बुजुर्गों, महिलाओं के लिए एक बढ़िया मोबाईल हैंडसेट

तेजी से बदलते सामाजिक ढाँचे और एकल परिवार के प्रचलन के बीच किसी भी समस्या के निदान के लिए अब तकनीक का मुंह ताका जाना सामान्य बात हो चली है. परिवार में कोई वरिष्ठ नागरिक हो तो समस्या के निदान की ओर गंभीरता से ध्यान देना और भी ज़रूरी हो जाता है. ऐसा भी कुछ मेरे साथ भी हुया

गुरूप्रीत चला गया और परिवार में रह गए हम दो जने, मैं और पिता जी. ऑफिस में रहता ज़रूर था लेकिन घर पर निशक्त हो चले पिता के ख्याल से एकाग्रता ही नहीं हो पाती थी. घर के अंदर और बाहर दो दो आईपी कैमरे लगा दिए. इनकी सहायता से पिता जी की खैरियत गाहे-बेगाहे अपने मोबाईल पर चलते फिरते देख लेता था.

आई पी कैमरों से मिल रही हलचल को देख पाना हर समय संभव नहीं. पिता जी से बात कर निश्चिंत हो जाने की सोची तो पाया कि घर का लैंडलाईन फोन तो एक निश्चित स्थान पर रहता है और कोई ज़रूरी नहीं वे हमेशा उठ कर फोन रिसीव करने आयें या कभी ज़रूरत आ पड़े तो वहां तक पहुँच पाना ही संभव ही ना हो उनके लिए, तो? तब ध्यान गया मोबाईल हैंडसेट की ओर.

iball-aasaan-bspabla

तलाश शुरू हुई एक हैण्डसेट की. घर पर पुराने पड़े मोबाईल देखे गए, बाज़ार के चक्कर भी लगाए गए लेकिन बात नहीं बनी. टचस्क्रीन वाले मोबाईल देने का तो सवाल ही नहीं उठता. जो भी मोबाईल पिता जी को दिया गया उनमें सबसे बड़ी मुसीबत थी अंकों वाले बटनों का बेहद छोटा होना. उन्हें आसानी से दिखता ही नहीं था कि कहाँ 1 लिखा है कहाँ 7 .

दूसरी समस्या आई कि जेब में कागज़ पर लिख कर रखे गए 10 अंकों वाले नंबरों को देख कर डायल करना उन्हें सहज नहीं लगता था और फिर नंबरों के बाद बाक़ी बटन भी तो दबाने होते हैं!

तब ध्यान आया कि कुछ माह पहले एक न्यूजलेटर में वरिष्ठ नागरिकों को ध्यान में रख कर बनाए गए हैंडसेट्स की जानकारी थी. ई-मेल खंगाली गईं. ई-बे पर उन्हें तलाशा गया. संतुष्ट होने पर खरीदा गया. और जब उसमे सिम कार्ड लगाकर पिता जी को उसकी खूबियाँ बताई गईं तो कुछ ही मिनटों में उनकी स्वीकृति मिल गई. आज भी उस मोबाईल के सहारे वे मुझसे जुड़े रहते हैं.

यह मोबाईल हैण्डसेट है iBall Aasaan. इसमें एक तरफ का बटन दबा कर बिना ईयरफोन के, स्पीकर पर ही एफ एम रेडियो सुना जा सकता है. तो दूसरी तरफ का एक बटन दबा कर ही टॉर्च जलाई जा सकती है. नंबरों वाले बटन इतने बड़े हैं कि बड़ी आसानी से बिना चश्मे के नज़र आ सकते हैं.

पिता जी को इसका वह फीचर पसंद आया जिसमें * और # के बटन्स पर एक पुरूष और स्त्री के चिन्ह बने हैं. उन्हें मैंने अपने मोबाईल नंबर और बिटिया के मोबाईल के लिए चिन्हित कर दिया है. अब बस इनमे से एक बटन दबाते ही रिंग जाने लगती है

iball5c (2)

लेकिन मुझे इसकी वो खूबी पसंद है जो सामान्य मोबाईल हैंडसेट में नहीं मिलती. इस मोबाईल हैंडसेट के पीछे नारंगी रंग का एक स्विच दिया गया है जिसे नीचे की और खिसका कर ‘ऑन’ किया जा सकता है.

ऑन करते ही, आस-पड़ोस के लोगों का ध्यान खींचता ऊंची आवाज़ में एक तीखा पुलसिया सायरन बजने लगता है, पहले से निर्धारित किये गए अधिकतम 5 टेलीफोन/ मोबाईल नंबरों पर एक साथ वो एस एम एस चले जाता है जो हमने पहले से हिंदी/ अंग्रेजी में लिखा हुया है. साथ ही साथ उन्हीं नंबरों पर रिंग जानी भी शुरू हो जाती है.

iBall-Aasaan-bspablaअब उन पांच व्यक्तियों में से किसी एक ने भी कॉल रिसीव कर ली तो इस मोबाईल का सायरन बंद, बाकियों को रिंग जानी बंद और स्पीकरफोन शुरू. जिससे मोबाईल धारक के हाथ पाँव काम ना भी कर रहे हों तो भी बातचीत हो सके.

और अगर किसी ने भी कॉल रिसीव नहीं की तो 3 मिनट बाद फिर सभी पाँचों को एस एम एस जाना शुरू, रिंग जानी शुरू, सायरन तो बजता ही रहेगा. ऐसा तीन बार दोहराया जाएगा.

अब इतनी तो उम्मीद की जा सकती है कि किसी ने कॉल रिसीव ना की तो मिस्ड काल और एस एम एस देख कर वापस कॉल कर ही लेगा या फिर सायरन से सावधान हुए आस-पास के लोग कुछ तो मदद करेंगे.

सोने पर सुहागा तो इसकी बैटरी की ताकत है जो बिना चार्ज किये 10 दिन तक चल जाती है

हालांकि 3000 रूपयों से कम कीमत का यह एक सीधा सादा फोन है बिना किसी तामझाम के, लेकिन इसी कंपनी का दूसरा फोन भी है iBall Arpan बुजुर्गों के लिए जिसमे उपरोक्त खूबियों के साथ साथ कैमरा, जी पी आर एस, ब्लूटूथ जैसी सुविधाएं हैं.

इसके अलावा अन्य कंपनियों के भी फोन हैं जो बुजुर्गों सहित महिलायों के भी आपातकालीन सहयोगी हो सकते है. लेकिन उनका बाज़ार में मिलना मुश्किल ही होगा.

अब पिता जी खुश हैं इस मोबाईल से तो मैं क्यों ना कुछ निश्चित रहूँ?

बुजुर्गों, महिलाओं के लिए एक बढ़िया मोबाईल हैंडसेट
5 (100%) 3 votes

बुजुर्गों, महिलाओं के लिए एक बढ़िया मोबाईल हैंडसेट” पर 27 टिप्पणियाँ

  1. बढ़िया जानकारी है. एक और फीचर दखा मैंने आजकल के सेट्स में कि जिसे फोन लगाना हो उसका नाम उच्चारित करने भर से नो. डायल हो जाता है .

  2. घर में अकेले रहने वाले बुजुर्गों के लिए सच में बहुत मददगार मोबाइल है ये। आपने बहुत ही उपयोगी जानकारी दी है।

  3. क्या डिस्प्ले में फॉण्ट साइज भी बड़ा है? बुजुर्गों को बड़ टैक्स्ट आकार वाला फोन सुविधाजनक रहता है।
    टिप्पणीकर्ता ePandit ने हाल ही में लिखा है: UMI X2 – क्वाड कोर प्रोसैसर तथा २ जीबी रैम युक्त ५ इंची फुल ऍचडी स्मार्टफोन भारत में जारी @₹१४,०००My Profile

    • श्रीश जी
      अगर की-पैड के नंबर 8 मिलीमीटर की ऊंचाई वाले हैं तो डिस्पले वाले फोंट 5 मिलीमीटर के हैं
      डिस्प्ले 3 लाईन्स का है

  4. यह मोबाइल तो अपनों के लिए बहुत काम का है। जिनकी हमे चिंता लगी रहती है। धन्यवाद सर ऐसी जानकारी मुहैया कराने के लिए। 🙂

    नये लेख :- समाचार : दो सौ साल पुरानी किताब और मनहूस आईना।
    एक नया ब्लॉग एग्रीगेटर (संकलक) : ब्लॉगवार्ता।
    टिप्पणीकर्ता HARSHVARDHAN ने हाल ही में लिखा है: राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर विशेष : रमन प्रभाव।My Profile

  5. वाह, वाकई बढ़िया हैंडसेट है. आईबाल के कुछ और बढ़िया प्रोडक्ट हैं. एक खासतौर पर उनके लिए बताना चाहूंगा जो प्रजेन्टेशन देत रहते है. रिमोट प्रजेन्टर. इसे मैं प्रयोग करता हूँ, और यह भी वाकई बढ़िया है.

  6. ये वाकई बेहतरीन जानकारी है. इस प्रकार के फ़ोन वास्‍तव में ही समय की आवश्‍यकता हैं.

  7. बहुत ही बढ़िया जानकारी.
    धन्यवाद.
    (बहुत पहले पढ़ चुका हूँ ये पोस्ट लेकिन कमेंट आज किया हैं, सॉरी.)
    चन्द्र कुमार सोनी

  8. बहुत ही अच्छा लगा आप की यह जानकारी से भरपूर पोस्ट देख कर…..आप का लेख पढ़ कर अब अच्छे से समझ आ जाता है। ईश्वर आप सब को सदैव फिट एंड फाइन रखे।
    आप की बातें पढ़ कर ऐसे ही लगा कि आप हम सब की बातें कर रहे हैं जी।
    धन्यवाद, इतनी सुंदर जानकारी के लिए। इतनी अच्छी जानकारी और कहां से मिल पाती।

  9. पाबला जी, इस फ़ोन की ज़रूरत पड़ी तो आज इस पोस्‍ट को ढूंढता हुआ फि‍र आया. 🙂 धन्‍यवाद.
    टिप्पणीकर्ता काजल कुमार ने हाल ही में लिखा है: कार्टून :- नई टोपी आई है मुलाहि‍जा फ़रमाइए.My Profile

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ