इंसानी दिमाग को हैक करने वाला कम्प्यूटर वायरस

आज खबर पढ़ी कि वेबसाईट हैक करने से ऊबने वाले हैकरों का समूह अब उन कम्प्यूटरों की ओर मुड़ रहा है जो ट्रेन, हवाई जहाजों के यातायात नियंत्रित करते हैं। Train switching systems जो किसी रेल्वे जंक्शन पर एक पटरी से दूसरी पटरी पर किसी ट्रेन को ले जाने का काम करती है, अभी तक ऑनलाईन दुनिया से अन्छुई थी लेकिन अब वायरलेस तकनीक द्वारा ट्रेन और स्विच के बीच संपर्क की प्रणाली विकसित होने से कुछ आशंकाएँ सिर उठाने लगी हैं। ऐसे ही कुछ विचार बर्लिन में हुई हैकर्स…

Read More

मुफ्त का गूगल ब्लॉगर छोड़कर खुद की वर्डप्रेस वेबसाईट पर क्यों?

मुफ्त ब्लॉगिंग के मुकाबले, वर्डप्रेस आधारित वेबसाईट की खूबियाँ बतलाता एक जानकारीपरक लेख

Read More

… बहुत हो गई ब्लॉगिंग, अब चला जाए ….

पाबला जी …कुत्तों की तरह केवल भौकना जानते हैं/ पाबला और उनके गैंग कि दादागिरि इस पुरे ब्लाग जगत पर है/ पावला … और … बेबकूफो की जमात अपने आप को हिंदुस्तान का प्रधान मंत्री समझती है/ पावला जी …कौड़ी काम के भी नहीं हैं/ किसी का लिखा अख़बार से उठाकर छाप देना भी कोई ब्लोगिंग है? इन जैसी बातों के अलावा हिन्दी ब्लॉग जगत से अब तक शुभचिंतकों का बेपनाह स्नेह व यथोचित आदर मिलता चला आया है। इन सबके बीच मुझे याद आता है कि 18 सितम्बर 2005…

Read More

आज उस लड़की का जनमदिन है

अपनी मुंबई यात्रा के संस्मरण की आखिरी पोस्ट में जब मैंने कहा था कि अब अगली पोस्ट में बताउँगा, प्लेटफार्म पर हुई बातों के सन्दर्भ में, द्विवेदी जी के सौजन्य से, अब जिनसे अक्सर घंटों बात होती है, वो कौन थी! तो विष्णु बैरागी जी ने टिप्पणी की थी कि बातों वाली के बारे में जानने की जिज्ञासा आपने जगा दी है। जल्‍दी पूरी कीजिएगा। कई ऐसे कारण हुए कि देर होते चले गयी। अभी जब लिखने बैठा तो याद आया कि आज, 18 मार्च को उनका जन्मदिन है। जैसा…

Read More

प्लेटफार्म पर जिसकी बातें हुयीं, वो कौन थी!?

अनिता जी के बारे में इतनी तारीफें सुन चुका था कि न मिल पाने के कारण, मुझे अपनी बेबसी पर झल्लाहट होने लगी थी.जब मैंने कहा कि कल तो शाम की ट्रेन से वापसी है तो बिंदास अंदाज में उन्होने कहा कि हालाँकि क्लासेस शाम तक हैं, लेकिन आप आ जाईये दोपहर एक बजे, नवरत्न होटल में साथ-साथ लंच कर लेंगे, फिर आप चल दीजियेगा, बस दो घटों की ही तो बात है, आपकी ट्रेन तो रात 8:35 की है। मैंने एक बार फिर हामी भर दी। आप भी जानते…

Read More

तीन w, मेरे मित्र, और सरकार अंदर

पिछले दिनों हमारे प्रदेश में विधानसभा चुनाव हुये। परिसीमन के चलते मेरा शहर तीन विधानसभायों में बँट चुका है। खबर आयी कि इस बार चुनाव आयोग सीधे रिटर्निंग अधिकारियों से प्राप्त डाटा की सहायता से इंटरनेट पर ताजा परिणाम व रूख से अवगत करायेगा। आजकल के तकनीकी माहौल में यह ठीक भी लगा। बुकमार्क की गयी चुनाव आयोग की वेबसाईट पर हम भी गाहे-बेगाहे नज़र डाल ही लेते थे। 8 दिसंबर की दोपहर के आस-पास एक मित्र का संदेश प्राप्त हुया ‘website of election commission not wrkng, load jyaada ho…

Read More