टिप्पणियों के सम्पर्क में रहने हेतु कुछ व्यवहारिक बातें

हमेशा की तरह विभिन्न प्रकार के मुद्दों पर इन दिनों हिंदी ब्लॉग जगत में हलचल हो रही है। कई विवादित मुद्दे भी हैं। ऐसे ही एक मुद्दे वाली पोस्ट पर एक ब्लॉगर साथी द्वारा की गई टिप्पणी पर आ रही उत्तेजित प्रतिक्रियायों के बारे में, मैंने बात करनी चाही तो वह हैरान परेशान हो गया। उसका कहना था कि मैं तो टिप्पणी लिख कर आ गया था, अब बाद में क्या हुआ मुझे कुछ मालूम नहीं। वह पोस्ट कौन सी थी यह भी वह भूल चुका था! मुझसे उसने उस पोस्ट की लिंक मांगी तो उसे मेरा इंकार ही मिला। किसी तरह वह उसी पोस्ट को तलाशते हुए गया और बड़ा मायूस हो कर लौटा। उसने जो टिप्पणी की थी उस पर कई ऐसी प्रतिक्रियाएँ आईं जिसका ज़वाब समय पर नहीं दिए जाने पर बात बिगड़ गई थी।

अपनी टिप्पणी पर अपडेट ले पाने के लिए वह जो चाहता था वैसा इलाज़ बताया गया। आंईदा के लिए सचेत होने के कवच सहित टिप्पणी क्षेत्र में जाने का आत्मविश्वास लिए वह फिर तैयार है।

पिछले माह जब टिप्पणी लिखने वालों के लिए कुछ तकनीकी बातें बताई गईं थीं तो आपकी प्रतिक्रियाओं ने मुझे चकित कर दिया था। तब से ही इच्छा थी कि अब टिप्पणी तंत्र संबंधित कुछ व्यवहारिक बातें भी आपसे साझा करूँ। यह व्यवहारिक बातें फिलहाल टिप्पणी करने वालों के लिए हैं।
फिलहाल ब्लॉगस्पॉट में टिप्पणी तंत्र के लिए तीन विकल्प हैं। पहला, पोस्ट के नीचे ही एक बॉक्सनुमा स्थान, दूसरा पॉप-अप विंडो तथा तीसरा फुल पेज-पूरा पृष्ठ।
अब यदि आप किसी पोस्ट पर टिप्पणी करते हैं और उसके बाद आने वाली टिप्पणियों से भी अवगत होते रहना चाहते हैं तो पोस्ट के नीचे चिपके हुए बॉक्सनुमा में टिप्पणी देने के बाद वहाँ क्लिक करें जहाँ लिखा हुया है Subscribe by Email/ ईमेल के द्वारा सदस्यता लें। आपके क्लिक करते ही जब यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो उन शब्दों के बदले लिखा हुया आना शुरू हो जाएगा कि Unsubscribe/ सदस्यता रद्द करें। इससे होगा यह कि आपकी टिप्पणी के बाद जितनी टिप्पणियाँ आएँगीं, वह सभी आपको अपने ईमेल के इन-बॉक्स में मिलती जाएँगी, आपको बार-बार उस ब्लॉग पोस्ट तक दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी कि वहाँ कोई और टिप्पणी की गई है या नहीं!
इस प्रक्रिया को आप रोक भी सकते हैं। मात्र Unsbscribe/ सदस्यता रद्द करें लिंक पर क्लिक करें, टिप्पणियाँ आनी बंद हो जाएँगी।
पॉप-अप या पूरे पृष्ठ के विकल्प वाली टिप्पणियो हेतु Email follow-up comments to … / फॉलो-अप टिप्पणियों को … पर ई-मेल करें के पहले बने छोटे से बक्से पर क्लिक कर चुन लें, तो टिप्पणियाँ आनी शुरू हो जाएँगी, जिसकी पुष्टि के लिए आपको लिखा मिलेगा Follow-up comments will be sent to …/ फॉलो-अप टिप्पणियाँ … पर भेजी जाएँगी। यदि टिप्पणियाँ बंद करनी हो तो इसी पंक्ति के आगे लिखे Unsubscribe/ सदस्यता निकालें पर क्लिक करें। आने वाली टिप्पणियाँ बंद हो जाएँगी।
वर्डप्रेस ब्लॉगों पर इस सुविधा को, टिप्पणी बक्से के नीचे लिखे विकल्प Notify me of follow-up comments via email को चुन कर प्राप्त किया जा सकता है। वर्डप्रेस होस्टेड ब्लॉग पर यह सुविधा अधिकतर नदारद ही दिखी मुझे।
वैसे ब्लॉग पोस्ट के नीचे टिप्पणी बॉक्स वाला विकल्प किसी किसी ब्लॉग टेम्पलेट पर कार्य नहीं करता। हमारे एक-दो ब्लॉगर साथियों ने तो इस झंझट से मुक्ति पाने के लिए अपने लोकप्रिय ब्लॉग बंद कर, नए ब्लॉग ही बना लिए थे!
यह किस्सा फिर कभी।
टिप्पणियों के सम्पर्क में रहने हेतु कुछ व्यवहारिक बातें
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

मेरी वेबसाइट से कुछ और ...

टिप्पणियों के सम्पर्क में रहने हेतु कुछ व्यवहारिक बातें” पर 21 टिप्पणियाँ

  1. इस जानकारी के लिये धन्यवाद । मै समय समय पर इस सुविधा का उपयोग करता हूँ ।

  2. बताई तो आपने बहुत अच्छी बार मगर अपने समझ मे आई नही।वही हाल है

    आगे पाठ पीछे सपाट,
    गुरूजी ने बोला सोलह दूनी आठ।

    पाब्ला जीआपके पास आकर ही सीखना पड़ेगा सब कुछ।वैसे आज जी के अवधिया जी से पहली बार मुलाकात हुई है,वे भी तकनीक के मास्टर हैं।

  3. इस सुविधा का उपयोग कभी कभी करते हैं। हमेशा तो संभव नहीं है।

  4. जानकारी के लिए बहुत बहुत धन्‍यवाद !!

  5. हिन्दी चिठठाकारीता फले-फुले!!
    आपका लेखन प्रकाश की भॉति
    दुनिया को आलोकित करे!!
    ★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★
    जय ब्लोग- विजय ब्लोग
    ★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★
    ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥
    इस जानकारी के लिये धन्यवाद ।
    इसलिऍ आपका भी आभार!
    ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥
    हे प्रभू यह तेरापन्थ को पढे
    अणुव्रत प्रवर्तक आचार्य तुलसी
    मुम्बई-टाईगर

  6. jankari ke liye dhanyavad pavla ji
    aapki takniki jankari se kai logon ka bukhar km ho jayega

  7. आजकल इस जरुरत कुछ अधिक ही आन पड़ी है. 🙂 आभार!!

  8. जानकारी प्राप्त हुई …आभार …!!
    गुरुपर्व की बधाई व शुभकामनायें …!!

  9. पाबला जी,
    सबसे पहले गुरुनानक देव जी दे जन्मदिन दियां लख लख बधाईयां…

    टिप्पणियों पर इतनी ज्ञानवर्धक जानकारी देने के लिेए आभार…

    जय हिंद…

  10. गुरुपर्व की लख लख बधाई व शुभकामनायें …!!

  11. बडे काम की जानकारी…..

    हैप्पी गुरूपर्व डे !! बधाई!!

  12. बहुत अच्छी जानकारी देने के लिए शुक्रिया पाबला साहब…!!

  13. अरे वाह, टिप्पणियों के बारे में इतनी महत्वपूर्ण बातें मुझे पता ही नहीं थीं।

    आभार।
    ——————
    परा मनोविज्ञान- यानि की अलौकिक बातों का विज्ञान।
    ओबामा जी, 75 अरब डालर नहीं, सिर्फ 70 डॉलर में लादेन से निपटिए।

  14. Aapka blogger ko janakari dete rahana ka andaaj bahut achha laga. Main bhi abhi nayee blogger hun samajhne mein time lagata hai. aapko blog dekha to bahut achha lag raha hai.
    Dhanyavaad.

  15. पाबला जी ,नमस्कार
    बहुत पहले मैंने चिट्ठाजगत से ये निवेदन किया था कि कुछ ऎसी व्यवस्था करें कि हम जितने ब्लागों पर टिप्पड़ी देते हैं उन्हें लिस्टेड कर सकें ,क्योंकि कुछ ब्लाग्स पर इतनी अच्छी जानकारी रहती है कि हम दूसरों को बताते फिरते हैं कि हमने एक जगह ऐसा पढ़ा . किस जगह पढ़ा यही नहीं याद रहता अगर याद रहे भी तो एकाध अक्षर याद पड़ता है पूरा नाम नहीं याद पड़ता ,और हमारे गूगल महाशय तो बड़े प्रेम से फरमा देते हैं कि ब्लॉग नाट फऊँड

  16. पावला जी ये ब्लाग तो मेरे काम का था हैरान हूँ कि पहले क्यों नही देखा अब सभी पिछली पोस्ट पढती हूँ धन्यवाद । एक मेरी भी समस्या है मेरी पोस्ट शीर्शक नही दिखाती पहले उपर टाईटल का कालम था अब नही है पता नही कैसे हुया ये । क्या कुछ सुझाव देंगे? धन्यवाद्

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons