तुझसे नाराज़ नहीं ज़िंदगी, हैरान हूँ मैं

25 मई 1986 की उस आधी रात मैं अकेला उस सुनसान लॉबी में धड़कते दिल के साथ दीवार से सट कर खड़ा था जिसमे एक ऑपरेशन थियेटर के भीतर हमारे अंश से पनपी नई जिंदगियां

Read More

लखनऊ सम्मान समारोह: यादें याद आती हैं

पिछले वर्ष अप्रैल में जब परिकल्पना – नुक्कड़ सम्मान समारोह दिल्ली में हुआ तो रात्रिभोज में रवीन्द्र जी को कहा था कि अगली बार भी ज़रूर बुलाईएगा, भले ही कोई सम्मान -वम्मान ना दें लेकिन तारीख ज़रूर बता दें, हम पहुच जायेंगे खुद ही! तब से गाहे बगाहे उनसे कहता ही रहा इस बात को. इस वर्ष जब हमने अपना नाम गायब देखा सूची से तो एक संतोष की सांस ली. निंदकों की मिसाईल का निशाना बनने से बच जो गए थे 🙂 लेकिन बाद में एक मित्र द्वारा जो…

Read More

भोपाल मीडिया चौपाल में कुछ घंटे …

जुलाई के आखिरी दिनों में एक दोपहर Blogs In Media के संदर्भ में आवारा बंजारा संजीत त्रिपाठी जी ने बातचीत के मध्य ही बताया कि 12 अगस्त को वे भोपाल में रहेंगे तो मैं चौकन्ना हुआ. जिज्ञासा जाहिर हुई तो उन्होंने बताया कि भोपाल के विज्ञान भवन में मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद द्वारा आयोजित इस ‘राष्ट्रीय मीडिया चौपाल’ में बड़े बड़े पत्रकार रहेंगे, सीमित लोगों को ही बुलाया गया है. अपन मन मार के रह गए कि यह तो हमारे कार्यक्षेत्र के बाहर का कुछ है. लेकिन एक दिन…

Read More

सर्वेश फोटोवाली: संघर्ष, विद्रोह, सफलता की एक जीती जागती मिसाल

हिंदी ब्लॉगरों को वृहद पैमाने पर सम्मानित करने की कड़ी को आगे बढ़ाते रविन्द्र प्रभात जी और उनके सहयोगियों ने इस वर्ष भी इस आयोजन की घोषणा कर दी है. यह आयोजन धूमधाम से 27 अगस्त को लखनऊ में होगा. इसी के साथ मुझे पिछले वर्ष दिल्ली का आयोजन याद हो आया जिसमें मुझे ‘तकनीकी विशेषज्ञ’ का मान दिया गया था. इस वर्ष, इस आयोजन में मेरे द्वारा संचालित Blogs In Media को सम्मान दिया जाना है. कई साथियों ने पिछले वर्ष के अवसर पर अपने अपने संस्मरण लिखे थे…

Read More

सारी दुनिया में हाहाकार, इंटरनेट की प्रलय होगी !

परसों रात लेखनी वाले महफूज़ अली ने एक समाचार की ओर ध्यान दिलाया तो मेरा ज़वाब था कि इस विषय पर लिख चुका हूँ लेकिन वह लेख प्रकाशित करूंगा अपनी वेबसाईट पर 8 जुलाई को. कल उस लेख में कुछ संशोधन के इरादे से बैठा तो वह लिखा हुआ गायब!. याद आया कि लिख तो चुका हूँ लेकिन वो है किधर? तलाशने चला तो कुछ मिला ही नहीं. कंप्यूटर पर सहेजी फाइल्स देख लीं, ड्रॉप बॉक्स, गूगल ड्राईव देख लीं, अपनी वेबसाईट के लेख छान मारे, ड्राफ्ट तक देख लिए…

Read More

स्ट्रीट व्यू से घर पर दस्तक दी तो दिखी उनकी हैरानी, ख़ुशी और दहशत

गूगल के स्ट्रीट व्यू से दुनिया की सैर कैसे की जा सकती है,जानिये इस रोचक संस्मरण के सहारे

Read More

मेरी फौज़ के एक सैनिक का परिचय

कंप्यूटर और आई टी क्षेत्र से जुड़े होने के कारण मित्रों, परिचितों द्वारा अक्सर ही मुझसे इस संबंध में सलाहें मांगी जाती है, मुसीबत के समय याद किया जाता है. इंटरनेट की आभासी दुनिया के मित्र भी इस मामले में अपनी जिज्ञासाएं जाहिर करते रहते हैं. इस बार स्कायप पर एक कॉल आई. बात करने वाले सज्जन पहली बार ही कॉल कर रहे थे. त्रिपुरा के पास के एक कस्बे से वे बड़ी मुश्किल से टूटी फूटी हिंदी में अपनी बात कह पा रहे थे. मैंने उन्हें अंग्रेजी में ही…

Read More

मुझे जेल भिजवा ही दिया था उस लड़की ने!

लड़कियों में से एक ने अपनी चप्पलें उतारी और चीख कर बोली मेरे पापा पुलिस में हैं, आपको जेल भिजवा देंगे!

Read More

कीड़े लगी गोभी खाईए, स्वस्थ रहिए!

हमारे सुपुत्र ने पिछले दिनों यूँ ही बातों बातों में सिफारिश की कि आमिर खान का सत्यमेव जयते देखिये, अच्छी बातें रहती हैं. चूँकि इस कार्यक्रम के बारे में मेरे अपने विचार हैं, सो मैं मुस्कुराते हुए कंधे उचका कर रह गया. रविवार रात अचानक ही इस कार्यक्रम के पुनर्प्रसारण पर निगाह पड़ी तो ठिठक गया. विषय था फसलों में कीटनाशकों का खतरनाक स्तर का प्रवेश. कुछ मिनट तक बातें सुनते रहा और अचानक मुझे याद आ गया कुछ वर्षों पहले एक समाचारपत्र में खबर का शीर्षक –स्वस्थ रहना है…

Read More

इंटरनेट की दुनिया में क्रांतिकारी बदलाव की सुनामी: दहशत की आहट भी

जिस समय यह लेख प्रकाशित होगा उसके कुछ घंटों बाद (भारतीय समयानुसार 6 जून की सुबह 5:30) ही इंटरनेट के इस मकड़जाल में एक बहुत ही बड़ा क्रांतिकारी बदलाव अपना स्थान लेने वाला होगा. दरअसल अब तक के परंपरागत संचार नेटवर्क, एक बहुत बड़े परिवर्तन से गुजर रहे हैं और पैकेट आधारित नेक्‍स्‍ट जनरेशन नेटवर्क्स (Next Generation Network) में बदल रहे हैं, ये इंटरनेट प्रोटोकॉल (Internet Protocol) पर चलते हैं। बोलचाल की भाषा में संक्षिप्त रूप से आईपी पुकारा जाता इंटरनेट प्रोटोकॉल (IP) ऐसी भाषा है जिसका उपयोग विश्व के…

Read More