गूगल का नया कार-नामा

घर-ऑफिस की बजाए अब मोबाईल पर चलते फिरते, घुमक्कड़ मित्रों से सोशल होने तथा ट्रैफिक अपडेट लेने देने वाले Wage एप्प की जानकारी देता आलेख

पिछले दिनों तीन खबरें नज़र में आईं. पहली थी रवि रतलामी जी द्वारा फेसबुक मित्रों से बचने के एप्प की जानकारी, दूसरी रही गूगल लैटिट्यूड का बंद हो जाना और तीसरी खबर रही गूगल द्वारा एक कंपनी को एक करोड़ डॉलर में खरीद लेना. शिवम मिश्रा जी का आग्रह रहा कि लैटिट्यूड के विकल्प पर कुछ लिखिए. आज फुरसत मिली तो लिख डाले.

रवि जी ने अपनी ब्लॉग पोस्ट में बताया था कि कैसे एक मोबाईल सॉफ्टवेयर की मदद से आप अपनी राह में आने वाले फेसबुक मित्रों सरीखे पकाऊ सोशल मीडिया मित्रों से टकराने से बच सकते है, जिससे आपका समय नष्ट ना हो.

गूगल लैटिट्यूड के 9 अगस्त से बंद किए जाने की घोषणा से मैं स्वयं भी हैरान हुआ. इस सुविधा ने मेरी बहुत मदद की है नाज़ुक मौकों पर. एक बार तो राजस्थान में गूगल ने हमारे बच्चों पर निगाह रखी और घर पहुंचने में मदद की.

लेकिन हर सृजन की मौत सुनिश्चित है चाहे वह एक नए रूप में सामने आ जाए. शायद गूगल ने यह पहले ही सोच रखा होगा तभी तो उसने लैटिट्यूड बंद करने की घोषणा के पहले एक अनजान सी इज़रायली कंपनी Waze को एक करोड़ डॉलर (ताज़ा मुद्रा विनिमय दर अनुसार लगभग 60 करोड़ रूपये) में खरीद लिया.

WAZE-bspabla

इस खरीदारी की खबर लगते ही मैं चौंका. क्योंकि तेजी से उभरती, दैनिक यातायात परिस्थितियों की सामूहिक रूप से नवीनतम जानकारियों देने वाले Waze का उपयोग तो पहले से ही कर रहा था मोबाईल पर. भले ही इसका पूरा फ़ायदा ना मिल रहा हो किंतु कई विशिष्ट बातों से परिचय हुआ इसी बहाने.

मुझे लगता है गूगल ने तीन कारणों से इतनी बड़ी खरीदारी कर डाली . पहली हो सकती है इसके उपयोगकर्तायों के सहयोग से वास्तविक यातायात स्थिति की जानकारी का समावेश, दूसरी होगी स्वयं गूगल के लोकप्रिय मैप्स को मिल रही चुनौती, जिसकी परिणिति हुई सुरक्षात्मक निर्णय वाली खरीदारी से. तीसरा कारण निश्चित तौर पर फेसबुक और एप्पल के शिकंजे से इसे छीन लेने की चाहत

waze-user-bspablaजीपीएस आधारित मोबाईल उपकरणों में मैप्स सुविधाओं की सर्वव्यापी लोकप्रियता किसी से छिपी नहीं है. पिछले कई वर्षों से गूगल और एप्पल, मोबाईल मैप्स में अपना वर्चस्व बनाए रखने के लिए भिड़े हुए हैं. शायद इसीलिए दोनों कंपनियां Waze के पीछे हाथ धो कर पड़ी थीं, आखिर बाजी गूगल के हाथ लगी.

Waze, आइफोन और एंड्राइड पर चलने वाला ऐसा मुफ्त अनुप्रयोग है जो अपने 5 करोड़ उपयोगकर्तायों द्वारा संयुक्त रूप से वास्तविक, नवीनतम जीपीएस आंकड़ों की सहायता से बेहद सटीक यातायात जानकारियाँ देता है. इसका इस्तेमाल करने वाले स्वयं मानचित्र में सड़क की जानकारियाँ जैसे टूटे पुल, दुर्घटनाएं, ट्रैफिक जाम, मार्ग परिवर्तन, खराब सड़क, पुलिस की उपस्थिति आदि जोड़ सकते हैं जिसका लाभ उसी सड़क से गुजरने वाले उठा सकते हैं.

इस समय एक दिलचस्प उपयोग यह भी है Waze का, कि जिस सड़क मार्ग से आप जा रहे हैं उस सड़क पर अगर आपका कोई फेसबुक मित्र आगे पीछे हो तो उसकी जानकारी मिलती रहेगी या फिर आपकी मंजिल पर उसकी उपस्थिति की जानकारी मिल जाएगी. अब, जब गूगल ने 2007 में शुरू हुई कंपनी को खरीद लिया है तो संभवत: फेसबुक की बजाए गूगल प्लस उपयोगकर्तायों से जोड़ दिया जाए इसे.

जब जब मैंने देखा, इस उभरते अनुप्रयोग का भारत में इक्का दुक्का उपयोगकर्ता ही दिखा. हो सकता है अब इस जानकारी को पढ़ने के बाद हम हिंदीभाषियों का एकाधिकार हो जाए यहाँ. 😀

waze-bspabla-app

Waze से जुड़ने वाले आम तौर पर सड़क मार्ग से यात्रा करने वाले होते हैं, वे आपस में एक-दूसरे को सन्देश भेज सकते हैं, सडक की जानकारियाँ साझा कर सकते हैं. लेकिन साथ ही साथ उन पर सार्वजनिक रूप से निगाह रखी जा सकती है और उनके आस-पास के व्यावसायिक स्थलों से संबंधित विज्ञापन भी दिखाए जा सकते है.

गूगल की आमदनी का मुख्य स्त्रोत ओनलाईन विज्ञापनों से होने वाली आय है और इसीलिए उसने फेसबुक के मुंह से इसे छीन कर अपने कब्जे में कर लिया है.

waze-pabla

अब यह देखना पडेगा कि हमारे साथी, रवि जी द्वारा सुझाए अनुप्रयोग से अपने मित्रों से कन्नी काटेंगे या फिर एक उन्नत सामजिक यातायात सूचना प्रणाली में सहयोग करेंगे. भारत में इसके प्रयोग विधि की जानकारी इस कड़ी पर पाई जा सकती है.अपने आई-फोन, एंड्राइड मोबाईल यंत्र पर स्थापना की कड़ियाँ इसके वेबसाईट पर दी गई हैं.

घर-ऑफिस की बजाए अब अगली बार हो सकता है जब सड़क से गुजर रहे हों तो किसी ऑनलाइन मित्र से मुलाक़ात हो जाए अचानक!

अपडेट @ 21 अगस्त 2013 :
Google – Waze गठजोड़ का पहला प्रभाव देखने को मिला है. अब गूगल मैप्स पर, Waze का उपयोग करने वालों द्वारा विश्व के कुछ देशों में दर्ज की गई घटनाएँ, दुर्घटनाएं दर्शाईं जायेंगी.

गूगल का नया कार-नामा
5 (100%) 2 vote[s]

27 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
[+] Zaazu Emoticons Zaazu.com