ब्लॉग फीड अपडेट नहीं हो रही या खाता नहीं बन रहा? इलाज़ है यहाँ

पिछले महीने जब हिंदी ब्लॉगजगत में यह विवाद छिड़ा हुआ था कि जाने-अनजाने ब्लॉगर साथियों को ईमेल भेज कर अपना ब्लॉग पढ़वाया जाए कि नहीं? तो उस समय एक पोस्ट इस ब्लॉग पर डाली गई थी कि ब्लॉग पढ़वाने के लिए ईमेल क्यों भेजना? … इसमें फीडबर्नर का खाता बना कर उसकी एक सुविधा से लाभ उठाने की जानकारी दी गई थी। उस समय राजीव तनेजा जी ने सम्पर्क कर बताया था कि वे फीडबर्नर का एकाऊंट बनाने की कोशिश कर रहें हैं किन्तु हर बार असफलता हाथ लग रही।…

Read More

ब्लॉग पढ़वाने के लिए ईमेल क्यों भेजना? आपकी पोस्ट खुद चल कर जाती है, ईमेल में!

आजकल हिंदी ब्लॉगजगत में ताजा विवाद छिड़ा हुआ है कि जाने-अनजाने ब्लॉगर साथियों को ईमेल भेज कर अपना ब्लॉग पढ़वाया जाए कि नहीं? सभी की अपनी धारणायें हैं, अपने विचार है। कोई इसे सही कहता है कोई गलत। मैं इस विवाद में कूदने की बजाये इतना ही कहना चाहूँगा कि हर ब्लॉगर की तमन्ना होती है कि जितनी बार वह पोस्ट लिखे उतनी बार उसका प्रचार किया जाए, उस पर प्रतिक्रिया पाई जाए। इस चक्कर में बहुत मेहनत कर इक्कठा किए गये ईमेल्स पर अपनी शैली में आग्रह भी किया…

Read More