माइक्रोसॉफ़्ट ने किया अपने ऑपेरेटिंग सिस्टम से किनारा, अब है नए का सहारा

हालांकि यह खबर कुछ पुरानी सी है, किन्तु एक सामान्य कम्प्यूटर उपयोगकर्ता को यह जानकारी दिया जाना आवश्यक है कि माइक्रोसॉफ्ट ने घोषणा की है -वह 13 जुलाई 2010 से Windows 2000 तथा Windows XP Service Pack 2 (32 Bit) के लिए समर्थन देना समाप्त कर रहा है। खांटी भाषा में कहा जाए तो माइक्रोसॉफ़्ट इन दोनों से पल्ला झाड़ रहा है। अब इनमें आने वाली किसी भी तरह की गड़बड़ी को सुधारने के लिए माइक्रोसॉफ़्ट ने किनारा कर लिया है। माइक्रोसॉफ़्ट, विस्तारित समर्थन के बाद आमतौर पर अतिरिक्त पाँच…

Read More

आपको हैकर्स से बचाने के लिए, माईक्रोसॉफ़्ट ने जारी किए 34 सुरक्षा अपडेट

आम उपयोग में आने वाले कम्प्यूटरों पर चल रहे माईक्रोसॉफ़्ट के अनेकों सॉफ़्टवेयर्स की खामियों का फायदा उठाकर, हैकर्स द्वारा अक्सर हमला किया जाता है। परिणामस्वरूप आए दिन सायबर हमलों की खबरें मिलती रहती हैं। इन सबसे निपटने के लिए माईक्रोसॉफ़्ट नियमित तौर पर, प्रत्येक माह के दूसरे मंगलवार को अपना सुरक्षा बुलेटिन जारी करता है, जिसमें वह अपने सॉफ़्टवेयरों की कमियाँ ढ़ांकने के लिए पैबंद उपलबध करवाता है। (अब इस शब्द से अच्छा शब्द मुझे मिला नहीं! यह वैसा ही है जैसे हमारी कमीज फट जाए तो उस पर…

Read More

हैक हो सकती हैं एटीएम मशीनें, सायबर हमलों से कब्जे में किए जा सकते हैं विद्युत संयंत्र: हम क्या कर रहे हैं?

इस तकनीक के युग ने सुविधायों के साथ अपराध का तरीका भी बदल दिया है। पिछले दिनों खबर आई थी कि बैंकों के एटीएम भी साइबर अपराधियों की पहुंच से बाहर नहीं हैं। अमेरिका के एक सुरक्षा विशेषज्ञ ने इसका प्रदर्शन करके दिखाया कि कैसे हैकर्स द्वारा उपयोग किए जा रहे एक सॉफ्टवेयर से बिना पासवर्ड जाने ऑटोमेटिक टेलर मशीन (एटीएम) की पूरी नकदी निकाली जा सकती है। प्रदर्शन के दौरान दो एटीएम लगाए गए थे और दर्शकों के सामने मशीन का केवल एक बटन दबाए जाने पर मशीन से…

Read More

क्या आप दुनिया के सबसे असुरक्षित तरीके से इंटरनेट पर जाते हैं!?

मुझे यह कहने में कतई संकोच नहीं कि सब कुछ जानते बूझते हुए भी मैं चौंका था जब इस विषय पर लिखने की तैयारी की। फिर भी, अपने सबसे लोकप्रिय ब्लॉग पर, पिछले 500 पाठकों के आंकड़े इकट्ठा करते वक्त जब मैंने देखा कि पूरी दुनिया के उलट, इंटरनेट विचरण के लिए हिन्दी के पाठक सबसे असुरक्षित तरीका अपनाते हैं तो हैरानी अधिक नहीं हुई, क्योंकि अभी कुछ दिन पहले ही यह रिपोर्ट आई थी कि स्पैम के मामलों में भारत का स्थान, सबसे पहले स्थान पर रहे अमेरिका के…

Read More

इंटरनेट पर आपका लिखा हुआ कुछ भी बदला जा सकता है, संदेश पहुँचने के पहले!

एकाएक मुझे फिल्म ‘बैराग’ का गीत याद आ रहा है कि ‘पीते पीते कभी कभी ये जाम बदल जाते हैं… लोग ये कहते हैं कि बंद लिफ़ाफ़े में भी दिल के पैगाम बदल जाते हैं…’ दरअसल अभी अरविन्द मिश्रा जी वाला किस्सा चल ही रहा था कि डॉ महेश सिन्हा की एक ई-मेल आई जिसमें जिज्ञासा थी कि इस तिकोन का अर्थ क्या है? यह तिकोना चिन्ह गूगल क्रोम में प्रदर्शित होता है। इसका अर्थ यही है कि जिस पृष्ठ पर यह दिखता है उसकी सामग्री सुरक्षित नहीं हैं तथा…

Read More