ये खिड़कियाँ हैं या बिजली घर!?

शीशे के घरों में रहने वाले दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं मारते। बिल्कुल नहीं मारेंगे, क्योंकि वैज्ञानिकों की बात पर यकीन करें, तो जल्दी ही शीशे के ऐसे पारदर्शी घर बनेंगे, जिनसे कार्बन उत्सर्जन आधा रह जाएगा। इतना ही नहीं इन मकानों में इस्तेमाल किए जाने वाले शीशे से बिजली भी बनेगी। क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी के शोधकर्तायों का समूह Transparent Solar सेल्स तकनीक विकसित कर रही है। इस तकनीक से जो शीशा बनेगा वह रिहाइशी और व्यवसायिक इमारतों की खिड़कियों में तो लगेगा ही, बिजली भी पैदा करेगा। मुख्य शोधकर्ता…

Read More