ब्लॉगवाणी की नीति और नीयत कोई बतला सकता है क्या!?

इस विषय पर मैं किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं देना चाह रहा था, किन्तु आज एक ब्लॉगर साथी की प्रतिक्रिया देख कर रहा नहीं गया। मामला कुछ यूँ है कि पिछले दिनों 4 मई 2010 को मैंने संबंधियों-सहयोगियों के आग्रह पर अपने अनुभवों को साझा करने के दृष्टिकोण से कम्प्यूटर सुरक्षा संबधित एक नया ब्लॉग बनाया था। एग्रीगेटरों में इसे शामिल करवाने की एक सामान्य प्रक्रिया के अंतर्गत, अन्य एग्रीगेटरों के साथ-साथ 4 मई को ही ब्लॉगवाणी व चिट्ठाजगत से भी निश्चित प्रक्रिया के अनुरूप अनुरोध किया गया। 5 मई…

Read More