जब मोबाइल को चैन से बांध कर सो गया मैं !

अपने मोबाइल को चोरी हो जाने से या किसी अन्य हरकत से बचाने के लिए क्या किया जाए? यह रोचक जानकारी यही बताती है

Read More

पंजाब से भिलाई की वो राह जिस पर दुबारा नहीं जाना मैंने!

सड़क मार्ग द्वारा पंजाब से भिलाई तक की कार से हुई ऐसी यात्रा जिसकी राहों पर दुबारा जानबूझ कर नहीं जाना मैंने

Read More

लाज बचाने की खातिर चादर दी जिसने, उसी को मार डाला एक औरत ने

आखिर ऐसा क्या हुआ कि उस औरत ने अपनी लाज बचाने वाले के साथ इतना बड़ा हादसा होने दिया?

Read More

हिन्दी ब्लॉगर्स और पंजाबी ब्लॉग !

कल बैशाखी पर्व पर, जब सभी की बधाईयां मिल रहीं थीं, तो एक अतिरिक्त संतोष का भी अनुभव हो रहा था। एकाएक बस्तर की यात्रा का कार्यक्रम बन जाने और फिर लौटने में हुयी देर के चलते घुघूती बासूती, मनविंदर भिम्बर, अनिता कुमार, नीरज गोस्वामी , निर्मला कपिला, हरकीरत हकीर जैसे हिन्दी में ब्लॉग लिखने वालों की सहभागिता वाले एक गुरुमुखी लिपि के सामूहिक ब्लॉग की कल्पना, मूर्त रूप लेने से पहले ही धुंधलाने लगी थी।कल दोपहर जब इस पंजाबी ब्लॉग का बचा–खुचा काम निपटा रहा था तो एकाएक बिजली चली गई। मन निराशा से भर उठा।…

Read More

जब माताजी की आँखों में एकाएक आँसू आ गये और लौटने को तत्पर हो गयीं

मुंबई यात्रा समाप्त हुए हालांकि एक माह से ऊपर हो चुका है, लेकिन एक घटना अब भी याद आ जाती है, जिसने कम से कम तीन प्राणियों के स्वभाव में फर्क ला दिया। अब तक आप पढ़ चुके हैं कि कैसे हावडा-मुंबई एक्सप्रेस से मुंबई पहुँच कर हमारा परिचय टॉफियों के कारोबारी से हुया, Domino Pizza के बाहर खडी आधुनिक युवती की हरकत को देख यूनुस जी से नाराज हुया, ममता जी से मिलने से इनकार भी कर दिया, अपनी बेबसी के आगे अनिता जी के बिन्दासपने का जिक्र किया…

Read More