ए भाई, ज़रा देख के चलो

एक पारिवारिक कार्य के लिए इस बार जब सड़क मार्ग से पंजाब जाना हुआ तो मन:स्थिति सामान्य सी थी. पिता जी ने भी साथ चलने की सहमति दी थी और इस बार बिटिया थी मेरे साथ मारुति ईको में.

हमेशा की तरह मैं उसे गाड़ी चलाने के गुर, सड़कों पर सुरक्षा उपाय, ड्राइविंग दक्षता जैसी बारीकियां बताते चल रहा था.

एकाएक ही उसने मुझसे सड़क किनारे लगे अलग अलग आकारों वाले सड़क संकेत बोर्ड के बारे में कुछ पूछा तो मैंने एक एक बोर्ड दिखाते हुए अपना सारा अनुभव उड़ेल दिया.

शुरुआत मैंने इसी बात से की कि सारी दुनिया में सड़क किनारे लगे ट्रैफिक इंफो बोर्ड के लिए मूलत: तीन ही आकार हैं –

  1. चौकोन या आयताकार
  2. तिकोना
  3. गोल

यातायात संकेत (Traffic Sign) या सड़क संकेत (Road Sign) आवश्यक जानकारी प्रदान करने के लिए सड़कों के किनारे लगाए गए संकेतों को कहते हैं. सबसे पहले सड़क संकेत, मील के पत्थर (Milestones) के रूप में होते थे जो दूरी और दिशा की जानकारी देते थे. लेकिन अब कई देशों ने भाषाई अवरोधों को समझते हुए अंतरराष्ट्रीय यात्रा को सुविधाजनक बनाने, यातायात सुरक्षा को बढ़ाने में मदद के लिए सचित्र संकेतों को अपनाया है.

इस तरह के सचित्र संकेतों में शब्दों के स्थान पर चिन्हों का उपयोग किया जाता है और ये अधिकांश देशों द्वारा विभिन्न स्तरों पर अपनाए गए है.

साधारण जानकारी देते सड़क संकेत

info-trafficसबसे पहले बात हुई उन बोर्ड्स की जिनका आकार चौकोन या आयताकार होता है. चमकीले हरे रंग की पृष्ठभूमि में सफ़ेद अक्षरों से लिखे गए स्थानीय भाषा के शब्द, सड़क पर चलने वालों को कुछ सामान्य सी जानकारी देते हैं कि उस गाँव/ कस्बे/ शहर का नाम क्या है या अगले शहर की दूरी कितनी है और पेट्रोल पंप/ अस्पताल/ स्कूल/ रेस्टारेंट होने या अन्य तरह की सूचना भी दी जाती है.

अधिकतर यह सफ़ेद रंग से घिरे चमकीले हरे रंग की पृष्भूमि में सफ़ेद अक्षरों से लिखे मिलते हैं लेकिन कभी कभी पृष्ठभूमि का रंग नीला भी पाया जा सकता है. पहले यह सड़क के किनारे पाए जाते थे लेकिन अब यह इतनी ऊँचाई पर भी लगाए जाते हैं कि वह चालक को दूर से ही दिख जाएँ

इन पर ध्यान ना भी दिया जाए तो कोई हर्ज़ नहीं लेकिन स्थान, दूरी, सुविधाओं की सामान्य जानकारियाँ मिलते रहें तो दिक्कत क्या है! 🙂

सड़क संकेत जानकारी

चेतावनी देते सड़क संकेत

warning-trafficउसके बाद मैंने बिटिया को बताया कि लाल रंग से घिरे सफ़ेद पृष्ठभूमि में काले रंग के विभिन्न चिन्ह वाले ऊपरी तिकोने आकार के बोर्ड, वाहन चालक को चेतावनी देने का संकेत देते हैं. इन बोर्ड्स में शब्द नहीं होते.

यह सड़क किनारे इतनी ऊँचाई में लगाए जाते है कि वाहन चालक को नज़रें ऊपर नीचे करने की ज़रूरत ना हो.

इन चिन्हों के सहारे बताया जाता है कि आगे स्पीड ब्रेकर/ तंग पुलिया/ रेल्वे क्रासिंग/ स्कूल/ मोड़/ घाट की चढ़ाई आदि हैं.

यह चेतावनी देते हैं कि भई इन पर ध्यान दो. अगर अपनी चिंता नहीं है तो आगे पीछे के बाक़ी लोगों की तो फ़िक्र कर लो

सड़क संकेत चेतावनी

आदेश देते सड़क संकेत

सड़क संकेत आदेशात्मकतब तक बिटिया ने खुद ही पूछ लिया कि गोल आकार वाले बोर्ड्स का क्या मतलब होता है?

मैंने बताया कि लाल रंग से घिरे सफ़ेद पृष्ठभूमि में काले रंग के विभिन्न चिन्ह या अंक वाले गोल आकार के बोर्ड, वाहन चालक को मनाही के संकेत का पालन करने का आदेश देते हैं. जैसे कि हॉर्न बजाने की मनाही/ मुड़ने की मनाही/ गति सीमा बढाने की मनाही/ओवरटेकिंग की मनाही आदि

लेकिन पूरे के पूरे नीले रंग से रंगे गोल बोर्ड में दिए गए संकेत, चालक को आदेश देते हैं कि उन संकेतों का पालन किया जाए. जैसे कि हॉर्न बजाना/ सीधे चलते रहना आदि

इन बोर्ड्स का संकेत है कि भई मान लो बात, वरना जान से हाथ धोने की नौबत आ जाएगी

आदेशात्मक सड़क संकेत

आजकल एक अलग तरह का बोर्ड प्रचलन में आ गया है जो अधिकतर पुलिस बैरियर, टोल प्लाज़ा पर दिखता है.

सड़क संकेतअष्टकोणीय आकार के लाल रंग की पृष्भूमि को सफ़ेद रंग से घिरे इस सड़क संकेत का मतलब है कि उस स्थान पर बिना किसी के कहे आपको रूकना ही रूकना है फिर भले ही इशारा मिलने पर आप बढ़ जाएँ.

अक्सर इनमें STOP या रुकिए भी लिखा हुआ मिलता है

केवल आकार के आधार पर सड़क संकेत बोर्ड पर ध्यान देना अपनी ही सुरक्षा है. आने वाले समय में जो बिना ड्राईवर की कारें आने वाली हैं वह इन्ही सड़क संकेतों को समझते सेंस करते  हुए अपने आप को सुरक्षित और नियंत्रित करते हुए सफ़र करेंगी.

ये तो अंतर्राष्ट्रीय मानकों वाले सड़क संकेत बोर्ड्स की बात बताई मैंने. लेकिन स्थानीय तौर पर कई अलग अलग आकार और रंगों वाले बोर्ड भी दिख जाते है. ज़्यादातर सड़क संकेत बोर्ड्स में दिए गए चिन्हों को देख बड़ी आसानी से उनका आशय समझा जा सकता है.

अब क्या वह सारे सड़क संकेत एक एक कर  बताने की ज़रूरत है?

© बी एस पाबला

ए भाई, ज़रा देख के चलो
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

Related posts

11 Thoughts to “ए भाई, ज़रा देख के चलो”

  1. अति उत्तम जानकारी अब तो हमने भी सीख लिया

    1. बी एस पाबला

      Smile
      वाह विनोद जी
      बढ़िया

  2. हाँ ,बारी बारी उन्हें भी बताएं , मुझे गेम्स पीरियड में पढ़ाने में सुविधा होगी …..

    1. बी एस पाबला

      Heart
      जी, ज़रूर

      1. shiv kumar dewangan

        बहुत अच्छी अच्छी और ज्ञानवर्धक जानकारियों को सरल और सुबोध भाषा में प्रतुस्त करने के धन्यवाद स्वीकार करें.

  3. लिखमाराम ज्याणी

    अच्छी जानकारी, और भी बताईयेगा। आभारी

    1. बी एस पाबला

      Yes-Sir
      जी, ज़रूर

  4. हर बार की तरह हमारी जानकारी बढ़ाने के लिए आभार

  5. ललित कुमार verma

    पाबला जी, बहुत उपयोगी जानकारी आपने दी है खास तौर से स्कूल और कॉलेज जाने वाले बच्चों के लिए तो यह बहुत ही महत्वपूर्ण है ।

  6. aaj school jaate samay mobile par ye post dekhi. raaste me hi pdh bhi li aur prayer ke baad sbse pahle bchcho ko ye post bataai.

    unhe bahut pasand aai aur unki madam ko bhi 😛

    durghtanaao me mrne walon me sbse jyada sankhyaa naujwaan ldko ki hi hai. isliye unhe btana jruri lga. waise sbko jankari honi hi chahiye durghtnaao ka pramukh karan sirf traffic rules ki jankari n hona ya n maananaa hai.

    aapki post…….hmesha nai seekh deti hai.

  7. बी एस पाबला

    Heart
    वाह, मोगैंबो खुश हुआ

Leave a Comment

टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)

[+] Zaazu Emoticons