सोशल नेटवर्किंग के बाद, अब आया सोशल एक्सरे वाला चश्मा

बेशक आजकल इंटरनेट पर सोशल नेटवर्किंग का बोलबाला है लेकिन वास्तविक दुनिया में आने वाले किसी दिन कोई आपको अजीब सा रंगीन चश्मा पहन कर मिले तो ऊलजलूल बाते सोचना बंद कर दें, हो सकता है कि चश्मा पहनने वाला व्यक्ति आपके दिमाग को पढ़ ले। जी हां, ये कोई मजाक नहीं है, वास्तव में मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की मीडिया लैब में ऎसे चश्मों पर शोध किया जा रहा है, जो सामने वाले के हाव-भाव, संवेदनाओं को जान सकेंगे। फिलहाल इस चश्मे का नाम सोशल एक्सरे ग्लास दिया गया…

Read More

एक दिमाग से दूसरे दिमाग में संदेश, इंटरनेट के सहारे!!

ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने ‘दिमाग से दिमाग तक संचार’ वाली प्रणाली तैयार करने का दावा किया है। साउथेम्पटन यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का कहना है कि उनकी प्रणाली किसी के विचार, शब्द और तस्वीरें दूसरे लोगों के दिमाग तक पहुंचाने में मदद करेगी, खासतौर से विकलांग लोगों के दिमाग तक। मुख्य वैज्ञानिक डॉ. क्रिस्टोफर जेम्स के मुताबिक उनकी इस प्रणाली को इंटरनेट का भविष्य कहा जा रहा है जो बिना की-बोर्ड और टेलीफोन के संचार का नया तरीका उपलब्ध कराएगा। यह उन लोगों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है जो…

Read More