भारत के इन अनजान टेलीफोन नंबरों से कौन पुकार रहा मुझे?

मैंने अपने बीएसएनएल नंबर वाले मोबाइल पर यह प्रबंध कर रखा है कि अनजान नंबरों से कोई कॉल नहीं आ सकती। केवल उन्ही को मोबाईल में घंटी बजाने की अनुमति है जिन्हें मैंने अपनी फोनबुक में शामिल किया हुआ है। यह सब उस हैंडसेट में स्थापित किए गए एक सॉफ्टवेयर से संभव होता है।

मेरे द्वारा उपयोग किए जा रहे दूसरे हैडसेट वाले रिलायंस जीएसएम नंबर पर ऎसी कोई बंदिश नहीं है। कॉल करने की अनुमति है तो है नहीं है तो नहीं है 🙂 इस हैंडसेट को इसलिए भी संभाल रखा है कि इसमें अंग्रेजी, हिंदी, पंजाबी, बंगाली, गुजराती सहित कुल आठ भाषायों में एसएमएस लिखे पढ़े जा सकते हैं, फोन के मेन्यू भी इन्हीं भाषायों के हो सकते हैं।

अब होता यह है कि रिलायंस नंबर पर टेलीमार्केंटिंग वाले परेशान किए रहते हैं। रोज नए नए नंबरों से कॉल करते हैं। मैं भी कभी धोखे से इन्हें रिसीव कर लेता हूँ तो तुरंत उस नबर को Not to Receive के नाम वाले और एक अलग रिंग टोन वाले समूह में सहेज लेता हूँ ताकि अगली बार उस नंबर से कोई रिंग आए तो देख सुन कर ही उसकी अवहेलना की जा सके।

हाल ही में एक शाम ऑफिस से घर पहुंचा और आदत अनुसार दोनों लैंडलाइन जाँचे कि हमारी अनुपस्थिति में कौन- कौन सी कॉल आईं। अपने कम्प्यूटर कक्ष वाले लैंडलाइन पर आए दो नंबर देख कुछ चौंका क्योंकि वह नंबर अजीब से थे +9114015….. +9114095….

एक नज़र में यह दिल्ली के नंबर लगे। लेकिन भारत के अंतर्राष्ट्रीय कोड 91 को अलग कर कोशिश की तो किसी शहर का कोड लगा 140. जांच की तो भारत के किसी स्थान का नहीं निकला। जबरन इसे किसी देश से जोड़ने की कोशिश की तो 144 वाला बरमुदा तो निकला लेकिन 140 वाला कोई ना मिला।

चाय पीते हुए उलझन में ही था कि रिलायंस नंबर की घंटी बजने लगी नंबर चमका +9114095…. जब तक निर्णय कर पाता उसे रिसीव करने का तब तक मोबाईल खामोश। पलट कर कॉल किया तो कम्प्यूटर जी बोलने लगे कि आपको अनुमति नहीं है इस नंबर पर बात करने की

सुपुत्र, गुरूप्रीत को बुलवाया गया। उसके भी सभी फोनबुक छनवा दिए लेकिन ऐसा कोई नंबर ना निकला।

telemarketing bspabla

दूसरे दिन ऑफिस में बीच मीटिंग दौरान फिर वही नंबर! अरे ये किसका नंबर है? फटाफट कमरे से बाहर निकल रिसीव किया उसे तो कानों में मीठी सी आवाज़ पड़ी ‘गुड मॉर्निंग! एम स्पीकिंग फ्रॉम स्टेट बैंक लाईफ… ‘ उफ़! झट से फोन काट कर बडबडाते हुए वापस हो लिया कमरे में।

अरे जब इन्होने बीच मीटिंग में भारत के वित्त मंत्री रहे चिदंबरम महाशय को आसान किस्तों वाले ऋण का लालच दे डाला था और मुकेश अंबानी को सस्ते होम लोन का सपना दिखा डाला तो हम किस खेत की मूली हैं 😀

लेकिन दूरसंचार क्षेत्र से जुड़े होने के कारण मेरे मन में एक सहज जिज्ञासा उठ खडी हुई कि यह कौन सी नई सीरीज आ गई भारत में जिसकी शुरूआत 1 से हो रही है। 100 पुलिस का है, 101 फायर ब्रिगेड का, 102 एंबुलेंस का,  वगैरह वगैरह. इसका अंत तब हुआ जब  TRAI की एक 53 पृष्ठों वाली  अधिसूचना को पलटा गया।

पता चला कि वाणिज्यिक टेलीमार्केटिंग सेवाओं वालों को अब अपने टेलीफोन नंबरों के पहले 1 से 7 तक का अंक लगाना ज़रूरी है। इन अंकों से उनकी कार्य श्रेणी जानी जा सकती है। वे इस तरह हैं:

  1. Banking/Insurance/Financial products/credit cards
  2. Real Estate
  3. Education
  4. Health
  5. Consumer goods and automobiles
  6. Communication/Broadcasting/Entertainment/IT
  7. Tourism and Leisure

इस पर भी एक पाबंदी है कि सुबह 9 से रात 9 तक ही आपको यह कॉल कर सकते हैं या एस एम एस भेज सकते हैं। अब कोई चाहे तो पहला अंक देख कर ही निर्णय ले सकता है कि ऎसी कॉल का ज़वाब दिया जाए कि नहीं या अपनी पसंदीदा क्षेत्र वाली कॉल के अलावा बाक़ी सबको रुकवा दे 1909 पर रजिस्ट्रेशन करवा कर।

तब जा कर तसल्ली हुई कि भारत के इन अनजान टेलीफोन नंबरों से कौन पुकार रहा है मुझे?

आपको कोई पुकारता है इस तरह?

भारत के इन अनजान टेलीफोन नंबरों से कौन पुकार रहा मुझे?
5 (100%) 1 vote

भारत के इन अनजान टेलीफोन नंबरों से कौन पुकार रहा मुझे?” पर 45 टिप्पणियाँ

  1. ज्ञानवर्धक और दिलचस्प जानकारी . रोचक प्रस्तुतिकरण .आभार .धनतेरस और दीवाली की अग्रिम बधाई और शुभकामनाएं .

  2. उम्दा जानकारी के लिए धन्यवाद, अब दिमाग का दूध, दही नही बन पाएगा।

  3. ऊपर के कुछ पैराग्राफ को पढ़ कर सोचा की इसका जवाब तो मैं दे सकता हूँ…. पर आपने तो पहले ही मालूम कर लिया है… 🙂

  4. सहज और सरल यही है कि अनजान नंबरों को रिसीव ही न करें,तेली मार्केटिंग वालों से सख्ती से बात करें कि उनकी शिकायत TRAI से की जाएगी !

    वैसे आपने सॉफ्टवेर लगा रखा है पर मेरा नंबर तो आपकी फोनबुक में न होने के बावज़ूद आपने उठा लिया था !इसका मतलब,कॉल आनी बंद नहीं हैं !

    दिवाली की असीम शुभकामनाएँ !
    टिप्पणीकर्ता संतोष त्रिवेदी ने हाल ही में लिखा है: धरती माता ,जागो जागो !My Profile

    • :Ssshh:

      याद कीजिए
      आप जिन शुरूआती चार कॉल्स में असफल हुए थे वह मेरा तीसरा नंबर था
      फिर पलट कर मैंने बीएसएनएल से कॉल किया था कि किसका नंबर है
      और आपके आग्रह पर उस पर तुरंत ही सहेज लिया गया था आपका नंबर

      दीपावली पर्व की शुभकामनाए आपको भी

  5. एक बार फ़िर से बहुत ही काम की जानकारी दी आपने सर । अब यही उपाय हम भी अपनाएंगे । ससुरों ने खून पी रखा है सच में ही
    टिप्पणीकर्ता अजय कुमार झा ने हाल ही में लिखा है: जो तुम रिपब्लिक तो हम पब्लिक हैं बाबूMy Profile

  6. जी सर दुखी तो हम भी थे इन नम्बरों के जंजालो से … पर अब काफी कम हो गए है ऐसे फोन आने … और जो कभी कोई आ जाता है … तो उसको बड़े ही ‘प्यार’ से समझा भी देते है कि आगे से फोन ना करे !
    टिप्पणीकर्ता Shivam Misra ने हाल ही में लिखा है: धनतेरस की शुभकामनाएंMy Profile

  7. ट्राई बहुत कोशिश कर रहा है, टेलिफ़ोन कंपनियों पर लगाम कसने की और साथ ही विज्ञापनबाजी पर भी। खैर आपके इस अनुभव से हमने बिना अनुभव लिये सीख लिया ।
    टिप्पणीकर्ता विवेक रस्तोगी ने हाल ही में लिखा है: त्योहारों पर वास्तविक छूट या उपभोक्ताओं के साथ छल (Sale on Festival Season…)My Profile

  8. जितनी उन्नत तकनीक उतने अधिक लफ़डे- इसलिए लैंडलाइन ही काफ़ी है हमारे लिए 🙂

  9. हमने तो एक दिन उनकी बातों पर जम कर लपेटा था.. अंत में तो यहाँ तक कह डाला कि छोडो भी जान ये सब लोन वोन की बात, मैं तो खुद बैंक में काम करता हूँ… ये बताओ कल क्या कर रही हो.. मेरी छुट्टी है, बरिस्ता में मिलें!! और रेस्ट इज हिस्ट्री!!
    वैसे ९१ को हटाकर १४० शायद जोधपुर या उदयपुर का एस.टी.डी. कोड है!!
    टिप्पणीकर्ता सलिल वर्मा ने हाल ही में लिखा है: माँ सुन्दर होती हैंMy Profile

    • :Roses-are-red:

      वाह सर जी
      आप तो बड़े वो निकले!

      वैसे हिस्ट्री कोई मिस्ट्री तो नहीं है ना?

      141 जयपुर का कोड है और 142 से शरू होता है पंजाबा के दसुआ का इलाका और 143 है टोंक का
      लेकिन मुआ 140 कहीं का नहीं
      तभी तो अब 11, 12 अंकों के होने जा रहे सभी मोबाइल और लैंडलाइन नंबर

  10. 140 सीरीज़ वाले फ़ोन काल्स ने हमें भी बहुत पकाया, देर सवेर असलियत समझ आ ही गई। अपने को तो दो तीन इंटरनेशनल नंबर्स से भी गाहे बगाहे (ISD code 92) से मिस्ड काल आते हैं, एक या दो घंटी बजती हैं और फ़ोन कट जाता है, कॉल बैक हमने भी कभी नहीं किया।
    आपने तो खैर अब पूरा खुलासा ही कर दिया।
    हैप्पी दीपावली।
    टिप्पणीकर्ता संजय @ मो सम कौन? ने हाल ही में लिखा है: ’द वैरी बैस्ट कस्टमर सर्विस’My Profile

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ