हिन्दी ब्लॉगिंग को समर्पित 11 वेबसाईट्स आ रही हैं 2011 में

पिछले वर्ष अनायास ही इतने पारिवारिक हादसे हुए कि तमाम योजनाएँ धरी की धरी रह गईं। अब पुन: स्फूर्ति आई है तो हिन्दी ब्लॉगिंग को केन्द्र में रख कर किए जाने वाले कार्यों से अवगत करवाना चाहता हूँ आपको। जैसी योजना है उसके अनुसार इस वर्ष 2011 में हिन्दी ब्लॉगिंग को समर्पित 11 वेबसाईट्स लाई जाएँगी। 2011 के प्रत्येक माह के भारतीय पर्व पर एक वेबसाईट। चूंकि जून में कोई प्रचलित पर्व नहीं है अत: इस माह को छोड़ कर 11 वेबसाईट्स। यह ऐसी वेबसाईट्स हैं जिनमें हिन्दी ब्लॉगरों के…

Read More

आखिरकार धमकियों के बाद यह पोस्ट लिखनी ही पड़ी!

कई दिनों से ब्लॉगर साथी फोन कर के या मेल से धमकियाँ दे रहे थे कि अब आप अपने ब्लॉग बंद कर दें! आपमें अब वह माद्दा नहीं रहा कि किसी भी समय किसी भी उलझन को अपने शब्दों में ढाल कर बाकी साथियों की जिज्ञासा का समाधान कर सको। उलाहने तो पहले भी मिलते रहे हैं कि अब तकनीकी जानकारियाँ देना बंद क्यों कर दिया मैंने! ललित शर्मा जी ने तो अप्रत्यक्ष रूप से अपना गुस्सा जता दिया कि यहाँ कोई भी ऐसा ब्लॉगर नहीं है कि ब्लॉग की…

Read More

ट्विटर अपडेट अपने ब्लॉग पर कैसे दिखाए जाएँ

कई बार इच्छा होती है कि माइक्रो पोस्ट लिखने के लिए ट्विटर का उपयोग किया जाए या ट्विटर की मूल परिकल्पना पर चलते हुए अपना संक्षिप्त संदेश दिया जाए। आपने देखा ही है कि कैसे फेसबुक का प्रचार ब्लॉग पर या ब्लॉग को ऑर्कुट पर दिखाया जा सकता है। फिर ख्याल आता है कि इस संदेश को अगर मेरे ब्लॉगर साथी भी देख सकें तो बढ़िया रहे। इसी उधेड़ बुन में एक युक्ति से पाला पड़ा। इससे एक काम आसान हो गया कि ब्लॉगर साथी को ट्विटर तक दौड़ नहीं…

Read More

ब्लॉग पढ़वाने के लिए ईमेल क्यों भेजना? आपकी पोस्ट खुद चल कर जाती है, ईमेल में!

आजकल हिंदी ब्लॉगजगत में ताजा विवाद छिड़ा हुआ है कि जाने-अनजाने ब्लॉगर साथियों को ईमेल भेज कर अपना ब्लॉग पढ़वाया जाए कि नहीं? सभी की अपनी धारणायें हैं, अपने विचार है। कोई इसे सही कहता है कोई गलत। मैं इस विवाद में कूदने की बजाये इतना ही कहना चाहूँगा कि हर ब्लॉगर की तमन्ना होती है कि जितनी बार वह पोस्ट लिखे उतनी बार उसका प्रचार किया जाए, उस पर प्रतिक्रिया पाई जाए। इस चक्कर में बहुत मेहनत कर इक्कठा किए गये ईमेल्स पर अपनी शैली में आग्रह भी किया…

Read More