उड़न तश्तरी वाले समीर लाल, शादी का विज्ञापन क्यों दे रहे

पिछले दिनों एक ब्लॉगर साथी ने कुड़कुड़ाते हुये फोन किया। वे लगभग फट ही पड़े ‘यार, ये तश्तराईन के होते हुये उड़न को क्या पड़ी शादी की!?‘ प्रश्न जिस अंदाज़ में दागा गया था, मैं भी सन्न रह गया। यह क्या कर रहे हैं समीर जी! बात जब आगे बढ़ी तो मामला समझ में आया। इंटरनेट की दुनिया से पिछले साल ही परिचित हुये इन सज़्ज़न ने करीब 4-5 महीने पहले ही ब्लॉगिंग में कदम रखा है। विज्ञापनों के मायाजाल से अनभिज्ञ रहे उन्हें मैंने जब पूरी जानकारी देनी चाही…

Read More