ब्लॉगिंग में गर्व करने लायक कुछ है भी?

हिंदी ब्लॉगिंग में पांच वर्ष का समय बिताने के दौरान मेरा सामना ऐसे कई बयानों से हुआ कि यहाँ कुछ नहीं रखा हुआ, ऐरे गैरे आते हैं गालीगलौज बकवास कर चले जाते हैं, अपनी ढपली अपना राग है सबका, भाषाकीसमझनहीं, बात करने का सलीकानहीं, कोई किसी को लतियारहाहै कोई किसी धार्मिकआस्थाकोचोट पहुंचा रहा, कोई निंदारस में डूबा हुआ है, लोग कुंठाएंनिकालरहे हैं, कुत्ते–बिल्लीसाझगड़ा करते हैं… वगैरह वगैरह! बात किसी हद तक सही दिखती भी थी क्योंकि लोकप्रिय एग्रीगेटर पर अक्सर ही इसी तरह के ब्लॉग चमकते दमकते दिखते थे। हद…

Read More

हिन्दी ब्लॉगिंग को समर्पित 11 वेबसाईट्स आ रही हैं 2011 में

पिछले वर्ष अनायास ही इतने पारिवारिक हादसे हुए कि तमाम योजनाएँ धरी की धरी रह गईं। अब पुन: स्फूर्ति आई है तो हिन्दी ब्लॉगिंग को केन्द्र में रख कर किए जाने वाले कार्यों से अवगत करवाना चाहता हूँ आपको। जैसी योजना है उसके अनुसार इस वर्ष 2011 में हिन्दी ब्लॉगिंग को समर्पित 11 वेबसाईट्स लाई जाएँगी। 2011 के प्रत्येक माह के भारतीय पर्व पर एक वेबसाईट। चूंकि जून में कोई प्रचलित पर्व नहीं है अत: इस माह को छोड़ कर 11 वेबसाईट्स। यह ऐसी वेबसाईट्स हैं जिनमें हिन्दी ब्लॉगरों के…

Read More

ब्लॉग पढ़ने के लिए एग्रीगेटर तलाश रहे हैं आप? इधर देख लीजिए

मेरे बहुत से मित्र ऐसे हैं जो ब्लॉगिंग नहीं करते लेकिन ब्लॉग पढ़ते ज़रूर हैं। उन्हें ब्लॉग पढ़ने का चस्का या तो मैंने लगाया या फिर समाचारपत्रों में ब्लॉग रचनाएँ देख हुया। आजकल कई मित्र परेशान हैं कि चर्चित एग्रीगेटर अपनी सेवायें नहीं दे रहें ब्लॉग कैसे पढ़ें? अब चालू भाषा में कहा जाए तो सब पकी-पकाई खीर खाना चाहते हैं। मैंने कई बार कहा कि आरएसएस रीडर जैसे उपाय अपना लें या काम के ब्लॉग तलाश कर पढ़ लें लेकिन उनके कानों पर जूँ नहीं रेंगती। अब उनकी जिद…

Read More

ब्लॉगिंग की दुनिया में एक अनोखा ब्लॉग-संकलक, एग्रीगेटर कर रहा आपका इंतज़ार

पिछली बार मैंने संक्षिप्त सी पोस्ट में अपनी इच्छा जाहिर की थी कि अब बहुत हो गई ब्लॉगिंग, अब चला जाए। इसी तारतम्य में अब बात की जाए आगे। मामला था प्रिंट मीडिया पर ब्लॉग चर्चा वाले ब्लॉग का, जिसने हाल ही में 1500 पोस्ट्स का आंकड़ा पूर्ण किया है। मूल तौर पर यह हिन्दी ब्लॉग व ब्लॉगिंग से संबंधित अखबारी कतरनों का संकलनहै, जिसे आप सबके स्नेह द्वारा अब एक मानक के रूप में देखा जाने लगा है। शुरूआती दौर में, सामूहिक ब्लॉग की परिकल्पना में, सुश्री शेफ़ाली पांडे,…

Read More