ब्लॉग फीड अपडेट नहीं हो रही या खाता नहीं बन रहा? इलाज़ है यहाँ

पिछले महीने जब हिंदी ब्लॉगजगत में यह विवाद छिड़ा हुआ था कि जाने-अनजाने ब्लॉगर साथियों को ईमेल भेज कर अपना ब्लॉग पढ़वाया जाए कि नहीं? तो उस समय एक पोस्ट इस ब्लॉग पर डाली गई थी कि ब्लॉग पढ़वाने के लिए ईमेल क्यों भेजना? … इसमें फीडबर्नर का खाता बना कर उसकी एक सुविधा से लाभ उठाने की जानकारी दी गई थी। उस समय राजीव तनेजा जी ने सम्पर्क कर बताया था कि वे फीडबर्नर का एकाऊंट बनाने की कोशिश कर रहें हैं किन्तु हर बार असफलता हाथ लग रही। उनके द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर, समस्या का निराकरण किया गया लेकिन उसके बाद से कुछ और साथियों ने वही शिकायत की। इसके पहले भी कई ब्लॉगर साथियों की फीड अपडेट न होने की समस्या भी थी। तो सोचा कि एक पोस्ट लिखकर ही बता दिया जाए।
एकाऊंट बनाने के लिए जैसा कि बताया गया था कि
1- फीडबर्नर की साईट पर जाएँ, अपनी जीमेल की आईडी/ पासवर्ड डालें। यदि जीमेल की आई डी नहीं है तो पहले फीडबर्नर में अपना खाता बनाएँ

2- सामने खुले पृष्ठ पर Burn a feed right this instant के नीचे अपने ब्लॉग का URL डालें, Next पर क्लिक करें


किन्तु इस समस्या में निचले चित्र जैसा कुछ लिखा हुया आता है कि Error getting URL: 502 – Source feed is too large … maximum size is 512K. इसका मतलब यह होता है कि आपके ब्लॉग की फीड का आकार 512KB से अधिक है। गूगल ने भी यह साफ बताया हुया है कि फीडबर्नर की सीमा 512KB की है और जब तक आकार इससे कम नहीं होगा, फीड अपडेट नहीं होगी/ खाता नहीं बनेगा! इस आकार की सीमा में उसमें लगे चित्र, मीडिया या अन्य लिंक शामिल नहीं हैं। मोटे तौर पर यह सीमा संतोषजनक है लेकिन कई बार फीड में ढ़ेरों लेख व लम्बी-लम्बी पोस्ट लिखे जाने पर यह समस्या आ खड़ी होती है।
अब इसका इलाज देखा जाए। चाहे आप नया खाता बना रहे हों या फीड अपडेट ना होने की समस्या से ग्रस्त हों। पहले चित्र में इंगित किए गए स्थान में, जहाँ आपके ब्लॉग का URL या फीड का पता लिखा जाता है ( जैसे http://blogbukhar.blogspot.com/feeds/posts/default) वहाँ लिखिए http://blogbukhar.blogspot.com/feeds/posts/default?max-results=3 (वैसे max-results 1 से 500 तक कुछ भी हो सकते हैं, जो फीड में आपके ब्लॉग की फीड संख्या प्रदर्शित करता है) blogbukhar के बदले आपका ब्लॉग आएगा
इतना करने के बाद, यदि आप खाता बना रहे हैं तो इस पोस्ट के अनुसार आगे बढ़ें, अगर फीड अपडेट न होने की समस्या है तो Save कर लें, सहेज लें। आपकी समस्या सुलझ गई अब!
मूल कारण तो आप समझ ही गए होंगे। लम्बी लम्बी पोस्ट लिखकर, फीड में पोस्टों की संख्या अधिक हो जाने पर यह समस्या आ सकती है। अब चाहे वो फुर्सत से लिखी गई पोस्टें हों या ढ़ेरों चिट्ठों की चर्चा या फिर उपन्यासनुमा लेख!
अब आप कहेंगे की कैसे नापा जाए आकार को? तो भई, अगली पोस्ट के लिए भी कुछ छोड़ना चाहिए ना!
आपका इस समस्या से पाला पड़ा ही होगा?
लेख का मूल्यांकन करें

ब्लॉग फीड अपडेट नहीं हो रही या खाता नहीं बन रहा? इलाज़ है यहाँ” पर 16 टिप्पणियाँ

  1. बहुत बेहतर जानकारी, मगर आजकल ब्लॉग जगत में मैंने एक और चर्चा सुरु की है जो बहुत ही सानदार है | जिसका विषय है ब्लॉग कोना ने छीन लिया है अखबारों से पाठक कोना,जो बहुत ही जरुरी है। और हा आप कभी हमारे गलियों में भी आईये ॥
    "
    हम उनके गलियों से गुजरे तो नजारा अजीब था
    दर्द भी दिखा मगर वो दिल के करीब था
    जिसे दुढ़ते थे अपनी हाथो की रेखाओ में वो
    किसी दुसरे की किस्मत और नशीब था ||

  2. अच्छी जानकारी है उन सभी मित्रों के लिए जो इस समस्या से दो चार हैं.

  3. हम भी बहुत लम्बी-लम्बी पोस्ट हाँका करते हैं, लेकिन शायद अभी गूगल बाबा और बर्नर बाबा की मेहरबानी से हमारी फ़ीडबर्नर ठीक-ठाक चल रही है, और 400 से अधिक सब्स्क्राइबर होने के बावजूद अब तक पाठकों की शिकायत कभीकभार ही आई है, और जब भी आई है, वह शिकायत अपने-आप दूर भी हो गई, सर जी, हम तो कम्प्यूटर तकनीक के मामले में अनपढ़ हैं… फ़िर भी किस्मत से गूगल बाबा हम पर फ़िलहाल मेहरबानी बनाये हुए हैं… 🙂 जिस दिन कोई समस्या आयेगी, रात को 2 बजे भी आपसे फ़ोन पर सलाह मांग लेंगे… 🙂 आपके होते हम अंगूठा छापों को क्या डर…

  4. भांति भांति के बुखार हैं ब्लॉग जगत में। आपके जैसा डाक्टर बहुत जरूरी है जी! 🙂

  5. ब्लाग बुखार के ब्लाग डॉक्टर को बधाई!

  6. अभी तक तो सब ठीक ठाक ही है़। जब दिक्कत आई तो फिर आप किस लिए हो:)

  7. बढिया तरीके से दी गई महत्तवपूर्ण जानकारी

  8. पाब्ला जी मैं सोच ही रहा था कि कई दिन हो गये ब्लोग्स पल्स पोलियो डे नहीं आया..चलिये आज फ़िर मिल गये दो बूंद जिंदगी के..कोशिश करके देखेंग…नहीं तो ..हमें कौन सा आपसे अप्वाईंट्मेंट लेना है..जब मन होगा ….?

  9. आपकी पोस्ट को अच्छी कहने का मन है लेकिन मेरे पास कोई डिग्री नहीं इसलिए झिझक हो रही है कहीं कोई सर्टिफिकेट न माँग बैठे,

    रिस्क ले ही लेता हूँ,

    बहुत अच्छी है यह पोस्ट 🙂

  10. @ विवेक सिंह
    (ब्लॉग) बुखार तो सभी को चढ़ता है, चाहे वह डिग्री धारी हो या नहीं।

    निश्चिंत रहिए, हमसे भले ही कोई मांग ले सर्टिफिकेट इस विषय पर, यहाँ आने वालों से तो मांगने वाला कोई नहीं!

    बी एस पाबला

  11. वाह जी वाह , यह ब्लाग तो बहुत काम का है— अपने delicious.com खाते में इसे जोड़ लिया है। बहुत ही बढ़िया लगा —इतने बढ़िया ढंग से सब बातें समझाई जा रही है, लेकिन अपनी मजबूरी देखिये कि समय न होने के कारण इतने दिनों के बाद यह सब पता चल रहा है।
    चलिये, फिर भी —जब जागो, तभी सवेरा.
    बहुत बहुत शुभकामनायें, पाबला जी।

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ