भूकंप और एंड्राइड एप्पस

एंड्राइड एप्प्स द्वारा भूकंप की मॉनिटरिंग और चेतावनी किस तरह प्राप्त की जाए, इसकी जानकारी देता लेख

पिछले हफ्ते जब नेपाल का भूकंप आया तो उस समय मैं गहरी नींद सो रहा था. नींद से उठने बाद मुझे तो फेसबुक से समझ आया कि भूकंप आ चुका. तभी मुझे याद आया कि मोबाइल चीख तो रहा था भूकंप! भूकंप!! लेकिन नींद के मारे मैंने दो फुट दूर रखे मोबाइल उठा कर मामला देखने की ज़हमत नहीं की.

वैसे तो यह ऑफिस में जब संकेत देता है तो सहकर्मी भी जिज्ञासा प्रकट करते हैं कि कहाँ आया भूकंप का झटका? लेकिन उस दिन मैं अवकाश पर था और नींद के मारे आलस कर गया.

इस बात का ज़िक्र जब मैंने फेसबुक पर किया तो कई मित्रों का आग्रह था कि इन भूकंप वाले एप्पस पर थोड़ा और विवरण दिया जाए जिससे होने वाले नुकसान से किसी हद तक बचा जा सके.

दरअसल मैं अपने एंड्राइड आधारित मोबाइल हैंडसेट पर तीन तरह के एप्प्स का उपयोग करता हूँ. पहला Earthquake Alert तो मुझे अपनी बताई तीव्रता, क्षेत्र, समय सीमा में आ चुके भूकंप की चेतावनियाँ दिखाता रहता है, उस क्षेत्र  के भूकंप का मानचित्र दिखाता है और सारी दुनिया से भूकंप की खबरें दर्शाता है.

भूकंप मॉनिटर
Earthquake Alert एप्प की झलकियाँ

 

दूसरा एप्प Earthquake Alerter Free इसी पहले का पूरक है जो भूकंप की सूचना प्राप्त करते ही मोबाइल की बीप्स से सावधान करता है, वाईब्रेट होता है, रोशनी की चमक बिखेरता है.

इन दोनों एप्प्स मुफ्त हैं और वांछित परिणाम पाने के लिए मोबाइल का इंटरनेट से जुड़ा होना आवश्यक है. क्योंकि इन्हें सारा डाटा United States Geological Survey से प्राप्त होता है.

भूकंप चेतावनी
Earthquake Alerter Free एप्प की झलकियाँ

 

तीसरा एप्प Vibration meter मैं तभी इस्तेमाल करता हूँ जब मोबाइल कुछ समय के लिए शांत रखा हुआ हो. इस एप्प को सक्रिय करते ही मोबाइल हैंडसेट एक संवेदनशील भूकंपमापी यंत्र में बदल जाता है. जैसे कोई सिस्मोग्राफ हो ऐसे ही यह अपनी सतह के कंपनों को लगातार दर्शाता रहता है और जैसे ही अनुमानित तीव्रता मेरी बताई सीमा पार करती है वैसे ही इसकी चीख पुकार शुरू हो जाती है.

चलते फिरते, हाथ में पकडे, जेब मं रखे, कार के डैशबोर्ड पर पड़े मोबाइल पर इसे सक्रिय रखे जाने पर इसकी आवाजें बंद नहीं होती. क्योंकि यह इतना संवेदनशील है कि हाथ के कंपन तक को रिकॉर्ड करता है.

भूकंप मापक यंत्र
Vibration meter एप्प

इसलिए मैंने इसे स्थाई रूप से एक ऐसे पुराने अनुपयोगी एंड्राइड हैंडसेट में भी स्थापित किया जो चुपचाप घर में एक जगह शांत पड़ा रहता है. इसके लगातार सक्रिय रहने की वजह से बैटरी की खपत कुछ ज़्यादा ही होती है इसलिए बैटरी चार्जर से भी जोड़ रखा.

अब भले ही मेरी जेब का मोबाइल इंटरनेट से ना जुड़ा हो, भले ही भूकंप चीन में आये या जापान में, भले ही मैं नींद में रहूँ या बाथरूम में. लेकिन घर पर पड़ा मोबाइल वातावरण में, जमीन में आये कंपन की सूचना दे ही देता है.

यह एप्पस वास्तविक कार्य करने वाले हैं और उन्हीं मोबाइल्स पर काम करते हैं जिनमें Accelerometer हों. जो कि आजकल सस्ते एंड्राइड मोबाइल में भी होता है.

बेशक, एंड्राइड फोन्स के लिए दसियों ऐसे एप्प हैं गूगल प्ले पर लेकिन मुझे यही सबसे बेहतरीन लगे.

अगली बार सावधान रहेंगे ना आप भी?

भूकंप और एंड्राइड एप्पस
5 (100%) 1 vote

8 comments

  • उस दिन की आप के स्टेटस से पता लग गया था कि आप का फोन केवल नाम का स्मार्ट नहीं है।

  • बहुत अच्छी जानकारी दी है आपने.अब तो यह अपने स्मार्टफोन में रखना ही पड़ेगा.
    टिप्पणीकर्ता Rajeev Kumar Jha ने हाल ही में लिखा है: सोप-ऑपेरा की दुनियांMy Profile

  • Shiv Kumar Dewangan says:

    बड़ी अच्छी जानकारी आपने दी है. पर इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए मुझे और इंतज़ार करना पड़ेगा. क्योंकि मेरे पास एंड्राइड की सुविधा वाला स्मार्ट फ़ोन नहीं है.

  • chander kumar soni says:

    सलाह दीजिये की =
    इन तीनो में से मुझे कौनसा एप डालना चाहिए.
    क्या गैर-एंड्राइड मोबाइल्स के लिए भी कुछ ऐसा उपाय मौजूद हैं.?
    धन्यवाद.
    चन्द्र कुमार सोनी

  • बी एस पाबला says:

    Smile
    कौन सा एप्प अपनाया जाए? ये तो अपनी ज़रूरत पर निर्भर है
    एंड्रॉइड में ही ऐसी सुविधाएँ मिलती हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
[+] Zaazu Emoticons Zaazu.com