हम ब्लॉगर्स, कविताएं/ चर्चा/ एक दूसरे की खिंचाई या बढ़ाई के अलावा कुछ नहीं करते?

‘ब्लोगिंग आप भी करते है और मै तथा मेरे जैसे और भी करते है, पर सही बात यही है कि हम सभी यहाँ या तो भड़ास निकालते है या फ़िर इधर उधर की कविताएं, चर्चा, आपस में एक दूसरे की खिंचाई या बढ़ाई के अलावा कुछ नहीं करते… ‘ पंगेबाज की इस टिप्पणी से लगा कि जिस विचारोत्तक पोस्ट को मैं मगन हो कर पढ़ चुका हूं, उसकी प्रतिकिया यही हो सकती है और यही हो सकती है। निश्चित तौर पर एक बेहतरीन पोस्ट लगी मुझे, सुरेश चिपलूनकर जी की एक सकारात्मक और प्रेरणादायी पोस्ट।

यदि आपके पास समय हो, तो ही इसे पढ़ियेगा, क्योंकि यह टाइम पास वाला मामला नहीं है। फिर भी लगता है कि, शायद आपने भी पढ़ी होगी, यह ब्लॉग पोस्ट!

हम ब्लॉगर्स, कविताएं/ चर्चा/ एक दूसरे की खिंचाई या बढ़ाई के अलावा कुछ नहीं करते?
लेख का मूल्यांकन करें
Print Friendly, PDF & Email

मेरी वेबसाइट से कुछ और ...

हम ब्लॉगर्स, कविताएं/ चर्चा/ एक दूसरे की खिंचाई या बढ़ाई के अलावा कुछ नहीं करते?” पर 14 टिप्पणियाँ

  1. निश्चय ही सुरेश जी की वह पोस्ट अत्यन्त प्रेरणादायी व सकारात्मक निर्देश लिये हुए है. निर्विकार होकर प्रासंगिक, श्रेष्ठ व सन्दर्भ योग्य प्रविष्टियां तो निरन्तर ही सुरेश जी लिखा करते हैं. उन्हें पढ़ना अपने आप में कम महत्वपूर्ण नहीं.

    प्रविष्टि के लिये धन्यवाद.

  2. कम्बख्त सुरेश दिल से सोचता है दिमाग से नहीं.
    लेकिन ये दुनियां नापतौल कर हिसाब से चलने वालों की है यहां दिल से सोचने वालों का क्या काम?

  3. आशा है कि द्विवेदी जी नकारात्मक ऊर्जा को स्पष्ट करेंगे और उसे दूर करने के उपाय भी बतायेंगे, ताकि नतीजा सिफ़र से कुछ आगे बढ़ सके, मैं तो उनकी उम्र के सामने बच्चा हूँ, शायद उनके मार्गदर्शन से कोई फ़ायदा हो जाये…

  4. पावला साहब मेरे यहां यह बांलग तो खुलता है, लेकिन लेख नही आ रहा, मै ति सुरेश जी का हर लेख पढता हू, यानि इन का प्रेमी हुं.
    धन्यवाद

  5. @ Suresh Chiplunkar
    धन्यवाद, सुरेश जी।
    मेरी समझ थी कि आप यही प्रश्न अवश्य करेंगे। पहले तो इस टिप्पणी को लिखने के बाद मिटा देना चाहता था। लेकिन फिर कुछ सोच कर उसे रहने ही दिया।
    मैं समय मिलने पर शीघ्र ही अपनी समझ के अनुसार अवश्य ही इसे स्पष्ट करने का यत्न करूंगा।

  6. आपकी रचनाधर्मिता का कायल हूँ. कभी हमारे सामूहिक प्रयास ‘युवा’ को भी देखें और अपनी प्रतिक्रिया देकर हमें प्रोत्साहित करें !!

इस लेख पर कुछ टिप्पणी करें, प्रतिक्रिया दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
[+] Zaazu Emoticons