फ़िरदौस ने किया बहिष्कार, ‘अदा’ झेल नहीं पाईं तमाशा! मैं कुछ बता सकता हूँ?

वैसे तो स्वभाव व सिद्धांत के चलते मैं हमेशा धर्म व राजनीति पर कुछ लिखने, टिप्पणी करने से बचता हूँ। लेकिन एक ब्लॉगर साथी फ़िरदौस द्वारा कल रात प्रिंट मीडिया पर ब्लॉग चर्चा वाले ब्लॉग पर की गई टिप्पणी पर आज सुबह नज़र पड़ी तो लगा कि इस मुद्दे पर कुछ रोशनी डाली जाए। उनका कहना था कि कुछ तत्व फ़िरदौस के नाम से अपने ही ब्लॉग में कमेन्ट लिख रहे हैं… और उस पर क्लिक करने पर फ़िरदौस का ब्लॉग खुलता है…जबकि वे उनके ब्लॉग पर कोई कमेन्ट नहीं लिखती हैं …क्या इस पर रौशनी डाल सकते हैं… कि यह सब कैसे किया जा रहा है…? सुबह चैट पर भी उनकी व्यथा महसूस हुई।

इस ब्लॉग जगत में तमाम धर्म के मानने वाले पहले कई बार मुझसे इस तरह की समस्यायों का निदान पूछते रहें हैं, धार्मिक भावनाओं से ऊपर रह अपनी सीमाओं में रह, सहर्ष उनकी मदद करता आया हूँ तो इस बार क्यों नहीं?

फ़िरदौस जी द्वारा की गई टिप्पणी से कुछ प्रश्न सामने आए हैं जिनका उत्तर क्रमवार देने की कोशिश की जाए।

पहला प्रश्न तो यही है कि फ़िरदौस के नाम से कमेंट कैसे किया जा रहा है?
यह बहुत आसान है उन ब्लॉगों पर जहाँ बेनामी/ गुमनाम रह कर टिप्पणी देने की सुविधा है। करना कुछ नहीं पड़ता। बस नाम में लिख दिया जाए firdaus और URL के बदले डाल दिया जाए ब्लॉग या प्रोफ़ाईल का लिंक और प्रकाशित कर दिया जाए!

इसकी पहचान कैसे की जाए कि यह वास्तविक टिप्पणी है या फर्जी काम?
यह भी बहुत आसान है। यदि टिप्पणी किए जाने वाले नाम के सामने फ़िरदौस के वास्तविक प्रोफ़ाईल वाला चित्र दिख रहा है तो उस टिप्पणी को खुद फ़िरदौस ने पासवर्ड का उपयोग कर, लॉगिन हो कर टिप्पणी की है। यदि किसी तरह का चित्र नहीं है, या कोई दूसरा चित्र है तो फर्जी काम है। इसके अलावा यह भी देख लिया जाए कि जो नाम लिखा गया है उसका मिलान हूबहू असली प्रोफ़ाईल से हो रहा है या नहीं जैसे कि नीचे दिए गए चित्रों से देखा जा सकता है। इसके अलावा असली प्रोफ़ाईल के पहले ब्लॉगस्पॉट का चिर-परिचित नारंगी चिन्ह भी दिखाई देगा।

(असली प्रोफ़ाईल का एक नमूना)

(संदिग्ध प्रोफ़ाईल की संभावना वाला नमूना)
यहाँ कहा जा सकता है कि कई असली प्रोफ़ाईलधारियों के भी चित्र नहीं दिखते! तो फिर? अरे! ज़नाब उन्होंने अपनी फोटो लगाई होगी तब ना दिखेगी!!
इन सब के बावज़ूद यदि संशय बना रहे तो असली प्रोफ़ाईल वाले के URL में दिए गए अंक मिलान कर लें। जैसे कि http://www.blogger.com/profile/xxxxxxxxxxxx16330130 । दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा
क्या इससे बचा जा सकता है या ऐसे कारनामों को रोका जा सकता है?
ऐसे कारनामों को कम करने की संभावना तभी हो पाएगी जब नेक नीयत वाले ब्लॉग स्वामी द्वारा बेनामी का विकल्प बंद कर दिया जाए। इसके बावज़ूद भी अगर कोई अपनी ज़िद में

फ़िरदौस ने किया बहिष्कार, ‘अदा’ झेल नहीं पाईं तमाशा! मैं कुछ बता सकता हूँ?
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

मेरी वेबसाइट से कुछ और ...

फ़िरदौस ने किया बहिष्कार, ‘अदा’ झेल नहीं पाईं तमाशा! मैं कुछ बता सकता हूँ?” पर 39 टिप्पणियाँ

  1. पाबला साहब,
    मैं सोच ही रही थी कि आप इस तिकड़म को सही तरीके से बताएँगे….और आपने वही किया..
    बहुत बहुत धन्यवाद…

  2. आदरणीय पाबला जी,
    आपने बहुत अच्छी जानकारी दी है…
    इस सहयोग के लिए हम आपके आभारी हैं…
    यह भारत की गौरवशाली परंपरा का ही हिस्सा है, जब किसी अल्पसंख्यक पर कोई मुसीबत आती है तो बहुसंख्यक वर्ग के लोग ही सबसे पहले मदद के लिए आते हैं…जबकि मज़हब का ढोल पीटने वाले आग लगाकर दूर से तमाशा देखते हैं…

    एक लड़की (जिसे बहन कहते हैं) के ख़िलाफ़ इतनी घृणित साज़िश करके ये 'लोग' इस्लाम का सर ऊंचा कर रहे हैं या नीचा…???

  3. ओह! अच्छा…. तो ऐसे किसी को भी परेशां किया जा सकता है…. इसका मतलब….. ओह हो…. अब मैं समझा….

  4. पाबला जी, आपने एकदम सही कहा, मेरे साथ बहुत पहले ऐसी हरकत की जा चुकी है, मैंने उसी समय एक पोस्ट लिखकर स्थिति साफ़ कर दी थी… और बाद में यह पता भी चल गया था कि वह हरकत किसी "भड़ासी" की थी…
    इसलिये फ़िरदौस जी, आप अपने ब्लॉग से टिप्पणी कालम में "बेनामी" और "नेम-URL" वाला option हटा दें…

  5. पाबला जी को ऐसे लोगों के बला हैं। इस जानकारी के जाहिर होने से वे तो बावले हुए ही समझो।

  6. Thats gr8 pabla sahab !यह घटिया हरकत मेरे साथ भी की जा चुकी है !

  7. राजतंत्र पर भी यही हुआ था।

    आपने जानकारी देकर स्पष्ट कर दिया।
    नए ब्लागरों के लिए बहुत ही काम की जानकारी है।
    आभार

  8. बहुत लफडा है.इतना सतर्क होना बहुत कठिन है.
    घुघूती बासूती

  9. @Suresh Chiplunkar

    ये लोग अपने ब्लॉग पर ही हमारे नाम से फ़र्ज़ी कमेन्ट करते हैं…

  10. बहुत ही सुन्दर जानकारी दी है पाबला जी आपने! इस जानकारी से बहुत लोगों का भला होगा!! साधुवाद आपको!!!

  11. हरकत हो गर घिनौनी
    पर्दा तो उस से उठ ही जाता है।
    पाबला जी को धन्यवाद इस जानकारी के लिए।

  12. जाने क्यूँ लोग….खैर, तरीका तो बता ही दिया पहचानने का आपने.

  13. बेनमियों से न अखिया लड़ाना

  14. आईये… दो कदम हमारे साथ भी चलिए. आपको भी अच्छा लगेगा. तो चलिए न….

  15. ये जानकारी हमारे जैसे बहुत से अन्जान लोगों के लिए लाभकारी सिद्ध होगी….
    धन्यवाद्!

  16. pabla ji aapko sharm aani chahiye. aapke baare me mai achcha sochati thi lekin aapane ye sabko bata kar mere liye mushkil khadi kar dee hai. aapane aisa kyo kiya? aap vakai ek bure shakhs hain.

  17. thanx pabla ji is shaitani tareeke ko batane ke liye. ab to khoob maza aayega. aap vakai kaam ki jaankari dete hai. shaitan aapka bhala kare!

  18. ऐसा मेरे साथ भी राज कुमार ग्वालानी जी की पोस्ट पर हो चुका है…मुझे भी तब बड़ा ताज्जुब हुआ था…लेकिन पाबलाजी ने फोन पर मुझे इस फ्रॉड के बारे में समझा दिया था…मैंने शुरू से ही अपने ब्लॉग पर बेनामी का ऑप्शन नहीं रखा…

    जय हिंद…

  19. हा हा

    मैं तो कब से जाल बिछाए बैठा था. इससे ठीक ऊपर फिरदौस और अविनाश वाचस्पति के नाम से की गई टिप्पणियाँ फर्जी हैं. इसके कलाकार का सारा नक्शा मेरे सामने खुला पड़ा है. फिर चाहे वह उसके मोनिटर का रेजोल्यूशन हो या घर का पता!
    सुबह पुलिस थाने में करवाता हूँ रिपोर्ट और यह दोनों टिप्पणियाँ रहेंगी सबूत के तौर पर यहीं.

    धन्यवाद! लगता है ज़ल्द ही मलका गंज का चक्कर लगेगा!!

  20. Maan Gaye Ustaad Sahi Baat Bataai Aapne. Kuchh Anti-Social Log Firdausji Ko Pareshaan Kar Rahe Hain Ye Jaankar Dukh Hua. Khair Firdaus Bhi Haarne Vaale Logo Me Se Nahi Hai…Saakshaat Jhaansi Ki Raani Hai Vo Toh.

  21. हा हा हा दोनों तीनों प्रोफाइल के न. एक हैं पिंजरा चेक कर लो खाली मिलेगा

    http://www.blogger.com/profile/09716330130297518352
    http://www.blogger.com/profile/09716330130297518352

    मानिटर रेज्‍युलेशन आदि वाकई आपको पता होगा, लेकिन इससे आगे गलत है अपना पता तो अपने बराबर के पडोसी को नहीं airtell कम्‍पनी से पता निकलवाने के लिये कितने पापड बेलने पडेंगे यह हम सब हिन्‍दस्‍तानी समझे हैं

    लडकी का मामला है इस‍ लिये वह बारीकी आपकी छानबीन में न आसकी जिसके लिये जाने जाते हैं, यह लिखती हैं ''फ़िरदौस खान'' वहां firdaus दोनों में जमीन आसमान का अन्‍तर है जो इतना बडा अन्‍तर न समझ सकें उन्‍हें निरन्‍तर बेवकूफ बनाया जा सकता है

    अच्‍छा अब इस सम्‍बन्‍ध में तिकडमी का एक सवाल अगर URL के स्‍थान को खाली छोडा जाये तो इससे क्‍या फर्क पडता है कोई ब्‍लाग नहीं खुलेगा इसके अलावा?

    जवाब आप न दे सके तो मैं नहीं दूंगा ऐसी ट्रिक मेरे चेलों के लिये है मेरे गुरूओं के लिये नहीं

    स्‍नेह बनाये रखियेगा

    महातिकडमी


  22. सरदार ने तो सारी पोल पट्टी खोल दी, अब तेरा क्या होगा कालिया ?

  23. Pabala ji! aapki paas bloggers ki lagbhag har samsya ka hal hota hai aur sabse achhi baat aap sabhi ki madad ke liye hamesha taiyaar rahte hain..
    kaash aapki tarah sabhi ki nek soch hoti…

  24. बहिष्कार करने लायक ब्लॉग के नाम:

    स्वच्छ सन्देश: हिन्दोस्तान की आवाज़
    हमारी अन्जुमन
    वेद कुरान डॉ अनवर जमाल
    ;
    ;
    ;

    आप भी कुछ नाम सुझाईये या एक आइडिया है क्यूँ न सभी मुस्लिम ब्लॉगर के ब्लॉग को प्रतिबंधित कर दिया जाये सिवाय महफूज़, फिरदौस और मेरे ब्लॉग को

  25. बहुत उपयोगी जानकारी दी है।आभार।

  26. मैं सुरेश चिपलूनकर जी से आग्रह करना चाहता हूँ कि वे अपने समाज के इस तरह के ब्लॉग को इंगित करते हुए भी यहाँ एक लिस्ट बनायें ताकी सभी तरह के कूड़े ख़त्म हो जाएँ या फिर गोदियाल साहब ये काम कर दें या फिर संजय बेंगाणी ही कर दें या हो सके तो जी के अवधिया जी ही यह का कर दें तो सभी तरह के कूड़े ख़त्म हो जायेंगे

  27. जब ब्लागिंग करना ऐसा घिनौना हो जाये तो क्या डाक्टर ने सलाहं दी है कि ब्लागिंग की ही जाना चाहिये? कुछ सोचना पडेगा.

    रामराम

  28. सर आप अपना मोर्चा खोलिए मैं अपनी फ़ौज/पुलिस/कानून को मुस्तैद करता हूं ……अब आर या पार …

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons