फेसबुक की Friend Request कर दे ना बंटाधार!

कहने को तो कहा जा सकता है एक नए मामले में फेसबुक दीवानों की नींद उड़ जाएगी लेकिन दीवाने तो दीवाने हैं भले ही दिवाला निकल जाए। अब फेसबुक लाखों लोगों की पसंद बन चुका लेकिन तरह तरह के हथकंडे अपना कर अपना उल्लू सीधा करने वाले अपनी निगाह इस पर कुछ ज़्यादा ही गड़ाए हुए हैं।

दरअसल इंटरनेट सुरक्षा संबंधी एक कंपनी Cyberoam ने Commtouch  के साथ मिल कर अपनी तिमाही समीक्षा जारी करते हुए आगाह किया है कि आजकल फ्रेंड रिक्वेस्ट के नाम पर लोगों को चूना लगाया जा रहा है। लोग अपने आप को अकलमंद समझें लेकिन सामने आए फ्रेंड रिक्वेस्ट पर क्लिक करते देर नहीं लगाते, वे ये भी नहीं देखते कि अगला है कौन?

दुष्ट प्रवृति वाले कोड लेखक अब जान गए हैं कि मानवीय कमजोरी के साथ, फेसबुक का जुनून उन्हें कैसे लाभ पहुँचा सकता है।

 

facebook-banking-trojan-bspabla
इस मामले में फ्रेंड रिक्वेस्ट पर क्लिक किए जाने के बाद एक बैंकिंग ट्रोजन अपना काम शुरू कर देता है। इसके अलावा लाईक बटन का भी अपना कमाल है। इन दोनों तरीकों में दुष्टों को उस उपयोगकर्ता की साख का फायदा भी होता है जिसे वह ललचाते हैं लाईक कर या मित्रता निवेदन कर मुफ़्त के उपहारों के लिए, जिसे पाने की चाहत में कुछ शर्तें पूरी करनी होती हैं। जैसे कि अपना पता, फोन नम्बर बताते हुए  एक खास फेसबुक प्रोफ़ाईल को लाईक कीजिए या 100 लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजिए। नतीजतन पहचान चुराने का एक ऐसा दुश्चक्र जो संक्रमण की तरह फैलता जाता है्।

संभलिए यह साइबर हमला भी हो सकता है।

आप भी तो नहीं शामिल इनमें?

लेख का मूल्यांकन करें

फेसबुक की Friend Request कर दे ना बंटाधार!” पर 9 टिप्पणियाँ

  1. बढ़िया जानकारी दी है …वैसे मैं फेस बुक का उपयोग बहुत कम करता हूँ अतः बचा रहूँगा !.
    हार्दिक शुभकामनायें !
    टिप्पणीकर्ता सतीश सक्सेना ने हाल ही में लिखा है: लड़कियों का घर ? – सतीश सक्सेनाMy Profile

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ