान जी हाय-हैलो करते हमारे हँसी-ठहाकों में शामिल हो गए। सुधीर शर्मा जी को फोन लगाया गया। नेटवर्क की दिक्कत ऎसी थी कि काफी समय तक प्रयास करने के बाद भी असफलता हाथ लगी। ललित शर्मा जी का फोन आ चुका था कि उनकी दोपहरिया नींद ही नहीं खुली!

इस बीच संजीव तिवारी ने राजेन्द्र ठाकुर जी से बात की तो उन्होंने प्रेस की किसी आकस्मिकता के कारण अपनी असमर्थता व्यक्त की। सूर्यकांत गुप्ता जी को पूछा जा चुका था कि कहाँ तक पहुंचे, जवाब मिला कि बस पांच मिनट और लगेंगे।

(सूर्यकांत गुप्ता)

शरद जी ने बाक़ी व्यक्तिओं के बारे में जिज्ञासा प्रकट की तो मैंने बताया कि बालकृष्ण अय्यर जी बैंगलौर में हैं और संजीव जी ने जानकारी दी कि बृजेन्द्र गुप्ता जी दिल्ली में हैं।

तब तक दक्षिण भारतीय हलके फुल्के नाश्ते का आर्डर दिया जा चुका था, साथ ही ब्लोगजगत की हलचलों पर विचारों का आदान-प्रदान भी गति पकड़ रहा था।

(हमारे नए साथी, सतीश चौहान नरेश सोनी)


शरद कोकास जी ने कैमरों के फ्लैश चमकते देख पुन: एक अच्छा सा कैमरा खरीदने की इच्छा जाहिर की तो हो-हल्ला करते हुए उन्हें बालकृष्ण जी के आने तक रूकने की मजाकिया सलाह दी गई। संजीव जी ने दुर्गभिलाई ब्लॉगर एसोशिएसन के गठन की जानकारी दी तथा वहीं इसके लेटर-हेड की साज-सज्जा को अंतिम रूप दे दिया गया।

(शरद कोकास द्वारा एकअच्छाकैमरा खरीदने की इच्छा पर मिल रही सलाहें)


नरेश सोनी जी को उत्सुकता थी कि मैं प्रिंट मीडिया वाले ब्लॉग के लिए रोजाना इतनी कतरने कैसे इकट्ठा कर पाता हूँ और फिर उन्हें व्यवस्थित कैसे रख पाता हूँ? उन्हें अपने ब्लॉग की रूप-रेखा हेतु कुछ आवश्यक बातें भी बताई गईं। सतीश चौहान जी ने भी कतिपय सलाहों पर अमल करने की सहमति जताई। उनका आग्रह था कि ऐसे मौकों पर एक लैपटॉप हो तो तुरतफुरत शंकाओं का समाधान हो जाना अच्छा रहेगा।

(अजय कुमार झा से बतियाते हुए शरद कोकास)


इसी बीच राजकुमार सोनी जी का फोन आ गया। जब उन्हें पता चला कि हम सब इकट्ठा हुए हैं तो पहले तो झूठी-मूठी नाराज़गी दिखाते हुए पूछा कि मुझे क्यों नहीं बुलाया गया, जबकि मैं भिलाई का रहने वाला हूँ? बाद में हंसते ह

भिलाई में हुई ब्लॉगर बैठक, दो नए ब्लॉगरों के साथ: चिट्ठाचर्चा डॉट कॉम की प्रगति पर भी चर्चा
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

Related posts

30 Thoughts to “भिलाई में हुई ब्लॉगर बैठक, दो नए ब्लॉगरों के साथ: चिट्ठाचर्चा डॉट कॉम की प्रगति पर भी चर्चा”

  1. मनोज कुमार

    @ आप भी बताइए, यह बैठक कैसी लगी आपको?
    बहुत अच्छी प्रस्तुति।

  2. डॉ टी एस दराल

    आनन फानन में ब्लोगर मिलन आयोजित कर लिया जी , बधाई।
    शरद जी की काली मूछों के बीच सफ़ेद दांत तो अँधेरे में भी चमक रहे हैं ।
    बढ़िया है, इसी तरह मिलते रहें ।
    सगोत्रीय विवाह पर अपने भी विचार रखें कृपया ।

  3. ललित शर्मा

    हम तो सुत भुलाए का करें,
    आदत से मजबूर हैं,
    शरद भैया की कुरती झकास हैं

    चिट्ठाचर्चा डॉट कॉम जल्द शुरु किया जाए।
    बैठकी के लिए हार्दिक बधाई
    नए ब्लागर सतीश चौहान जी और नरेश सोनी जी का स्वागत हैं।

  4. अजय कुमार झा

    वाह सर वाह , रात के अंधेरे में सितारे कैसे चमकते हैं एकदम अनुपम छटा लिए हुए ऐसी ही तस्वीरें आई हैं आप सबकी । बहुत बहुत बधाई आप सबको , इसलिए नहीं कि ब्लोग्गर्स मीट हुई बल्कि इसलिए कि इसी बहाने आप लोगों को एक दूसरे को गले लगाने का मौका तो मिला । हम भी जल्द ही पहुंच रहे हैं वहां , आप सबसे मिलने के लिए । तब तक इंतज़ार इंतज़ार …..

  5. अमिताभ मीत

    और मैं भिलाई छोड़कर कलकत्ता आ गया !!

  6. दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi

    प्रतिक्रिया सुझाव महीन फोंट और नीले रंग में और ओल्डर पोस्ट लाल चटख रंग में। हम प्रतिक्रिया के चक्कर में पुरानी पोस्ट पर जा पहुँचे।
    मीट अच्छा रहा। क्या खाया पिया गया ये भी तो बताते उस के बिना तो स्वाद ही जाता रहता है। मिलन होता रहे। इस से आपसी समझ बढ़ती है।

  7. राम त्यागी

    badiya kaam kar diya ye to aap logo ne

  8. Udan Tashtari

    ये सही फटाफट बैठकी रही..मजा आया जानकर.

  9. Anonymous

    आपका नया ब्लोग http://pcsuraksha.blogspot.com/ ब्लागवाणी पर क्यों नहीं आता

  10. चन्द्र कुमार सोनी

    बैठक बहुत अच्छी लगी.
    पर आपने ये तो बताया ही नहीं कि-"पैग-शैग लगाए या नहीं????"
    हा हा हाहा हा हा
    धन्यवाद.
    http://WWW.CHANDERKSONI.BLOGSPOT.COM

  11. शिवम् मिश्रा

    बहुत बढ़िया …………खूब जमा होगा रंग जब मिल बैठे चार यार !!

  12. राज भाटिय़ा

    बहुत सुंदर लगी जी आप की यह फ़टा फ़टी बेठकी, ओर सभी चित्र भी बहुत सुंदर

  13. Sanjeet Tripathi

    bahut badhiya, sabki photo itne acche se aai hai ki shandar.

    raipur me sirf gwalani jee, anya kisi ko nahi….? itne to blogger hai yar yahan… nai?
    gud hai jee

    😉

    khair, ye khabar badhiya mili ki durg bhilai blogger sangh ban ne ja raha hai. yah kaam tahseel star par bhi hona chhaiye tabhi aaj ke is E-jamane ka yatharth sahi mayno me saamne aayega. aaj hi dekha ki ek gaon se bhi ek blog chal raha hai, vakai ye ek acchi baat hai.

    baki dviwedi jee aur chandraprakash soni jee ki kahi gai baton ka ullekh hota to aur char chand lag jate….

  14. डॉ महेश सिन्हा

    बधाई हो इस आयोजन के लिए
    आजकल * प्रतिक्रियाओं का चलन आम हो रहा लगता है

  15. अविनाश वाचस्पति

    अरे भाई
    मुझे भी बुला लिया होता
    और
    शरद कोकास जी
    लगता है
    लिख रहे हैं रिपोर्ट
    जिसने दी होगी
    इस पोस्‍ट को सपोर्ट।

  16. इंदु पुरी गोस्वामी

    इतने ब्लोगर्स का एक स्थान पर मिलना ,लकी हैं आप लोग.
    नरेश सोनी जी को आपने उन्हें 'अपने ब्लॉग की रूप-रेखा हेतु कुछ आवश्यक बातें भी बताई' हमें भी बताइए .अपने ज्ञान को कुछ लोगोन तक सिमित नही रखिये. शरद कोकास जी ! अच्छा सा केमरा मुझे भी लेना है ,मुझे भी बताईयेगा .सोनी का हेन्दिकेम ,और दो केमरे हैं पर मुझे ऐसा कमरा चाहिए जिसमें मुझे दिमाग ना लगाना पड़े. मेरे हाथ में आते ही 'उसका' दिमाग काम करने लग जाये.
    हा हा हा
    सबके फोटोज अच्छे आये है भाई ब्लॉग-मीट में
    क्या क्या खाया वो तो बतायाईइच नही.शाणे !
    बाकि हम लिख देंगे चिन्ता ना करिये. समीर दादा का फोन आये तो उन्हें हमारा चरण स्पर्श कहियेगा.

  17. 'उदय'

    … जय जोहार …!!!

  18. 'उदय'

    …जय जय छत्तीसगढ !!!

  19. Udan Tashtari

    एक अपील:

    विवादकर्ता की कुछ मजबूरियाँ रही होंगी अतः उन्हें क्षमा करते हुए विवादों को नजर अंदाज कर निस्वार्थ हिन्दी की सेवा करते रहें, यही समय की मांग है.

    हिन्दी के प्रचार एवं प्रसार में आपका योगदान अनुकरणीय है, साधुवाद एवं अनेक शुभकामनाएँ.

    -समीर लाल ’समीर’

  20. डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक

    बहुत-बहुत बधाई!
    जानकारी देने के लिए आभार!

  21. राजकुमार सोनी

    पाबलाजी,
    सचमुच अच्छा माहौल रहा होगा। मैं ऐसे मौकों को कभी खोना नहीं चाहता हूं लेकिन क्या करूं। नए काम को लेकर कुछ जवाबदेही है जिसे ठीक ढंग से पूरा करना है। बाकी एक बात पूछनी थी-क्या काफी हाउस में सिर्फ चाय-काफी ही चली है न।

  22. डॉ महेश सिन्हा

    शक़ बहुत खतरनाक बीमारी है .
    इसका इलाज हकीम लुकमान के पास भी नहीं था

  23. girish pankaj

    mazaa aa gay, itane log eksath baithe aur pyar ke sath baithe. nirmal man valon ka samooh hi samaj mey sadbhavanaa kayam rakh sakataa hai. isi tarah ki baithaken karate rahe.

  24. ताऊ रामपुरिया

    बहुत शुभकामनाएं इस सफ़ल मीट के लिये.

    रामराम

  25. vinay

    अच्छा लगा आपका यह जीवन्त वर्णण ।

  26. जी.के. अवधिया

    बहुत बढ़िया रिपोर्टिंग रही पाबला जी!

    समय समय पर ऐसी ही मुलाकातें होती रहनी चाहिये।

  27. Mithilesh dubey

    बहुत बढ़िया , स्वागत है ।

  28. zeal

    Mujhe bhi bula lete…

  29. बी एस पाबला

    @ अमिताभ मीत

    आपको भिलाई आने से कोई रोकता है क्या?
    बांहें फैलाए आपका इंतज़ार हम कर रहे

  30. prashant

    भई हम भी भिलाई के बाशिंदे हैं , बडी मुश्किल से अपनों से जुडी कुछ खोजखबर लगी है । फुर्सत मिले तो हमें भी याद कर लिजियेगा । mishradabbu@gmail.com पर ।

Leave a Comment


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons