जिसके बिना इक पल चैन नहीं, उसे मैं बधाई देना भूल गया!

एक अनोखा जनमदिन बीत गया 15 मार्च को। यह पोस्ट लिखी पड़ी थी पूरी की पूरी, बस ध्यान ही नहीं रहा प्रकाशित करने का। अब इसे ज्यों का त्यों पब्लिश कर रहा हूँ। उम्मीद है आप भी इस 25 वर्ष के हो चुके जवान को ज़रूर बधाई देंगे। आखिर इसके बिना हम रह भी नहीं सकते अब। नाम सुनना चाहेंगे? इसका नाम है डॉट कॉम!

जी हाँ, आप सही समझे यह वही है जिसे हम सब प्यार से इंटरनेट कह कर बुलाते हैं। हमारी ज़िंदगी में इसकी पैठ का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दुनिया के 26 देशों में हुए एक नए सर्वे में पाया गया कि हर पांच में से चार शख्स इंटरनेट पहुँच को बुनियादी अधिकार मानते हैं। इन देशों में भारत भी शामिल है।

अब आप बताईए! क्या आप जानते हैं कि 25 साल पहले, 15 मार्च 1985 को अमेरिका के मैसेच्यूसेट्स शहर की एक छोटी सी कंप्यूटर निर्माता कंपनी, सिम्बॉलिक्स ने अपने नाम में डॉट कॉम जोड़ कर इतिहास के इस नए अध्याय की शुरुआत की थी। यह पहली कंपनी थी जिसने डॉट कॉम नाम के साथ वर्ल्ड वाईड वेब पर अपनी वेबसाईट का पंजीयन कराया था। यह खबर स्थानीय समाचार पत्रों में जरा सी जगह भी नहीं पा सकी थी। डॉट कॉम कंपनी का मतलब ऐसी कंपनी जो अपना अधिकतर व्यापार इंटरनेट पर करे।

उस वर्ष के अंत तक नौ महीनों के समय में केवल पांच अन्य कंपनियां डॉटकॉम पते पर दर्ज हुईं थीं। आने वाले 12 वर्षों के बाद, वर्ष 1997 तक डॉट कॉम डोमेन का आँकड़ा 10 लाख भी नहीं पहुँचा था। लेकिन इसी साल इंटरनेट के क्षेत्र में आई उछाल ने तस्वीर बदल कर रख दी। इसी के साथ डॉट कॉम की दुनिया में भी धमाका हुआ और अगले दो साल में क़रीब दो करोड़ डोमेन नाम रजिस्टर हुए और आज दुनिया देख रही है कि प्रति माह करीब 6,68,000 नए डोमेन का पंजीयन हो रहा है।

bspabla-dot-com1

25 साल तथा 20,00,00,000 से अधिक वेबसाईट्स के पंजीकरण बाद Symbolics.com फिर सुर्खियों में है। कारण स्पष्ट है। अब जबकि कंपनी मौजूद नहीं है, तब भी Symbolics.com जीवित है। इस वेबसाईट को इसके वर्तमान मालिक XF.com को 2009 में बेच दिया गया था और अब एक ब्लॉग के रूप में कार्यरत है।

80 के दशक में लौटा जाए तो Symbolics.com पंजीकरण के एक महीने बाद दूसरे डोमेन का रजिस्ट्रेशन हुआ।1987 तक, डोमेन की संख्या 100 हो गई थी। दुनिया के प्रसिद्ध डोमेन नामों का तो अस्तित्व ही नहीं था। Google, Yahoo और Facebook तो अभी हाल ही की घटनाएँ है। Information Technology and Innovation Foundation (ITIF) का एक नवीनतम अध्ययन बताता है कि डॉटकॉम डोमेन वार्षिक आर्थिक गतिविधियों में 400 अरब डालर का योगदान देता है! 2020 तक 950 अरब डॉलर की वृद्धि की उम्मीद चौंका देने वाली है।

dot-com-pabla

डॉटकॉम कंपनियों के प्रकार के बारे में VeriSign जैसी कम्पनी के पास कुछ दिलचस्प आंकड़े है। उदाहरण के लिए, 1 करोड़ 19 लाख डॉटकॉम कम्पनियाँ ई कॉमर्स और ऑनलाइन व्यापार में संलग्न हैं। 43 लाख मनोरंजन के क्षेत्र में हैं और 18 लाख तो केवल खेल साइटों से संबंधित हैं। VeriSign के अनुसार कुल मिलाकर अभी 80 करोड़ डॉटकॉम कंपनियां हैं।


आज की तारीख में डॉट कॉम, इंटरनेट का चर्चित और जाना-पहचाना चेहरा है। आज लोग डॉट कॉम की दुनिया में गोते लगाकर शॉपिंग कर सकते हैं, मनोरंजन कर सकते हैं, नई चीज़ें सीख सकते हैं, विचारों का आदान-प्रदान कर सकते हैं, छुट्टियों की योजना बना सकते हैं और भी बहुत कुछ कर सकते हैं। 25 साल पहले किसने कल्पना की थी कि इंटरनेट आज ऐसी स्थिति में होगा।

bspabla-dot-com

इंटरनेट के इस्तेमाल में नित-नए बदलाव हो रहे हैं और आने वाले दिनों में इसमें और बदलाव होंगे। डॉटकॉम हमारे शब्दकोष का हिस्सा हो गया है, हमारी जीवनशैली बन गया है, एक दूसरे बातचीत का तरीका बन गया है, आनलाईन कारोबार का तरीका बन गया है। यह इतना ही सहज है हमारी ज़िंदगी में जितना अपनी गाड़ी में पेट्रोल डलवाना, ब्यूटी पार्लर जाना या बैठे बैठे नाक के बाल उखाड़ना!!

इस मौके पर बनी एक विशिष्ट वेबसाईट www.25yearsof.com भी देखी जा सकती है।
internet-bspabla
क्या आप इसे बधाई दे कर जश्न मनाना नहीं चाहेंगे?
लेख का मूल्यांकन करें

जिसके बिना इक पल चैन नहीं, उसे मैं बधाई देना भूल गया!” पर 18 टिप्पणियाँ

  1. बहुत ही अच्छी और महत्वपूर्ण जानकारी मिली…बहुत बहुत शुक्रिया…

  2. डाट काम के रजत जयन्ती वर्ष पर हिप हिप हुर्रे और आपको बहुत बहुत धन्यवाद बताने के लिए

  3. .com को हार्दिक बधाई!

  4. अरे वाह ये तो बहुत अच्छी जानकारी रही ..धन्यवाद पाबला जी ! और जन्म दिन की बधाई .कॉम को

  5. अरे हम ने तो सोचा कि आप भाभी जी की बात कर रहे है..:) चलिये हमारी तरफ़ से बधाईयाँ ही बधाईयाँ।

  6. बहुत अच्‍छी जानकारी .. मेरी ओर से भी इसे बधाई !!

  7. अच्छी जानकारी और डाट काम के साथ साथ आपको भी बधाई।

  8. इस जानकारी का आभार ! बहुत-बहुत बधाईयां !

  9. अरे ये तो अपने ही घर का बंदा निकला सर …बधाई हो ..चलिए पार्टी की तैयारी करें …अच्छा हुआ आपने बता दिया …ये डाट कौम बताता नहीं ….और अपने आप हमें कभी पता चलता नहीं …शुक्रिया सर
    अजय कुमार झा

  10. टोकरे भर कर बधाइयां जी। बहुत ही महत्‍वपूर्ण जानकारी के लिए आभार।

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ