रोबोट चलाएगा अब कार को, इसी वर्ष हीथ्रो हवाई अड्डे पर चलने लगेंगी

आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आप गाडी चला रहे हैं और आपके पीछे कोई शानदार सी कार बिना ड्राइवर के दौड़ी चली आ रही हो। आज यह सोच कर कोई भी सिहर जाएगा, लेकिन 10 वर्ष बाद यह नजारा आम हो जाएगा। कम से कम रोबोटिक्स पर शोध कर रहे विशेषज्ञों का तो यही मानना है।

ब्रिटेन की रॉयल एकेडमी ऑफ इन्जीनियरिंग की ओर से ‘ऑटोनॉमस सिस्टम्स’ शीर्षक से जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि बिना ड्राइवर के स्वचालित वाहन, लेजर राडार, वीडियो कैमरा और सैटेलाइट की मदद से सडक पर चल रहे वाहनों और पैदल लोगों के बारे में जानकारी हासिल किया करेंगे। रिपोर्ट के सह-लेखक और साउथैम्पटन विश्वविद्यालय के प्रोफेसर विल स्टीवर्ट के मुताबिक उच्च तकनीक का इस्तेमाल करने वाले ड्राइवर रहित ट्रक व कारों की वजह से सडक दुर्घटनाओं में भी काफी कमी आएगी।

पिछले सप्ताह पेश किए गए ड्राइवर रहित पर्सनल रैपिड ट्रान्सपोर्ट व्हीकल (PRTV) कुछ समय बाद हीथ्रो की सडकों पर दौडना शुरू कर देंगे। ये एक प्रकार की ड्राइवर रहित कारें होंगी, जो 25 मील प्रति घण्टा की रफ्तार से विशेष रूप से इनके लिए बनाई गई सडकों पर चलेंगी। ये ड्राइवर रहित वाहन, लेजर राडार और कैमरों के इस्तेमाल से ट्रैफिक की जानकारी प्राप्त करेंगे। ये जेब्रा क्रॉसिंग, सडके के गड्ढों आदि को देखकर निर्णय लेने में माहिर होंगे।


(इसी वर्षांत में हीथ्रो हवाई अड्डे पर चलने वाली इन रोबोट चलित कारों की एक परिकल्पना का वीडियो)

इन रोबोट चलित वाहनों के नफे नुकसान यहाँ पढ़े जा सकते हैं, कुछ आलोचना यहाँ मिलेगी। कुछ भारी भरकम आकार के (3 MB से अधिक) सम्बंधित चित्र यहाँ मिलेंगे। बेहद दिलचस्प तकनीकी जानकारियाँ भी उपलब्ध हैं। अगर आप इन्हें डिज़ाइन करने की क्षमता रखते हैं तो हुनर दिखाने में देर ना करें अपना डिज़ाइन,  प्रतियोगिता में भेजने के लिए पंजीकरण करवाएँ।  अधिक जानकारी के लिए यहाँ देखिए।

अब क्या कहें कल की दुनिया के बारे में! करीब डेढ़ साल पहले यहीं लिखा गया था कि ड्राईवर को कार बताएगी कि आगे खतरा है लेकिन अब तो कार खुद ही चलेगी!

लेख का मूल्यांकन करें

रोबोट चलाएगा अब कार को, इसी वर्ष हीथ्रो हवाई अड्डे पर चलने लगेंगी” पर 12 टिप्पणियाँ

  1. धरती पर प्रगति की यह रफ़्तार देख यह पृथ्वी वासी मोगाम्बो खुश हुआ !

  2. सर..एगो रोबोट ..बस चलाने वाला भी बनवाइये न….फ़िर उसको यहां भेज दें..उससे ब्लू लाईन बस चलवायेंगे…कम्बख्तों ने यहां आतंक फ़ैला रखा है..
    गज़ब है……… कल की दुनिया का नज़ारा ..

  3. अरे यह तो हमारे यहा कई सालो से चल रही है, ओर आज से दस साल पहले BMW or M B ने भी आम सडको पर चलने के लिये बिना ड्राईवर के कार बनाने का प्रयोग किया जो फ़ेल हो गया था, यानि कार तो बन गई, ओर चली भी… लेकिन जब उस के केमर पर गण्दगी लग जाती तो.. कठिनाई होती थी
    धन्यवाद

  4. सही कहा भाटिया जी ने,
    यूरोप के कई हवाई अड्डों पर ऐसी बसें चलती हैं। पहली बार जब हम बैठे थे इसमे तो बड़ा अजीब लगा था कि ड्राइवर आया ही नहीं और बस चल दी, जब कि वो चला दी गयी थी 🙂

  5. पाबला जी ,
    प्रणाम |
    शुभकामनायो के लिए बहुत बहुत धन्यवाद |
    प्रिंट मीडिया पर ब्लॉग चर्चा पर मेरे ब्लॉग को लेने के विचार पर बहुत बहुत आभार |
    मेरे ब्लॉग http://burabhala.blogspot.com/ पर आप का स्वागत है कृपया अपने विचार वहां भी दें |

    सादर
    शिवम् मिश्रा

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ