आपके दिल का दर्द मिटायेंगे सांप जैसे रोबॉट

वैज्ञानिकों ने हार्ट सर्जरी के लिए सांप जैसे रोबॉट बनाए हैं। ये रोबॉट बहुत लचीले होंगे और इन्हें कम जटिल ऑपरेशनों में इस्तेमाल किया जा सकेगा। ‘कार्डियो-आर्म’ नाम के इस रोबॉट में कई जोड़ हैं, जिनसे यह खुद को ऑटोमेटिकली ऐडजस्ट कर लेता है। रोबॉट का पूरा शरीर उसके ‘सिर’ का अनुगमन करता है। यह लचीले एंडोस्कोप से ज्यादा फायदेमंद होगा। अमेरिका के टेनिसी स्थित वांडरबिल्ट यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर रॉबर्ट वेबस्टर ने बताया कि इसे नियंत्रित करना काफी आसान है।

कार्डियो-आर्म को कंप्यूटर और जॉयस्टिक से ऑपरेट किया जा सकेगा। यह सीने के अंदर जाकर दिल की उस जगह तक पहुंच सकेगा, जहां की सर्जरी की जानी है या जहां से समस्याग्रस्त टिशूज को हटाना है। इसका डिजाइन काफी खास और अलग है। वेबस्टर ने बताया कि यह जॉइंटेड रोबॉट हालांकि बहुत छोटे हिस्सों में प्रभावी नहीं होगा। कार्डियो-आर्म के सबसे छोटे आकार की लंबाई 300 मिलीमीटर और व्यास 12 मिलीमीटर है।

कार्डियो-आर्म प्रोजेक्ट के मुख्य शोधकर्ता प्रोफेसर मार्को जेनाटी कहते हैं कि यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक एक ऐसा सांप जैसा रोबॉट बनाने की कोशिश कर रहे हैं जो ब्लड वैसल के जरिए खून में मिल सके। जेनाटी, मेडिकल फील्ड में रोबॉट की मदद पहले भी ले चुके हैं और उनका मानना है कि इनकी एक सीमा है। वह बताते हैं कि मसलन दा विंसी सिस्टम मानव शरीर में एक जगह पर फिट नहीं हो सक
ता और इसे शरीर में घुसने के लिए 5 या 6 रास्ते चाहिए होते हैं। फिलहाल कार्डियो-आर्म का इस्तेमाल 9 सूअरों और 2 मानव शवों पर किया गया है। मानवों पर इसका ट्रायल अगले साल से शुरू होने की संभावना है।

कुछ और जानकारी यहाँ और यहाँ मिल सकेगी। इस तरह के रोबोटों के बारे में ज्यादा जानकारी देखिये।

लेख का मूल्यांकन करें

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ