मेरा ई-मेल एकाऊँट हैक हुआ: आपसे एक आग्रह

आजकल कई साथियों की शिकायत बनी हुई है कि मैं प्रिंट मीडिया पर ब्लॉग चर्चा को छोड़कर अपने ब्लॉगों पर नियमित नहीं लिख रहा हूँ। शिकायत अपनी जगह बिल्कुल सही है। आज भी यह छोटी सी पोस्ट नहीं लिख पाता अगर एक अप्रत्याशित घटना न हो गई होती।

हुया यह कि आज सुबह जब मैंने अपना ई-मेल खाता खोला तो उसी समय मेरे चेतावनी देने वाले सैनिकों ने सावधान किया कि यह ई-मेल एकाऊँट एक अनजानी जगह खोला गया है और वह अभी भी खुला हुआ है! मैंने सावधानी के तौर पर लॉग-आऊट किया और दूसरे ब्राऊज़र पर ई-मेल खाता पुन: खोला। वहाँ एक और नई चेतावनी मिली कि इस खाते को तीसरी जगह खोल लिया गया है तथा संबंधित व्यक्ति सक्रिय है!!

मैंने आनन-फानन में कुछ सेकेंड के भीतर ही पासवर्ड बदला और लॉग-आऊट कर गया।

सैनिकों से जब उन दोनों अनजान जगहों की जानकारी चाही गई तो बताया गया कि एक स्थान था दक्षिण कोरिया में, जहाँ मेरे ईमेल खाते को मोबाईल पर खोला गया तथा दूसरा स्थान था सऊदी अरब! दक्षिण कोरिया वाले घुसपैठिए का आईपी पता 121.164.209.170 था तथा सऊदी अरब वाले का आईपी पता था 94.99.54.121

हालांकि अभी तक तो किसी तरह की कोई अप्रिय बात का पता नहीं चला है, फिर भी यह पोस्ट लिख कर मैं अपने शुभचिंतकों से आग्रह करना चाहता हूँ कि मेरे ईमेल पते से कोई संदेहास्पद मेल भेजी गई हो या अन्य कोई बात हो तो कम से कम मुझसे सम्पर्क कर उसकी पुष्टि कर लें।

आज तो बस इतना ही

मेरा ई-मेल एकाऊँट हैक हुआ: आपसे एक आग्रह
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

मेरी वेबसाइट से कुछ और ...

मेरा ई-मेल एकाऊँट हैक हुआ: आपसे एक आग्रह” पर 39 टिप्पणियाँ

  1. इंटरनेट के इन खतरो से हमेशा सावधान रहना चाहिये । मुझे लगता है हमें नियमित अंतराल पर अपना पासवर्ड बदलते रहना चाहिये ।

  2. शुक्रिया सर, मैंने तो कोई एंटी वायरस डाल नहीं रखा है… इससे थोड़ी स्पीड कम हो जाती है… पर अब सोचता हूँ एंटी वायरस एक्टिवेट कर ही लूँ

  3. @ सैयद | Syed

    इस मामले मं एंटीवायरस कुछ नहीं कर पाता।

  4. अरे ये तो बड़ी अजीब बात है। ऐसा तो किसी के भी साथ हो सकता है। सावधान रहना होगा। लेकिन सावधान रहें कैसे?

  5. आप वीर हैं…कोई लाख चलाये तूफां-आंधी बढ़ता रहेगा पाबला जी का कारवां…वीर तुम बढ़े रहो…सैनिकों पूरी मुस्‍तैदी से डटे रहो।

  6. हमारे पास तो सैनिक भी नहीं हैं, यदि हैं भी तो वे कौन व कहाँ हैं, उन्हें आज्ञा कैसे देते हैं भी नहीं पता। 🙁
    घुघूती बासूती

  7. अब आपका भी ई मेल हैक हो गया तो बस कल्याण ही हो गया हमारा -हम तो बहुत डर गए हैं!

  8. आज सुबह जब मैंने अपना ई-मेल खाता खोला तो उसी समय मेरे चेतावनी देने वाले सैनिकों ने सावधान किया कि यह ई-मेल एकाऊँट एक अनजानी जगह खोला गया है

    सैनिक कौन हैं, कहाँ मिलते हैं, इनकी सेवाएँ कैसे ली जाएँ, ये सब बता दें तो पाठकों का बहुत भला हो.

  9. ई-मेल एकाऊँट हैक होना या पसवर्ड का हेक होना या करना बहुत आसान है, इस के लिये नये नये ओजार मिलते है नेट पर, लेकिन इस का खतरा तब बहुत होता है जब हम किसी दुसरे के पी सी पर या लेपटाप पर या किसी इंट्रनेट काफ़ी पर जाये तो,आगे रव राखा जी, धन्यवाद इस अच्छी सुचना के लिये

  10. गई भैंस पानी में….बादशाहो! हम तो आज ही आपसे अपनी एक बहुत ही गम्भीर समस्या के निवारण हेतु सम्पर्क करने वाले थे, लेकिन आप तो यहाँ खुद समस्या से उलझे हुए हैं…ले देकर एक आप ही का सहारा है महाराज्! आप ही फसं जाएंगें तो फिर हमें कौन निकालेगा!

  11. आपने बिलकुल सही और टाइमली आगाह किया है ब्लोगर्स को पाबला साहब , मेल के हैक होने का खतरा कैसे कैसे बनता है इसका एक उदाहरण मैं इस तरह भी दूंगा ! आजकल बहुत सी साइट्स पर किसी दोस्त के द्वारा आपको आमंत्रित किया जाता है आप वहाँ लोगिन करते है, उसके बाद वह साईट एक्टिवेट करने हेतु आपसे आपका इमेल लोगिन और पास वार्ड मांगता है,( जोकि नहीं मांगना चाहिए उसे कायदे से ) और अगर एक बार आपने लोगिन पासवर्ड दे दिया तो समझिये आपका मिल अकाउंट उनके कब्जे में है ! तो जहां तक हो ऐसे मेलों से बचे !

  12. पाबला जी नमस्कार
    नेट की हरकतों से ज्यादा वाकिफ नहीं हैं
    अच्छा किया आपने अवगत करा दिया.
    साभार

  13. ओह सर ये तो गजब हुआ ..मगर उससे भी गजब की बात तो ये है कि आज की तारीख में जब सारे सैनिक सानिया वाले मामले में उलझे हुए हैं आपके सैनिक मुस्तैद हैं फ़िर भी …सर कित्ता काम लेते हैं आप उनसे ..रुकिए ..सैन्याधिकार वालों को खबर करता हूं ..और फ़िर एक बात और भी है अब हैकर आपको ही तो पकडेंगे ..सारे डोमेन शोमेन तो आपने ही ले रखे हैं ..हमें क्या खाक हैक करेंगे ..खुद ही हाथ जोड के निकल लेंगे ऐसी ऐसी कविताएं पडी हैं मेल में ….
    अजय कुमार झा

  14. यह तो बेहद चिंताज़नक बात है।
    ज़रा हमें भी बताइये इससे सुरक्षा के उपाय।

  15. अगर एंटी वायरस कुछ नहीं कर पता है तो… रवि जी का सवाल मेरा भी है… सैनिक कौन हैं, कहाँ मिलते हैं, इनकी सेवाएँ कैसे ली जाएँ ?

  16. ऐसा लगता है यह हमला गूगल पर खासकर जीमेल पर किया गया है . कल जब मैंने लॉगिन करना चाहा तो वार्निंग मिली की यह कोई मिलताजुलता साइट है सावधान रहें .गूगल ने एक नया सिस्टम लगाया है जो आपके खाते को किसी सुदूर जगह से लॉगिन करने पर वार्निंग देता है .

    जीमेल के पेज में नीचे देखें तो तो आपके खाते की गतिविधियों के बारे में जाना जा सकता है .यह ऐसा दिखता है .

    Last account activity: 4 hours ago at IP 59.95.129.188. Details

    इसी तरह कुछ ब्लॉगों में जो लिंक जुड़े रहते हैं वो भी खतरनाक हो सकते हैं इसलिये लिंको का इस्तेमाल सोच समझ के करें .

  17. बड़े काम के हैं आपके सैनिक, पाबला जी!

    हमें भी ऐसे सैनिक दिलवाइये ना!

  18. एक वार्निंग मैसेज देखिये
    जनोकती वाले ध्यान दे
    Warning: Visiting this site may harm your computer!
    The website at janokti.blogspot.com contains elements from the site raksingh.blogspot.com, which appears to host malware – software that can hurt your computer or otherwise operate without your consent. Just visiting a site that contains malware can infect your computer.
    For detailed information about the problems with these elements, visit the Google Safe Browsing diagnostic page for raksingh.blogspot.com.
    Learn more about how to protect yourself from harmful software online.

  19. रवि जी की बात को ध्यान में रखकर कुछ बताया जाए।

  20. वो क्या कहते हैं कि बीमार होने से अच्छा है कि पहले उसके उपाय कर लिये जायें. अत: हमारा अकाऊंट बीमार हो उसके पहले ही आप तो कोई अच्छा सा टीका (सुर्क्षा उपाय ) लगवा दो उसको.

    रामराम.

  21. वसीम वरेलवी याद आ रहे है –
    मै इस यकीन पे डूबा कि तुम बचा लोगे
    अब इस्के बाद मेरा इम्तहान क्या लोगे

    अब तो

    राम ही राम बचाये
    हैकर दूर भगाए

  22. वसीम वरेलवी याद आ रहे है –
    मै इस यकीन पे डूबा कि तुम बचा लोगे
    अब इस्के बाद मेरा इम्तहान क्या लोगे

    अब तो

    राम ही राम बचाये
    हैकर दूर भगाए

  23. ये तो कमाल हो गया जी,
    तुहाडा ई मेल अकाउंट हैक हो गया,
    साडा की होऊगा, मैनु ते एही सोच पै गई जी,
    होशियार रहवांगै। नवी फ़ौज भर्ती करांगे।

  24. आप लोग जिसके पास सैनिक हैं वे पता तो लगा लेते हैं कि कहाँ हैक हुआ है. हम जैसों का क्या?

  25. shukriya pabla ji
    bahut hi kaam ki jankari di………….magar mere blog par to blogvani hi nhi khul raha kai din ho gaye kya karoon uske liye kuch samajh nahi aa raha.

  26. आपके साथ यह होगया तो मेरा क्या होगा …….वैसे हम है ही क्या जो हमे कोई हैक करेगा

  27. तकनीक के मामले में पाबलाजी को कुछ बताना ऐसा ही होगा जैसे सूरज को दिया दिखाना…

    हां, पाबला जी के सैनिकों के लिए एक अच्छा नाम दिमाग में आ रहा है…अखिल भारतीय पंगा सेना (ABPS)

    जय हिंद…

  28. मेरे ट्विटर पेज पर एक ऐसी ट्विट दिखायी दे रही थी जो मेरी नहीं थी। ट्विटर ने मेरे पासवर्ड को निष्क्रिय कर उसे बदलने का निर्देश दिया। मैंने थोड़ा विलंब से ही सही लेकिन वैसा ही किया। अब ठीक है।

  29. हे भगवान ! अब अपनी सेना के कुछ सिपाही इधर भी भेज दीजिए जो कम से कम सायरन अलार्म तो बजाएं

  30. सही है, आपके सैनिक तो मुस्तैद खड़े हैं । हमारा क्या होगा ?
    बहुत सावधानी की जरूरत है ।

  31. महोदय,

    पिछले कई दशक से हमारे समाज में महिलाओं को पुरुषों के बराबर का दर्जा देने के सम्बन्ध में एक निर्थक सी बहस चल रही है. जिसे कभी महिला वर्ष मना कर तो कभी विभिन्न संगठनो द्वारा नारी मुक्ति मंच बनाकर पुनर्जीवित करने का प्रयास किया जाता रहा है. समय समय पर बिभिन्न राजनैतिक, सामाजिक और यहाँ तक की धार्मिक संगठन भी अपने विवादास्पद बयानों के द्वारा खुद को लाइम लाएट में बनाए रखने के लोभ से कुछ को नहीं बचा पाते. पर इस आन्दोलन के खोखलेपन से कोई भी अनभिज्ञ नहीं है शायद तभी यह हर साल किसी न किसी विवादास्पद बयान के बाद कुछ दिन के लिए ये मुद्दा गरमा जाता है. और फिर एक आध हफ्ते सुर्खिओं से रह कर अपनी शीत निद्रा ने चला जाता है. हद तो तब हुई जब स्वतंत्र भारत की सब से कमज़ोर सरकार ने बहुत ही पिलपिले ढंग से सदां में महिला विधेयक पेश करने की तथा कथित मर्दानगी दिखाई. नतीजा फिर वही १५ दिन तक तो भूनते हुए मक्का के दानो की तरह सभी राजनैतिक दल खूब उछले पर अब १५ दिन से इस वारे ने कोई भी वयान बाजी सामने नहीं आयी.

    क्या यह अपने आप में यह सन्नाटा इस मुद्दे के खोख्लेपर का परिचायक नहीं है?

    मैंने भी इस संभंध में काफी विचार किया पर एक दुसरे की टांग खींचते पक्ष और विपक्ष ने मुझे अपने ध्यान को एक स्थान पर केन्द्रित नहीं करने दिया. अतः मैंने अपने समाज में इस मुद्दे को ले कर एक छोटा सा सर्वेक्षण किया जिस में विभिन्न आर्थिक, समाजिक, राजनैतिक, शैक्षिक और धार्मिक वर्ग के लोगो को शामिल करने का पुरी इमानदारी से प्रयास किया जिस में बहुत की चोकाने वाले तथ्य सामने आये. २-४०० लोगों से बातचीत पर आधारित यह तथ्य सम्पूर्ण समाज का पतिनिधित्व नहीं करसकते फिर भी सोचने के लिए एक नई दिशा तो दे ही सकते हैं. यही सोच कर में अपने संकलित तथ्य आप की अदालत में रखने की अनुमती चाहता हूँ. और आशा करता हूँ की आप सम्बंधित विषय पर अपनी बहुमूल्य राय दे कर मुझे और समाज को सोचने के लिए नई दिशा देने में अपना योगदान देंगे.

    http://dixitajayk.blogspot.com/search?updated-min=2010-01-01T00%3A00%3A00-08%3A00&updated-max=2011-01-01T00%3A00%3A00-08%3A00&max-results=6
    Regards

    Dikshit Ajay K

  32. पाबला जी, माइक्रोसाफ्ट की साइट फिर नहीं खुल रही..मैंने पिछली बार तो रजिस्ट्री एडिट कर और एक वार्म हटाने से काम चल गया था, लेकिन इस बार वह प्रोसेस याद भी नहीं रह गयी. बड़ी दिक्कत हो रही है, कोई साल्यूशन बतायें..

  33. @ भारतीय नागरिक – Indian Citizen

    संभवत: किसी तरह का Malware आपको तंग कर रहा है

    लेकिन पहले इसे आजमाएँ
    http://www.microsoft.com/protect/terms/hijacking.aspx
    http://support.microsoft.com/kb/842242
    रिबूट करें

    बात न बनें तो इसे आजमाएँ
    http://www.malwarebytes.org/mbam.php
    अपडेट कर इस्तेमाल करें
    रिबूट करें

    साथ ही , बाद में इसे उपयोग करें
    http://www.iobit.com/advancedwindowscareper.html
    रिबूट करें

    अब भी बात न बनें तो पुन: सम्पर्क करें, मेरे ईमेल पर

  34. हा हा

    सभी साथी, सैनिक माँग रहे तैनाती के लिए!!

    दिक्कत यह है कि यह सब सैनिक भुगतान वाले हैं। मुफ़्त में सेवा देने वाला कोई नहीं 🙁

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons