2 मिनट में, अपना ब्लॉग गूगल के चंगुल से बचाएँ

आजकल जो हाहाकार मचा हुआ है गूगल खाता बंद होते जाने के कारण, उसी कड़ी में दो दिन पहले गुरूवार की रात ढाई बजे मोबाइल द्वारा हुई एक पुकार पर मुझे गहरी नींद से उठना पड़ा। बड़ी मुश्किल से आँखे खोल कर नाम देखने की कोशिश की पर सब धुंधला नज़र आ रहा था, आखिर बिस्तर पर गया ही 1 बजे जो था। नहीं समझ आया तो, हार कर कान से लगा ही लिया मोबाईल। उधर से पहले तो सॉरी कहा गया इत्ती रात फोन करने के लिए और फिर…

Read More

… और कंकड़ी पर पहाड़ गिर पड़ा!!!

मुझे रोजाना दसियों लिंक ईमेल में मिलते हैं जिसे पढ़ने का और फिर टिप्पणी करने का निवेदन/ आग्रह होता है। निश्चित तौर पर अधिकतर साथी यही चाहते होंगे कि उनकी बात ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुंचे। जब भी कोई नया ब्लॉग मिलता है एक बार अवश्य उस पर ध्यान देता हूँ और अपनी रुचि के अनुसार पाए जाने पर आगे भी पढ़े जाने हेतु सुरक्षित कर लेता हूँ। दिक्कत तब शुरू होती है जब किसी ब्लॉग की लिंक बार बार ई–मेल में मिलने लगती है। दो- तीन बार ढके…

Read More

क्या आपका ब्लॉग देर से खुलता है या नहीं खुलता है!?

ब्लॉग देर से खुलने या न खुलने वाली शिकायतों की रफ़्तार बढ़ती जा रही है। कोई ऐसा दिन नहीं होता जब किसी जाने अनजाने ब्लॉगर साथी द्वारा इस बारे में सम्पर्क नहीं किया जाता। हालांकि थोड़ी हिचकिचाहट तो होती है अपने ही एक लोकप्रिय साथी द्वारा प्रदत्त सुविधा वाले कोड को हटा देने की बात करते हुए, लेकिन तुरंत-फुरत और कोई चारा भी तो नहीं! लगभग सभी शिकायतों का समाधान करते हुए पाया गया कि ऐसे धीमे लोड होने वाले ब्लॉग्स में, हिन्दी ब्लॉग टिप्स द्वारा बताई गईं दो युक्तियों…

Read More

क्या आप ब्लॉगरों की खुशियाँ साझा करने वाले इस नन्हे-मुन्ने को बधाई नहीं देंगे!?

यह न तो कोई पहेली है और न ही किसी तरह की प्रतियोगिता। इसके बावज़ूद मैं यह यह कहना चाहूँगा कि क्या आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आज किसका जनमदिन है? मुझे मालूम है कि शायद ही कोई बता पाए सही सही उत्तर! भले ही आप इसे कितना भी चाह्ते हों या इसकी चर्चा करते हों। यह भी बता दूँ कि आज से ठीक एक वर्ष पहले इसका जनम हुआ था। हालांकि करीब तीन माह बाद इसने आंखे खोलीं और खुशी के मारे उछल पड़े कीर्तिश भट्ट जी। फिर…

Read More

ब्लॉग बुख़ार से पीड़ित हैं? अपना इलाज़ खुद कीजिए

बी एस पाबला द्वारा अपनी वेबसाईट पर, ब्लॉगिंग से संबंधित लेखों के लिए एक अलग श्रेणी, ब्लॉग बुख़ार बनाये जाने पर लिखी गई भूमिका

Read More

रचना जी द्वारा भेजी गई लिंक और आशीष जी के शब्दों के साथ बधाई माँगनी चाहिए क्या?

तकरीबन एक घंटा पहले नारी ब्लॉग की सूत्रधार रचना सिंह द्वारा एक लिंक भेजी गई मुझे। हालांकि इस घटना क्रम से परिचित तो था किन्तु कुछ संशय अभी भी है। इस बार मैंने सोचा कि इसे ब्लॉग-जाहिर किया ही जाये। अब अपने शब्द क्या लिखूँ जब आशीष खंडेलवाल जी ने काफी कुछ लिख दिया है ऐसे ही एक और घटनाक्रम में। इसलिए आशीष जी के लिखे शब्दों और स्टाईल की नकल (क्षमायाचना सहित), अपनी सुविधा के हिसाब से परिवर्तित की हुई, रचना जी द्वारा दी गई लिंक के साथ कौन…

Read More