टिप्पणी में, एक्सेल में, वर्ड में, नोटपैड आदि में हिंदी कैसे लिखें

हाल ही में आई ब्लॉगस्पॉट की दसवीं सालगिरह पर जो नया एडिटर पेश किया गया है उसमें ऑनलाईन हिंदी लिखे जाने की सुविधा उपलब्ध नहीं है। गूगल क्रोम व ओपेरा में तो यह पुराने एडिटर पर भी उपलब्ध नहीं है। इस तरह के हिंदी लेखन को लिप्यांतरण Transliteration कहा जाता है। जिसके लिए इंटरनेट से जुड़ा होना एक शर्त होती है। पिछले दिनों कुछ ब्लॉगर साथियों ने सम्पर्क कर उत्सुकता प्रकट की थी कि कोई ऐसा औजार है जिससे सीधे हिंदी लिखी जा सके? टिप्पणी में भी! मैंने उन्हे बहुतेरे उपाय सुझाए जैसे बरहा, हिंदी राईटर, कैफे हिन्दी, यूडिट, तख्ती, माध्यम आदि। अब समस्या यह कि किसी एक की अनुशंसा कैसे करूँ, सभी के अपने गुण-दोष हैं। फिर भी उन्हें बताया कि मैं स्वयं हिंदी राईटर का उपयोग करता हूँ, बाकियों को आज़माया नहीं है। किसी ने कहा इसे उपयोग कैसे करते हैं बताईए। फिर डॉ प्रभात टंडन जी के ब्लॉग की लिंक दी गई।

एक साथी ने हिंदी राईटर डाउनलोड किया। इंस्टाल करने चले तो अटक गए, कम्प्यूटर बाबा सीडी के बिना टस से मस नहीं हो रहे थे। उन्होंने झल्ला कर कह दिया कि पूरी जानकारी क्यों नहीं देते एक बार में। ध्यान आया कि एक बार कहीं देखी थी इसकी पूरी विधि, लेकिन अब याद नहीं कहाँ थी। इंटरनेट पर उड़ती नज़र मारी, नहीं दिखा कुछ तो सोचा हम ही ना लिख दें एक बार फिर से! एक पोस्ट तो बनेगी!!
तो देखा जाए इसका इंस्टालेशन
हिंदी राईटर की एक वेबसाईट होती थी। वह अब बंद हो चुकी लेकिन इसे अभी दो विश्वसनीय स्थानों से डाउनलोड किया जा सकता है। पहली लिंक है इसके संस्करण 1.4a की यहाँ, दूसरी लिंक है इसके 1.4b संस्करण की यहाँ । 1.4b अधिक सुधरा रूप है। वैसे तो डाउनलोड की गई फाईल से इंस्टालेशन किए जाने पर कोई दिक्कत नहीं होती किन्तु किसी किसी कम्प्यूटर में यह ऑपरेटिंग सिस्टम वाली सीडी की माँग करता है।
इंस्टालेशन के बाद यह स्वयं ही आपको Regional and Langauge Options Langauge टैब पर ले जाता है।
आवश्यकता हो तो, आप यहाँ स्वयं भी जा सकते हैं बाद में। वहाँ Supplemental Langauge Support के अंतर्गत Install files for complex script and left to right langauges (Included Thai) को चुन लें तथा Apply पर क्लिक करें। एक चेतावनी दिखेगी उसे OK कर दें।
हो सकता है पूरी प्रक्रिया चुपचाप खतम हो जाए या फिर सीडी डालने को कहा जाए! सीडी को ड्राईव में डाल कर कुछ सेकेंड बाद आगे बढ़ने की अनुमति दें। पूछे जाने पर कम्प्यूटर Restart करें।
जब कम्प्यूटर पुन: शुरू होगा तो एक आईकॉन दिखेगा।
इसे क्लिक किए जाने पर नीचे टास्क बार में लाल रंग की पृष्ठभूमि में लिखा हुआ दिखेगा।
अब अपने की-बोर्ड पर Shift दबाए रख कर Pause को एक बार दबा कर छोड़ देंगे तो यही , हरे रंग की पृष्ठभूमि में दिखेगा।
पुन: की-बोर्ड पर Shift दबाए रख कर Pause को एक बार दबा कर छोड़ देंगे तो एक बार फिर लाल रंग की पृष्ठभूमि में अ लिखा हुआ दिखेगा।
जब तक हरे रंग की पृष्ठभूमि रहेगी, आपके द्वारा की-बोर्ड से हिंदी लिखी जा सकेगी, जब पृष्ठ्भूमि लाल होगी तो अंग्रेजी लिखी जा सकेगी। एक ही पृष्ठ पर आप इसे सैकड़ों बार इसे बदल सकते हैं। यदि Shift + Pause में सहूलियत न हो तो इसी वाले आईकॉन पर राईट क्लिक कर Toggle Transliterator को चुन कर भी यही कार्य किया जा सकता है।
हिंदी लिखने के लिए अक्षरों का पूरा खाका ऊपर सबसे पहले चित्र में है। जैसे जैसे आप की-बोर्ड पर टाईप करते जाएँगे, वैसे वैसे शब्द बनते चले जाएँगे। एक सुविधा भी है इसमें कि यह आपके टाईप किए जा रहे अक्षरों के आधार पर शब्दों को सुझाते जाता है और आप उन्हें एक क्लिक में चुन सकते हैं।
जैसे कि, यदि आप लिखना चाहेंगे समस्याएँ तो सम लिखते ही दाँई ओर एक सूची आते जाएगी, छोटी बड़ी होती हुई। अब समस लिखते ही 26 शब्दों की सुझाव-सूची में 21वें तथा 22वें स्थान पर क्रमश: समस्याएँ व समस्याएं लिखा दिखेगा। अब यदि आपको समस्याएँ लिखना पसंद है तो समस लिखने के तुरंत बाद 21 लिख कर की-बोर्ड का स्पेस-बार दबा दें, अपने आप ही समस्याएँ लिखा जाएगा! यदि 22 लगा देंगे तो समस्याएं लिखा जाएगा!!
कुछ उदाहरण देखिए
  • समस21 = समस्याएँ
  • समस22 = समस्याएं
  • कि2 = किंकर्तव्यविमूढ़
  • हि8 = हिंदुत्ववादी
  • रा13 = राइबोन्यूक्लिएस
  • म25 = मँडराऊँगी
  • द17 = दंडस्वरूप
  • प14 = पंखुड़ियों
  • भ16 = भंडारकर्मी
  • क19 = कंक्रीटयुक्त
  • ष2 = षड़यंत्रकारियों
  • च11 = चंडीगढ़
अगर आप चाहें तो इसे निष्क्रिय भी कर सकते हैं, राईट क्लिक मीनू मे Disable Word Lookup चुन कर। सक्रिय करना हो तो Enable Word Lookup
इसका प्रयोग कर आप माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, एक्सेल, पावरपॉइंट, नोटपैड, जीमेल, याहूमेल, याहू मैसेंजर, जीटाक, पर सीधे हिंदी लिख सकते हैं। HTML कोड्स के बीच हिंदी लिख सकते हैं। ब्लॉग पर पोस्ट लिख सकते हैं। टिप्पणी कर सकते हैं। पोस्ट लिखते हुए ध्यान रखें कि ब्लॉगस्पॉट का हिंदी लिप्
यांतरण सक्रिय न हो।
थोड़े से अभ्यास से आप कठिन शब्द भी सरपट लिख सकते हैं। यदि वर्ड आदि पर लिख रहे हों तो इसका वर्तनी Spelling जाँच करने का तंत्र भी आपकी सहायता करेगा। कोई समस्या हो तो यहीं टिप्पणी कर पूछ लें ताकि बाकी साथियों को भी जानकारी हो सके।
कैसा रहा यह सब कुछ, बताईएगा।
लेख का मूल्यांकन करें

टिप्पणी में, एक्सेल में, वर्ड में, नोटपैड आदि में हिंदी कैसे लिखें” पर 31 टिप्पणियाँ

  1. जानकारी देने के लिए धन्‍यवाद .. पर कुछ समझ में नहीं आया .. लाइट चली गयी है .. सेव कर लिया है .. बाद में समझने की कोशिश करती हूं !!

  2. बढिया जानकारी….वैसे मैँ हिन्दी टूलकिट इस्तेमाल करता हूँ

  3. बढ़िया जानकारी ! में भी हिंदी लिखने के लिए अक्सर इस औजार का इस्तेमाल करता हूँ इसे इंस्टालेशन में भी कभी कोई दिक्कत नहीं आई | हाँ कुछ कंप्यूटर में यह विण्डो एक्सपी की सी डी मांग लेता है

  4. मैं काफ़ी समय से यही उपयोग कर रहा हूं, मुझे बहुत पसन्द है, मैं अपने लेख वर्ड फ़ाइल में ही बनाकर बाद में अपलोड करता हूं और यह साफ़्टवेयर याहू मेसेंजर में हिन्दी चैटिंग भी कर लेता है, जबकि बरहा नहीं…

  5. पाबला जी,
    मैं आरंभ में कृतिदेव में हिन्दी टाइप किया करता था जिस का की बोर्ड रेमिंग्टन जैसा है। जब इंटरनेट पर हिन्दी टाइप करने की स्थिति बनी तो मैं इंडिक आईएमई से जिस में हिन्दी टाइप करने के छह तरीके थे उस में रेमिंग्टन भी एक था टाइप करने लगा। लेकिन उन दिनों किसी किसी ब्राउजर में ऐसी लिखी हिन्दी की मात्राएँ अलग हो जाती थीं और हिन्दी का कबाड़ा हो जाता था। तब देखा कि इनस्क्रिप्ट टाइपिंग ऐसा तरीका है जिस से लिखी हिन्दी सब ब्राउजरों में ठीक दिखाई देती है। तो उसे लिखने के लिए जुगाड़ किया। रविरतलामी जी ने इस के लिए मुझे एक टाइपिंग ट्यूटर दिया। जिस से में एक सप्ताह में हिन्दी टाइप करने लगा। इस का की बोर्ड विंडोज के एक्सपी और विकसित संस्करणों में स्वतः ही आता है। एक माह में गति भी अच्छी हो गई। इस से एक लाभ यह हुआ कि अंग्रेजी और हिन्दी टाइप करते समय असमंजस नहीं रहता। आज मैं हिन्दी टाइपिंग अंग्रेजी टाइपिंग की गति या उस से अधिक गति से कर लेता हूँ। मुझे उस से अच्छा औजार नहीं नजर आता। और यह सब मैं ने 52 साल की उम्र में किया। इनस्क्रिप्ट से कहीं भी हिन्दी टाइप की जा सकती है कोई परेशानी होती ही नहीं है। ब्लागर के नए रायटर पर आराम से हिन्दी उसी तरीके से टाइप करता हूँ जैसे पहले टाइप करता था। बस लोग दो सप्ताह परेशानी भुगतने को तैयार हों और कम से कम एक घंटा नियमित इस काम के लिए दें तो हमेशा के लिए हिन्दी लिखना आसान हो जाता है।
    मेरी तमन्ना तो यह है कि हर हिन्दी ब्लागर को इन्स्क्रिप्ट हिन्दी टाइपिंग सीख लेनी चाहिए। इस का की बोर्ड इतना आसान है कि दस मिनट में दिमाग को याद हो जाता है।

  6. अच्छी जानकारी दी है।

    (आप किसी कारण ऋ नहीं लिख पा रहे हैं या गलती से ऋ के स्थान पर श्र टाइप कर दिये हैं (देवश्रण नहीं, देवऋण सही है) ।)

  7. मैनें तो डाउनलोड कर लिया और इसी का इस्तेमाल कर टिप्पणी भी कर रहा हूँ । इतनी अच्छी जानकारी के लिये आभार ।

  8. धन्यवाद मुझे ऐसे ही हिन्दी लिखने वाले ओजार कि जरुरत थी अब धिरे धिरे मेरे लिये हिन्दी
    लिख्नना आसान हो जायेगा अभी भी उसी से लिख रहा हुं !

  9. पाबला जी,इस उपयोगी जानकारी के लिए धन्यवाद्!!!

  10. बहुत बहुत धन्यवाद भाई साहब | मैं काफी दिनों से हिंदी टाइपिंग मैं जूझ रहा था, कुछ कोशिशों के बाद भी त्रुटियां रह ही जाती हैं | अब आपका बताया हुआ पे अमल करके देखते हैं |

  11. ये मेरे को एक मित्र ने बताया था जो कि मैंने पहले ही इंस्टॉल कर लिया था। अब मैं मंगल और चाणक्य में लिखता हूं समिट के साथ।

  12. हम तो बरहा का उपयोग लगभग ३ वर्षों से कर रहे हैं कुछ अक्षर नहीं बन पाते हैं तो इसे भी संस्थापित करके देख लेते हैं।

    आपने बहुत अच्छा मार्गदर्शन किया।
    दिनेशरायजी – सीखने की तमन्ना हो तो क्या बचपन और क्या पचपन। आपसे ही तो दुनिया सीखेगी, बधाई आपको।

  13. आपने बड़े काम की जानकारी दी है और इससे बहुत लोगों को लाभ होगा।

  14. ये हमने भी लगाया था। पर बरहा में हाथ रंवा होने के कारण इसे ज्यादा चलाया नहीं।

  15. अपन तो ब्लॉग जगत पर अवतरित होने के दिन से हिंदी राइटर का ही प्रयोग कर रहे हैं। 😉

    इसे याहू मैसेंजर, जी टॉक के साथ-साथ ईमेल में भी और वर्ड, नोटपैड आदि में भी आसानी से इस्तेमाल करता हूं।

  16. मैने इसे इन्स्टाल कर लिया है, टाइप करना सीख रही हूँ, बहुत सारी गलतियां भी कर रही हूँ… 😛
    सीख जाऊंगी। बडा मज़ा आ रहा है…
    धन्यवाद्।
    🙂

  17. क्षमा कीजिएगा पावला जी!

    श्रृंखला
    श्रृंगार
    श्रृंखला
    श्रृद्धांजलि
    श्रृंगिका

    ये सभी वर्तनियाँ, जो आप "सरस पायस" पर निम्नांकित पोस्ट के साथ टिप्पणी के रूप में लिखकर आए हैं, त्रुटिपूर्ण हैं –

    http://saraspaayas.blogspot.com/2009/09/blog-post.html

    यहाँ लगे टाइपराइटर से भी शुद्ध वर्तनी लिख पाना असंभव लग रहा है!

  18. दिनेशजी की बात से सहमत हूं।
    मैं बीते बीस सालों से रेंमिंगटन की बोर्ड इस्तेमाल करता था। बाद में फोनेटिक पर आया। वह बहुत वैज्ञानिक तरीका लगा। स्पीड भी अच्छी हुई। जब स्टार न्यूज ज्वाइन किया तो वहां इन्स्क्रिप्ट चलता था। है तो फोनेटिक जैसा ही, पर उससे भी कुछ परिष्कृत। इससे बेहतर हिन्दी का कोई की बोर्ड नहीं। समस्या शृंग लिखने की ही है, जो शायद हिन्दी कम्प्यूटिंग में अभी समझी नहीं गई है।

  19. धन्यवाद आपका.

    ग्यान को कैसे लिखेंगे ये बता सकें तो कृपा होगी.

  20. @ दिलीप कवठेकर जी,
    ज्ञान लिखने के लिए आंग्ल भाषा में टाईप करें
    GYaana

    वैसे ऊपर Word Map में इसे बताया भी गया है.

  21. इतनी जानकारी के बाद फिर एक सवाल!!

    क्या विन्डोज़ लाइव राईटर में गूगल इंडिक ट्रांस्लितेरेशन को सक्रिय किया जा सकता है ?

    यदि हाँ तो किस तरह ?????

  22. इतनी जानकारी के बाद फिर एक सवाल!!

    क्या विन्डोज़ लाइव राईटर में गूगल इंडिक ट्रांस्लितेरेशन को सक्रिय किया जा सकता है ?

    यदि हाँ तो किस तरह ?????

  23. इतनी जानकारी के बाद फिर एक सवाल!!

    क्या विन्डोज़ लाइव राईटर में गूगल इंडिक ट्रांस्लितेरेशन को सक्रिय किया जा सकता है ?

    यदि हाँ तो किस तरह ?????

  24. क्षमायाचना
    आपकी यह पोस्ट मैनें अपने ब्लॉग पर बिना आपकी अनुमति लिये कॉपी पेस्ट की है जी
    आपको बुरा लगा तो हाथ जोडकर माफी मांगता हूँ और पोस्ट हटा भी दूंगा।

    प्रणाम

  25. पाबला जी,बहुत बहुत धन्यवाद
    अच्छी जानकारी हिंदी लिखने के लिए दी.
    -GIRIVAR Singh<9425242253>

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ