महाराष्ट्र का वह बुद्धिमान रोबोट हमारा मन मोह गया

मई 2013 में सड़क मार्ग से पुणे जाते हुए, हमें अहमदनगर होते हुए जाना था. चचेरा भाई साथ ही था. अहमदनगर से पहले ही हमें ऐसा कुछ नज़ारा दिखा कि वर्षों पहले किसी काम से तौबा किये हुए मन ने आखिरकार वही काम करने का मन बना लिया 😀 एशियन हाईवे पर अपनी मारूती ईको […]
Continue reading…

 

1984 – ए रोड स्टोरी

इस बार मई माह में गाँव जाना हुया एकदम अकेले. मार्च में चचेरी बहन के विवाह पर देश-विदेश से इकट्ठा हुए कुनबे वालों की गहमागहमी के बाद, मेरे सबसे छोटे चाचा का घर सुनसान पड़ा था. इधर, हमारे घर का ताला ही तब खुलता है जब भिलाई से कोई पारिवारिक सदस्य वहाँ पहुंचता है. अकेले […]
Continue reading…