नियाग्रा जलप्रपात, चांद से लाई चट्टान और कनाडा का चांदनी चौक

पेरिस के एफ़िल टावर के सामने अपने आप को बौना महसूस करते मोटरसाइकिल पर विश्व भ्रमण का कीर्तिमान बनाने के लिए निकले भिलाई के दो नवयुवक भारत से रवाना हो मिस्त्र, इटली, ऑस्ट्रिया होते हुए जर्मनी, डेनमार्क, हॉलेंड और फिर फ्रांस, लग्ज़मबर्ग, स्विट्ज़रलंड, स्पेन से होते हुए आखिरकार जा पहुँचे इंगलैंड से होते हुए अमेरिका

अमेरिका से रवाना हो कर मॉंट्रियल, ओटावा, किंगस्टन की सैर करते हु कनाडा में 8 से 18 अक्टूबर1984 तक रहे।

टोरंटो तक पहुँचते पहुँचते पिछला टायर ज़वाब दे चुका था। एक मित्र की सहायता से नया टायर लिया गया, तब जान में जान आई।

शायद यह अधिकतर लोगों को मालूम ना हो कि कनाडा में भी एक चांदनी चौक है जहाँ स्वादिष्ट दोसा खाया जा सकता है या पान चबाया जा सकता है। सुनील व अनिरूद्ध के लिए कनाडा में सबसे रोमांचक स्थल था दुनिया के सबसे अधिक दर्शनीय स्थलों में से एक, नियाग्रा जलप्रपात

niagra-bhilai-world-record

नियाग्रा जलप्रपात के निकट

वे 18 अक्तूबर को एक बार पुनः अमेरिका में दाखिला हुए तो रुके डेट्रॉयट (Detroit) में जनरल मोटर्स की कार फैक्टरी को देखने के लिए, जहाँ सारा का सारा वेल्डिंग कार्य रोबोट करते थे। 25 वर्ष पहले यह एक अचम्भा ही था!

वे हेनरी फोर्ड संग्रहालय भी गए जहाँ पहली डेमलर बेन्ज़ मोटर साइकिल, पहली फोर्ड कार, जेम्स भाप इंजिन जैसी दिलचस्प चीजें प्रदर्शन के लिए रखी गईं थीं।

detroit-bhilai-world-record

डेट्रायट में खुद ही की मरम्मत

अगला पडाव था 23 अक्टूबर को शिकागो (Chicago), जहाँ वे थे दुनिया की सबसे उंची इमारत, सीयर्स टावर के सबसे ऊपरी हिस्से में।अक्टूबर ख़त्म होते होते ठण्ड बढ़ने लगी थी। वे चल पड़े पूर्व की ओर। 28 अक्टूबर को कोलंबस (Columbus) पार कर, 29 अक्टूबर को पिट्सबर्ग (Pittsburgh) पहुँचे, दो दिन बाद श्रीमती इंदिरा गांधी की ह्त्या की सूचना मिली।

भारतीय दूतावास में रखी शोक पुस्तिका में हस्ताक्षर करते हुए अपना संदेश दर्ज़ कर चल पड़े 31 अक्टूबर को वाशिंगटन (Washington) की ओर। जहाँ साफ सुथरापन देख मन प्रसन्न हो गया।

usa-bhilai-record-snow

बर्फ़बारी में ड्राईविंग का मज़ा!

 

व्हाईट हाउस (White House), वांशिगटन मेमोरियल (Washington Memorial), जेफरसन मेमोरियल, लिंकन मेमोरियल (Lincoln Memorials) देख डाले लेकिन लुभाया नॅशनल एयर एंड स्पेस म्यूजियम (National Air and Space Museum) ने, जहाँ मौजूद थे राईट बंधुयों द्वारा बनाया गया पहला हवाई जहाज, चंद्रमा पर उतरने वाले अपोलो-11 के अंश, चाँद से लाई गई चट्टान-जिसे छू कर देखा जा सकता था।

इसी बीच दीपावली का भी समय था जिसे विभिन्न भारतीयों द्वारा आयोजित समारोह में शामिल हो कर मनाया गया।दक्षिण की ओर बरास्ता Raleigh, Charlotte, Knoxville जाते हुए सुरमई पहाड़ों से गुजरते हुए, Cherokee Indian Reservation का भ्रमण किया गया। फिर 12 नवम्बर को अटलांटा (Atlanta) व 14 नवम्बर को जैक्सनविले (Jacksonville) होते हुए जा पहुंचे ओरलांडो (Orlando)। डिज़नी वर्ल्ड तो खैर शानदार था ही लेकिन एप्कोट सेंटर (Epcot Centre) में भविष्य की दुनिया ने स्तब्ध कर दिया।

florida-bhilai-world-record

फ़्लोरिडा के तट पर

 

वे बढ़ चले फ्लोरिडा (Florida) के समुद्री तटों से होते हुए केप केनवरल (Cape Canaveral), डेटोना बीच (Daytona Beach), फोर्ट लौडर्डेल (Fort Lauderdale) से गुजरते हुए 19 नवम्बर को मियामी (Miami) की ओर।

miami-bhilai-world-record

मियामी के कुछ पल

 

लेकिन इन विश्व प्रसिद्द समुद्री तटों ने इन्हें निराश ही किया। फिर वह फ्लोरिडा से निकल लिए एवरगलेड दलदल में घडियालों की गली की ओर-यह नाम इसलिए पड़ा कि इस दलदल में घड़ियालों की बहुतायत है।

usa-bhilai-world-record-new

अमेरिका के Gastonia Gazette में खबर बना यह अभियान

फ्लोरिडा से लुसिआना (Louisiana) की ओर जाते हुए नवम्बर के अंतिम सप्ताह को न्यू ओर्लीन्स में इन्होने देखा सुपरडोमदुनिया का सबसे बड़ा ढका हुआ स्टेडियम और फिर मोटरसाइकल चल पड़ी Pontchartrain झील पर बनाए 40 किलोमीटर लम्बे पुल के ऊपर।

मोटरसाइकिल से किये गए विश्व भ्रमण के संस्मरणों को कुल 10 आलेखों में संजोया गया है. सारे आलेखों की सूची के लिए यहाँ क्लिक करें»

 

superdome-bhilai-world-record

सुपरडोम का नज़ारा

 

1 दिसम्बर को ह्यूस्टन (Houston) में नासा (NASA) के अंतरिक्ष केंद्र का भ्रमण कर वे चल पड़े 5 दिसम्बर को दक्षिण में सैन एंटोनियो (San Antonio) की ओर, जहाँ से लारेडो होते हुए उन्हें जाना था 7 दिसम्बर के दिन मेक्सिको!

वहाँ मिलीं उन्हें तली हुई टिड्डियाँ, रात की रंगीनी और मेक्सिको की सुंदरियाँ

नियाग्रा जलप्रपात, चांद से लाई चट्टान और कनाडा का चांदनी चौक
5 (100%) 1 vote

  1. भिलाई के युवकों द्वारा निर्मित विश्व रिकॉर्ड की रजत जयंती: विशेष लेख-माला
  2. भिलाई के युवकों द्वारा निर्मित विश्व रिकॉर्ड: सलाहें, योजना व तैयारी
  3. भिवंडी के दंगे, विश्वमोहिनी और विदेशी धरती पर पहला कदम
  4. पिरामिड, पोप का आशीर्वाद और वेनिस की नहरें
  5. बीयर की दीवानगी, मोटरसाइकिल का बिगड़ना और रात का वह नज़ारा
  6. बाईक रैली के पुरस्कार, जर्मन युवती और बुल फाईट
  7. मोनालिसा की मुस्कान, प्रिंस हैरी का जनम और शेरवुड के जंगल
  8. नियाग्रा जलप्रपात, चांद से लाई चट्टान और कनाडा का चांदनी चौक
  9. तली हुई टिड्डियाँ, रात की रंगीनी और मेक्सिको की सुंदरियाँ
  10. भिलाई के युवकों द्वारा मोटरसाइकिल पर विश्व भ्रमण का विश्व रिकॉर्ड

Powered by Hackadelic Sliding Notes 1.6.5

नियाग्रा जलप्रपात, चांद से लाई चट्टान और कनाडा का चांदनी चौक” पर 10 टिप्पणियाँ

  1. सर उन दिनों जो अचंभा था वो आपकी बदौलत हम तक पहुंच रहा है वो भी किसी अचंभे की तरह । कमाल की यात्रा चल रही है ऐसा लग रहा है सब कुछ चलचित्र की भांति सामने से गुजर रहा है । और दोनों जांबांज़ फ़िल्मी हीरो की तरह लग रहे हैं । सचमुच ही बहुत बडी उपलब्धि है ये …। हम तक इसे पहुंचाने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया आपका

  2. बहुत ही अच्छा लग रहा है..

  3. बहुत से अनुभवों से भरी रही होगी यह यात्रा। हम तो केवल उस का ट्रेलर देख पा रहे हैं।

  4. आपकी रिपोटिंग के कारण उनके साथ हमलोग भी घूम रहे हैं .. आगे भी यात्रा का अनंद लेते ही रहेंगे !!

  5. बेहतरीन रोमांचक सफर..खैर तब तो हम थे नहीं टोरंटो में…:)

    जारी रहिये!

  6. सँजो कर रखे जाने योग्य श्रृंखला ! निरन्तर पढ़ रहा हूँ !

  7. राइट ब्रदर्स का पहला विमान , अपोलो 11 के अंश , चान्द से लाई चट्टान ( देखियेगा आपके प्लोट का हिस्सा तो नहीं है ) ..वाह मज़ा आ गया ।
    लेकिन कनाडा के चान्दनी चौक से हमारा चान्दनी चौक ज़्यादा अच्छा है … यहाँ पान चबाकर थूक भी सकते हैं ..।

  8. जबरदस्त यात्रा वृत्तांत -जेट की स्पीड फेल !

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ