ये खिड़कियाँ हैं या बिजली घर!?

शीशे के घरों में रहने वाले दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं मारते। बिल्कुल नहीं मारेंगे, क्योंकि वैज्ञानिकों की बात पर यकीन करें, तो जल्दी ही शीशे के ऐसे पारदर्शी घर बनेंगे, जिनसे कार्बन उत्सर्जन आधा रह जाएगा। इतना ही नहीं इन मकानों में इस्तेमाल किए जाने वाले शीशे से बिजली भी बनेगी। क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी के शोधकर्तायों का समूह Transparent Solar सेल्स तकनीक विकसित कर रही है। इस तकनीक से जो शीशा बनेगा वह रिहाइशी और व्यवसायिक इमारतों की खिड़कियों में तो लगेगा ही, बिजली भी पैदा करेगा। मुख्य शोधकर्ता…

Read More

पूरे ब्रह्माण्ड में इससे ज्यादा तीव्र प्रकाश स्रोत नहीं मिलेगा

भौतिक विज्ञानियों ने दुनिया की सबसे ताकतवर लेजर बनाई है। कितनी ताकतवर, इतनी कि पूरे ब्रह्माण्ड में इससे ज्यादा तीव्र प्रकाश स्रोत नहीं मिलेगा। जब यह लेजर किसी निशाने से टकराती है, तो इतना ज्यादा तापमान और दबाव पैदा होता है कि उससे वैज्ञानिक तारों में धमाके होने और बड़े ग्रहों की अंदरूनी बनावट का अध्ययन कर सकते हैं। सबसे ज्यादा चमकदार यह लेजर बनी है, अमेरिका के ऑस्टिन एरिया में स्थित टेक्सस यूनिवर्सिटी में। इसकी मशीन का नाम रखा गया है टेक्सस पेटा वॉट लेजर। इससे ऐसी इन्फ्रा रेड…

Read More