आखिरकार धमकियों के बाद यह पोस्ट लिखनी ही पड़ी!

कई दिनों से ब्लॉगर साथी फोन कर के या मेल से धमकियाँ दे रहे थे कि अब आप अपने ब्लॉग बंद कर दें! आपमें अब वह माद्दा नहीं रहा कि किसी भी समय किसी भी उलझन को अपने शब्दों में ढाल कर बाकी साथियों की जिज्ञासा का समाधान कर सको। उलाहने तो पहले भी मिलते रहे हैं कि अब तकनीकी जानकारियाँ देना बंद क्यों कर दिया मैंने! ललित शर्मा जी ने तो अप्रत्यक्ष रूप से अपना गुस्सा जता दिया कि यहाँ कोई भी ऐसा ब्लॉगर नहीं है कि ब्लॉग की…

Read More