कंप्यूटर सर्वर की गरमी से स्वीमिंग पूल का पानी गर्म होगा

स्विटजरलैंड में बना नया कम्प्यूटर केंद्र अपने सर्वर और संचार उपकरणों से निकलने वाली गर्मी से निकट ही स्थित स्विमिंग पूल के पानी को गर्म करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। जब कम्प्यूटिंग कम्पनियां अपने डाटा केंद्रों को पर्यावरण के अनुकूल बनाने की बात करती हैं तो उनका मतलब होता है या तो केंद्रों को नवीनीकरण योग्य वस्तुओं से बनाना या फिर ऊर्जा की कम खपत वाले सर्वर का उपयोग करना।

कुछ मामलों में कम्प्यूटर से निकलने वाली गर्मी को पास के दफ्तरों में गर्मी पहुंचाने के लिए उपयोग में लाया जाता है। लेकिन ऐसा पहली हुआ है कि ज्यूरिख के बाहर स्विटजरलैंड के एक कस्बे उइटिकॉन के एक पूल के पानी को आईबीएम कॉर्प द्वारा बनाए गए डाटा केंद्र से निकलती उष्णता से गर्म किया जा रहा है। आईबीएम ने यह केंद्र जीआईबी सर्वसेज एजी के लिए बनाया है। डाटा केंद्रों में एयर कंडीशनर (एसी) कम्प्यूटर को अपने 70 डिग्री के आदर्श तापमान से बढ़ने से रोकने के लिए ठंडी हवाओं की बैछार करता है। इस प्रक्रिया में गर्म हवा बाहर की तरफ फेंक दी जाती है। आमतौर इस प्रक्रिया में सारी उष्णता बेकार हो जाती हैं। लेकिन उइटिकॉन केंद्र में इनका इस्तेमाल ‘ताप एक्सचेंजर’ के जरिए पूल के पानी को गर्म करने के लिया किया जाता है।

आईबीएम के डाटा सेवा केंद्र के उपाध्यक्ष स्तीवन सैम्स का कहना है कि स्विट्जरलैंड की यह योजना एक उदाहरण होनी चाहिए। आईबीएम का कहना कि उइटिकॉन केंद्र से इतनी गर्मी निकल सकती है जिससे 80 घरों तक उष्णता पहुंचाई जा सकती हैं।

लेख का मूल्यांकन करें

एक टिप्पणी on “कंप्यूटर सर्वर की गरमी से स्वीमिंग पूल का पानी गर्म होगा

  1. वाह अच्छा उपयोग है, बेकार चीजों का इस्तेमाल इतने अच्छे से होने लगे तो इससे अच्छा क्या हो सकता है ! रोचक जानकारी…

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ