ब्लॉगस्पॉट की दसवीं सालगिरह पर अब तक के कथित उपहार

पिछले दिनों ब्लॉगर के नाम से प्रचलित ब्लॉगस्पॉट ने दसवीं वर्षगांठ मनाई। इसके पहले इसके कर्ताधर्ता गूगल ने कई उपहार, सुविधायों के रूप में देने की घोषणा की है। अब तक सामने आये कथित उपहारों में ऐसा कुछ उल्लेखनीय नज़र नहीं आता जिसे लेकर हर्ष हो।

नए पोस्ट एडीटर में चाहे जो हो किन्तु देवनागरी सहित भारतीय भाषायों के लिप्यांतरण, transliteration की सुविधा नहीं है। कुछेक कार्य सुविधाजनक कर दिए गए हैं जबकि कुछ में कटौती की गई है।

सबसे ऊपर आने वाले नेवीगेशन बार में ब्लॉग को अपने खाते के द्वारा, ट्विटर, फेसबुक जैसी सामाजिक नेटवर्क वाली वेबसाईट्स पर साझा करने की सुविधा शायद कम ही पसंद की जाए क्योंकि ब्लॉगस्पॉट के अपने टेम्प्लेट्स के अतिरिक्त अन्य सजावटी टेम्पलेट्स में यह नेवीगेशन बार लगभग छुपाया ही जाता है।

लेबल क्लाऊड जैसी सुविधा भी तब नापसंद की जाएगी जब हजारों की तादाद वाले लेबल के ब्लॉगों को जगह की तंगी होगी अपने टेम्प्लेट पर। लेबल की सूची में पहले भी हिंदी के शब्द दिखते थे, जो अभी भी अपना स्थान बनाए हुए हैं। यह सुविधा फिलहाल अनाकर्षक लग सकती है उन आकर्षक त्रिआयामी चलते-फिरते सीमित स्थान में समा जाने वाले विज़ेट के सामने, जो बेहतरीन टेम्पलेट वाले ब्लॉगों पर लगे हुए हैं।

फिर भी आइए एक जायजा लिया जाए इनका


नए पोस्ट एडीटर को सक्रिय करने के लिए सेटिंग्स Settings से बेसिक Basic पर जा कर सबसे नीचे Upadated Editor को चुनकर सहेज लें Save कर लें अब देखिए

  1. बेहतर दिखने वाला टूलबार
  2. अक्षरों के रंग संयोजन की सुविधा बढ़ी है
  3. वाक्यांशों के पार्श्व के रंग चुनने को सुविधा जनक किया गया है।
  4. चित्रों को किसी स्थान पर ले जाने या आकार छोटा बड़ा करने के कार्य को सुविधाजनक किया गया है, किन्तु एक साथ 5 चित्रों को अपलोड करने की सुविधा छीन ली गई है।
  5. लिंक लगाए जाने का कार्य सुगम किया गया है
  6. प्राथमिक HTML संबंधित समस्याओं का समाधान किया गया है
  7. पोस्ट का समय प्रदर्शन वही होगा जब वह प्रदर्शित होगी, न कि जब उसको प्रारम्भ करने की तिथि
  8. पोस्ट का पूर्वालोकन लगभग असल जैसा दिखने का प्रबंध
  9. पोस्ट एडीटर की ऊँचाई कम-ज़्यादा की जा सकती है।
  10. सफारी 3 ब्राऊज़र पर पूर्ण समर्थन

लेबल क्लाऊड के बारे में हिन्दी ब्लॉग टिप्स पर एक पोस्ट द्वारा बताया जा चुका है।

नेवीगेशन बार से किसी ब्लॉग को साझा करने के लिए आपका संबंधित सामाजिक नेटवर्किंग वेबसाईट पर खाता होना ज़रूरी है, जहाँ लॉगिन कर आप संबंधित ब्लॉग को, अपने परिचितों से बांट सकते हैं।

यही हैं अब तक के कथित उपहार।

आपका क्या कहना है?

लेख का मूल्यांकन करें

ब्लॉगस्पॉट की दसवीं सालगिरह पर अब तक के कथित उपहार” पर 16 टिप्पणियाँ

  1. यह तो काफी अपग्रेडेशन है! मुझ जैसे तकनीकी बुद्धुओं को तो समझते देर लगेगी !

  2. बहुत अच्छी जानकारी है। वैसे ब्लागर पर कुछ न कुछ सुविधा जुड़ती ही रहती है। हम भले ही उसे पहली या दसवीं सालगिरह से जोड़ें। हमें तो एडसेंस का इंतजार है।

  3. आस लगाये बैठे हैं कि ब्लॉग की कमाई से पहला चेक कब आयेगा।…. 🙂

  4. आपने जानकारी तो बहुत बढिया दी,लेकिन हम जैसे अग्यानियों को समझने में अभी थोडा ओर समय लगेगा!!!

  5. पोस्ट एडीटर की ऊँचाई कम-ज़्यादा की जा सकती है

    बस यही पसंद आया

    वीनस केसरी

  6. पाठ के पार्श्व रंग चुनने की सहजता देकर ब्लॉगर ने अच्छा किया । मुझे यह सुविधा अच्छी लगी । सुविधाजनक है बहुत कुछ । आभार ।

  7. पढ़ कर समझें..तब तक आभार तो ले ही लीजिये..!!

  8. ओह ..सर मैं तो सोच रहा था कि अबकी गुल्लक मिलेगा जहां कुछ पैसे जमा होंगे….चलिये …अगली डी ए का इन्तजार करते हैं..

  9. जी हाँ लिप्यान्तरण कुछ ब्राउजर में काम करता है कुछ में नहीं . गूगल क्रोमा में ही नहीं काम कर रहा है . बादल भी उड़ नहीं रहे थमे से हैं 🙂

  10. मेरे विचार से सुविधाएं भले ही बहुत उन्नत नहीं हों, लेकिन स्वागतयोग्य ज़रूर हैं। हर नई चीज़ ब्लॉगिंग के अनुभव को सुखद जरूर बनाती है.. भले ही हम उन्हें इस्तेमाल करें या न करें। इन सभी की संकलित जानकारी देने का आभार.. हैपी ब्लॉगिंग

  11. पाबलाजी, आपके मुंह में घी-शक्कर.. मुझे पता ही नहीं था कि मेरा ब्लॉग प्रिंट मीडिया में भी आ चुका है…बड़े भाई की तरह आगे भी मुझे गाइड करते रहेंगे…ऐसी आशा ही नहीं छोटे भाई की तरह ये मेरा आप पर हक बनता है…रही बात लड्डू-शड्डू की तो आपके मीठे बोलों का राज मुझे पता चल गया

  12. बू हू हू हू… आपने ब्लौग एडिटर का लिंक नहीं दिया मतलब आप मेरा दूसरा चिट्ठा नहीं पढ़ते हैं.. 🙁

    वैसे आपने अधिक अच्छे से और विस्तार से सभी कुछ समझाया है.. 🙂

  13. आप अपने कारखाने मे इतनी मेहनत करते है , आप्की मेहनत को सलाम -शरद कोकास

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ