एक साथ कई जगह मौजूद रहना चाहेंगे आप?

चौंकिएगा मत, ऑस्ट्रेलियाई कंपनी ने एक खास तकनीक विकसित की है, जिसके जरिए कोई भी व्यक्ति एक साथ दो जगहों पर रह सकता है। अरे भई, इस भागदौड़ भरी दुनिया में वक्त की भारी किल्लत है। कई बार तो हम अपने जरूरी कामों को भी नहीं निपटा पाते। वास्तव में हॉलॉग्राम तकनीक (Hologram Technology) के जरिए आपको आभासी तौर पर किसी दूसरी जगह पर देखा और सुना जा सकेगा।

Telecommunication & Media कंपनी टेल्सट्रॉ द्वारा विकसित इस तकनीक से एक जगह बैठकर दूसरे देशों में भी अपना प्रेजेंटेशन दिया जा सकेगा। इसके लिए किसी शख्स का हॉलॉग्राम बनाया जाएगा। कंपनी ने सबसे पहले अपने मुख्य तकनीकी अधिकारी डॉ. ह्यूज ब्रैडलो का हॉलॉग्राम बनाया और ब्रैडलो ने एडिलेड में हुए एक बड़े समारोह में मेलबर्न में बैठे-बैठे ही व्याख्यान दिया। इस दौरान ब्रैडलो ने आभासी रूप में 15 मिनट तक लोगों से बातचीत भी की। इसके बाद उन्होंने एक Real Time Media Conference में भी हिस्सा लिया। ब्रैडलो ने बताया कि म्यूजन आई-लाइनर प्रणाली के जरिए उनकी त्रि-आयामी छवि बनाई गई और इस तरह उन्होंने दूसरे शहर में एक प्रेजेंटेशन दिया। यह हॉलॉग्राम त्रिआयामी होगा और इसे देखकर कोई भी धोखा खा जाएगा।

ब्रैडलो ने बताया कि मेलबर्न में एक उच्च क्षमता वाला विडियो कैमरा मुझे शूट कर रहा था। इन सिग्नलों को Optical Projection प्रणाली से हॉलॉग्राफ में तब्दील किया गया। इस तरह मैं एडिलेड में आभासी मौजूदगी दर्ज करा सका। यहां बैठे-बैठे मैं एक बड़ी एलसीडी स्क्रीन पर समारोह का जायजा भी ले सकता था। मैं जान सकता था कि समारोह में मेरा हॉलॉग्राम कहां देख रहा है और किससे बात कर रहा है? ब्रैडलो ने कहा कि इस तकनीक को शिक्षा, मनोरंजन और समाचार प्रसारण के क्षेत्र में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। कंपनी के प्रबंध निदेशक डेविड थोडे कहते हैं कि कल्पित फिल्मों में तो ऐसी चीजें आप देख ही चुके होंगे, मगर वास्तविकता में अब ऐसा मुमकिन हो सका है। थोडे ने कहा कि यह तकनीक अगले कुछ सालों में बिजनस घरानों और यहां तक कि घरों में भी इस्तेमाल होने लगेगी। 4-5 सालों में यह तकनीक काफी कम कीमतों में मुहैया हो सकेगी।

अधिक जानकारी आप यहाँ, यहाँ और यहाँ पा सकते हैं. इस कांफेरेंस की एक झलक भी आप देख सकते हैं।

एक साथ कई जगह मौजूद रहना चाहेंगे आप?
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

मेरी वेबसाइट से कुछ और ...

एक साथ कई जगह मौजूद रहना चाहेंगे आप?” पर 3 टिप्पणियाँ

  1. बहुत ही रोचक और विस्मयकारी!
    विज्ञान को सलाम!
    आपको बधाई इसे पेश करने के लिए.

  2. chadmkaari mayavii bhagwaan ki rachana kar dalii . rochak jaan kaari.
    do bibiyon wale patyon ke liye khushkhabarii….

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons