हिन्दी ब्लॉगिंग में आया भूकम्प, देखिए चपेट में आने वालों की सूची

दो दिन पहले 20-21 सितम्बर 2010 की मध्य रात्रि से कुछ पहले हिन्दी ब्लॉगिंग क्षेत्र में कुछ हलचलें होनी शुरू हुई तो मुझे भी अंदाज़ नहीं था कि यह सब कुछ ऐसे भूकम्पों में बदल जाएगा जिसे कम से कम मैं तो आजीवन याद रखूँगा। हालांकि यह भूकम्प एक के बाद एक आए और इनका स्थान अलग अलग था किन्तु जैसे जैसे समय बीतता गया इनकी क्षमता तीव्र होते गई तथा फिर इनने काफी बड़े क्षेत्र पर अपना प्रभाव दिखाया।

सैकड़ों ब्लॉगरों ने इन क्षणों में अपनी अपनी भावनाएँ व्यक्त की। बहुतेरे, स्थापित लोग कुछ अधिक ऊँचाई वाले क्षेत्रों की ओर चले गए और विस्फारित नेत्रों से इन हलचलों को देखते रहे। आने वाले समय का जिन लोगों को पूर्वाभास हो गया था, वे घोषणा करते हुए पहले ही इस क्षेत्र से पलायन कर गए। कुछ तो स्तब्ध हो मूक ही रह गए।

फिर भी, बहुत बड़ा निर्लिप्त क्षेत्र इन हलचलों से अछूता दिखा। वहाँ की दिनचर्या सामान्य ही पाई गई। विशेषज्ञों ने आशंका व्यक्त की है कि आने वाले वषों में इस तरह के भूकम्पों की संख्या, तीव्रता बढ़ सकती है तथा कुछ नए क्षेत्र भी इनकी चपेट में रहेंगे।

अभी तक ज्ञात भूकम्पों की सूची कुछ इस प्रकार है:

पास पड़ोस
बुरा-भला
मेरी दुनिया मेरे सपने
ललितडॉटकॉम
झा जी कहिन
Communiqué Analysis
नुक्कड़
मेरी दुनिया मेरा जहां
ब्लॉग 4 वार्ता
http://blog4varta.blogspot.com/2010/09/4_22.html

हमारे रिकॉर्डरों ने इन भूकम्पों से प्रभावित होने वाले सैकड़ों हिन्दी ब्लॉगरों की सूची बनाई है, जिनमें जाने-अनजाने नाम शामिल हैं। कुछ अभी लापता बताए जाते हैं। कुछ अभी सदमें की स्थिति में होने के कारण अपना नाम नहीं बता पा रहे। कुछ बेनामी भी मिले हैं, उनकी पहचान की जानी अभी बाकी है। स्थिति स्पष्ट होते ही सूची में कुछ नाम और जोड़े भी जा सकते हैं।

नाम, स्थान, समय (24 घंटे का प्रारूप) व तारीख इस प्रकार हैं:

विनय शर्मा (फेसबुक पर) 10:54 -20 सितम्बर
जाकिर अली (मोबाईल पर) 15:15 -20 सितम्बर
शरद कोकास (मोबाईल पर) 00:00 -21 सितम्बर
अनिता कुमार (मोबाईल पर) 00:06 -21 सितम्बर
गुरूप्रीत 00:20 -21 सितम्बर
तुलसीभाई पटेल (फेसबुक पर) 00:20 -21 सितम्बर
समीर लाल (मोबाईल पर) 00:32 -21 सितम्बर
शरद कोकास (ईमेल पर) 00:35 -21 सितम्बर
रश्मि रविज़ा (पास पड़ोस में) 00:55 -21 सितम्बर
शिवम मिश्रा (पास पड़ोस में) 00:55 -21 सितम्बर
खुशदीप सहगल (पास पड़ोस में) 00:59 -21 सितम्बर
कीर्तिश भट्ट (फेसबुक पर) 01:02 -21 सितम्बर
तुलसीभाई पटेल (ईमेल पर) 01:05 -21 सितम्बर
शुभम मंगला (फेसबुक पर) 01:07 -21 सितम्बर
जोगेन्द्र सिंह (फेसबुक पर) 01:11 -21 सितम्बर
शिवम मिश्रा (ऑर्कुट पर) 01:25 -21 सितम्बर
आशीष मिश्रा (बुरा भला में) 01:26 -21 सितम्बर
आशीष मिश्रा (ऑर्कुट पर) 01:33 -21 सितम्बर
संजीत त्रिपाठी (मोबाईल पर) 01:39 -21 सितम्बर
राज भाटिया (ईमेल पर) 01:40 -21 सितम्बर
राजेन्द्र स्वर्णकार (ईमेल पर) 03:22 -21 सितम्बर
कविता वाच्क्नवी (फेसबुक पर) 03:25 -21 सितम्बर
राजेन्द्र स्वर्णकार (पास पड़ोस में) 03:47 -21 सितम्बर
अरविन्द मिश्रा (ज़िंदगी के मेले में) 04:39 -21 सितम्बर
Batchmates.Com (ईमेल पर) 04:40 -21 सितम्बर
आशा जोगलेकर (हिन्दी ब्लॉगरों के जनमदिन में) 05:15 -21 सितम्बर
समीर लाल (ज़िंदगी के मेले में) 05:21 -21 सितम्बर
रंजन मोहनोत (फेसबुक पर) 05;44 -21 सितम्बर
NetLog (ईमेल पर) 05:59 -21 सितम्बर
अविनाश वाचस्पति (पास पड़ोस में) 06:14 -21 सितम्बर
एम वर्मा (मेरी दुनिया मेरे सपने में) 06:21 -21 सितम्बर
अजय झा (जीटाक चैट संदेश) 06:25 -21 सितम्बर
पद्म सिंह (पास पड़ोस में) 06:42 -21 सितम्बर
बेजी जेसन (फेसबुक पर) 06:30 -21 सितम्बर
अजय झा (फेसबुक पर) 06:34 -21 सितम्बर
संगीता पुरी (मेरी दुनिया मेरे सपने में) 06:52 -21 सितम्बर
सुरेश चन्द्र गुप्ता (फेसबुक पर) 06:53 -21 सितम्बर
संगीता पुरी (ज़िंदगी के मेले में) 06;53 -21 सितम्बर
सुनील कुमार (मेरी दुनिया मेरे सपने में) 06:56 -21 सितम्बर
ललित शर्मा (मोबाईल पर) 07:01 -21 सितम्बर
रतन सिंह शेखावत ( ) 07:02 -21 सितम्बर
राजीव तनेजा ( ) 07:03 -21 सितम्बर
अजय झा (झा जी कहिन में) 07:06 -21 सितम्बर
ललित शर्मा (पास पड़ोस में) 07:07 -21 सितम्बर
रतन सिंह शेखावत (ज़िंदगी के मेले में) 07:07 -21 सितम्बर
Suman (मेरी दुनिया मेरे सपने में) 07:09 -21 सितम्बर
Dr.J.P.Tiwari (मेरी दुनिया मेरे सपने में) 07:17 -21 सितम्बर
हरकीरत ‘हीर’ (SMS संदेश) 07:18 -21 सितम्बर
राजीव तनेजा (पास पड़ोस में) 07:20 -21 सितम्बर
विवेक शर्मा (पास पड़ोस में) 07:22 -21 सितम्बर
प्रवीण त्रिवेदी (झा जी कहिन में) 07:30 -21 सितम्बर
ललित शर्मा (झा जी कहिन में) 07:34 -21 सितम्बर
डॉ टी एस दराल (मेरी दुनिया मेरे सपने में) 07:35 -21 सितम्बर
चला बिहारी ब्लॉगर बनने ( ) 07:35 -21 सितम्बर
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (पास पड़ोस में) 07:36 -21 सितम्बर
ललित शर्मा (ज़िंदगी के मेले में) 07:36 -21 सितम्बर
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (पास पड़ोस में) 07:36 -21 सितम्बर
पद्म सिंह (झा जी कहिन में) 07:37 -21 सितम्बर
डॉ टी एस दराल (ज़िंदगी के मेले में) 07;39 -21 सितम्बर
सुरेश चिपलूनकर (ज़िंदगी के मेले में) 07:39 -21 सितम्बर
प्रकाश बादल (फेसबुक पर) 07:40 -21 सितम्बर -21 स

लेख का मूल्यांकन करें

62 comments

  • रंजन says:

    बड़े लोग चपेट में आ गए.. बाढ़ के बाद भूकंप… क्या होगा.. हिंदुस्तान का.. 🙂

  • ललित शर्मा says:

    ये बहुत ही तगड़ा भूकंप का झटका है रिएक्टर स्केल पर भी नहीं नापा जा सका…………सारे मीटर ही उड़ा ले गया……
    राहत कार्य युद्ध स्तर पर चलने पड़ेगे……राहत सामग्री के लिए एम् आई ८ हेली कॉप्टर लगा दिए गए हैं……पूरी एक ब्रिगेड को बुला लिया गया……….फावड़े बेलचों की कमी पद गयी है………अति शीघ्र भेजें……कुछ हावर चापर की भी जरुरत है………मौसम विभाग के अनुसार सुनामी भी आने की संभावना है……..जिसमे कईयों के बह जाने का खतरा है……….:)

  • Vivek Rastogi says:

    सही है… 🙂

  • संगीता पुरी says:

    सचमुच बहुत लोग चपेट में आ गए !!

  • राजीव तनेजा says:

    पाबला दा ग्रेट…
    श्रीमती जी शिकायत कर रही हैं कि ….उनका नाम काहे नहीं दिया? 🙂

  • डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) says:

    आँकड़े जुटाने में बहुत परिश्रम किया है!

    एक बार पुन: बधाई!

  • Ratan Singh Shekhawat says:

    वाह जी ! अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |
    एक बार पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ 🙂

  • बी एस पाबला says:

    @ राजीव तनेजा जी

    जैसा कि मैंने लिखा था कि कुछ लोग अभी भी लापता हैं, इस संदर्भ में भाभी द ग्रेट, संजू तनेजा के बारे में सूचना हेतु आपका आभार.

    आटोमेटिक रिकॉर्डरों द्वारा हुई गलती को कान पकड़ कर सुधार लिया गया है 🙂

  • खुशदीप सहगल says:

    ये भिलाई के स्टील प्लांट से उठा पाबला चक्रवात था, जिसने प्यार की घनघोर बरसात करते हुए हर ब्लॉगर का तन-मन भिगो दिया…

    वैसे बाइ-द-वे, याद पये करेंदे ओ, या झटके दे दे के जान पये कडेंदे ओ…

    जय हिंद…

  • Rahul Singh says:

    किसी जानकार से उल्‍था-टीका करानी पड़ेगी कि कोई दुर्घटना है या इ-चुटकुला.

  • ajit gupta says:

    अजी यह प्रेम का झटका था, जो सभी के दिलों से जुडा था बस इसका केन्‍द्र बिन्‍दु पाबला जी थे। किसी राजनेता के पास सूची भेज दीजिए उसके वास्‍तव में भूकम्‍प आ जाएगा हा हा हा हा। स्‍नेह‍ बनाए रखें।

  • Arvind Mishra says:

    हे भगवान् एक मछली कैसे इस सुनामी से जान बचा बचा कर भागती रही है -अब जाकर राहत आई है !

  • seema gupta says:

    जोर का झटका हा हा हा हा बहुत खूब
    regards

  • दीपक 'मशाल' says:

    अरे बाप रे… गिन कर आता हूँ अभी कितनी बधाइयां मिलीं.. 😛

  • जी.के. अवधिया says:

    जोर का झटका धीरे से…

  • महेन्द्र मिश्र says:

    बहुत जोरदार झटका है……उम्मीद अगले वर्ष कुछ नए अंदाज में आयेगा….

  • पी.सी.गोदियाल says:

    बेलेटेड हैप्पी बर्थडे,पाबला जी, !

  • आशीष मिश्रा says:

    इतना बड़ा भुक्म्प …………… सिस्मोग्राफ से भी मापना मुश्किल था…………..लेकिन आप ने तो माप ही लिया.
    वैसे कितने रिएक्टर पैमाने पर था.

  • Raviratlami says:

    हमारी भी बधाई स्वीकारें!
    और सुनामी लाने वालों में नाम जोड़ें 🙂

  • shikha varshney says:

    ऐसे भूकंप बार बार आयें 🙂

  • गजेन्द्र सिंह says:

    बहुत अछे पाबला जी …..हम तो दो बार चपेट में आ गये …
    अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |
    एक बार पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ

    पढ़े और बताये कि कैसा लगा :-
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_22.html

  • गजेन्द्र सिंह says:

    बहुत अछे पाबला जी …..हम तो दो बार चपेट में आ गये …
    अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |
    एक बार पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ

    पढ़े और बताये कि कैसा लगा :-
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_22.html

  • गजेन्द्र सिंह says:

    बहुत अछे पाबला जी …..हम तो दो बार चपेट में आ गये …
    अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |
    एक बार पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ

    पढ़े और बताये कि कैसा लगा :-
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_22.html

  • गजेन्द्र सिंह says:

    बहुत अछे पाबला जी …..हम तो दो बार चपेट में आ गये …
    अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |
    एक बार पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ

    पढ़े और बताये कि कैसा लगा :-
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_22.html

  • गजेन्द्र सिंह says:

    बहुत अछे पाबला जी …..हम तो दो बार चपेट में आ गये …
    अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |
    एक बार पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ

    पढ़े और बताये कि कैसा लगा :-
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_22.html

  • गजेन्द्र सिंह says:

    बहुत अछे पाबला जी …..हम तो दो बार चपेट में आ गये …
    अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |
    एक बार पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ

    पढ़े और बताये कि कैसा लगा :-
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_22.html

  • गजेन्द्र सिंह says:

    बहुत अछे पाबला जी …..हम तो दो बार चपेट में आ गये …
    अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |
    एक बार पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ

    पढ़े और बताये कि कैसा लगा :-
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_22.html

  • गजेन्द्र सिंह says:

    बहुत अछे पाबला जी …..हम तो दो बार चपेट में आ गये …
    अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |
    एक बार पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ

    पढ़े और बताये कि कैसा लगा :-
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_22.html

  • सलीम ख़ान says:

    कल 24 सितम्बर है ! कल को सिर्फ़ कल की ही तरह देखें…ठीक उस कल की तरह जो बीते कल में आज को देखा था…! हम कल ऐसे हालात से गुज़रेंगे जिसमें हमें सिर्फ़ एक ही चीज़ को दर्शाना बेहद ज़रूरी है… और वो है … संयम और सब्र ! अगर हम ऐसा ना कर पाए तो देश एक फ़िर से 60 साल पीछे चला जाएगा. क्या हम चाहेंगे कि हमारे सब्र और संयम ना रख पाने की वजह से आने वाली पीढ़ी हमें गलियां दे… जैसे कि हम उनको कहते हैं जो हमारे पूर्वज थे जिनके बेहद गिरे हुए फैसलों ने हमें आजतक शर्मशार किया हुआ है. हमें किंचित मात्र भी जज़्बाती होने की ज़रूरत नहीं, और अगर आप वाक़ई जज़्बाती होना चाहते हैं तो देशहित में जज़्बाती होईये !

  • anitakumar says:

    इस भूकंप ने तो ब्लोगजगत के सभी रिकॉर्ड भवन ध्वस्त कर दिये, पर हम सब फ़िर भी खुश है। हम गिनने की जहमत नहीं उठायेगें आप ही बता दीजिए मीटर की रीडिंग क्या कहती है। एक बार फ़िर ढेर सारी शुभकामनाएं

  • ताऊ रामपुरिया says:

    इस भूकंप ने तो आज तक आये सारे भुकंपो के रेकार्ड तोड डाले. इसकी तीव्रता का क्या अंदाजा लगायें? क्योंकि इसकी तीव्रता रिक्टर स्केल के सारे पैमाने फ़ोड के निकल चुकी है.

    रामराम.

  • शिवम् मिश्रा says:

    खुदा करें इस भूकंप की तीव्रता साल दर साल बडती जाए !

  • Tarkeshwar Giri says:

    Lagbhag sare hi Bhukamp ki chapet main aa chuke hain.

  • vinay says:

    मेरी सुचना क्या सबसे पहले मिली थी क्या ? बहुत

    मेहनत की आपने,मजा़ आ गया ।

  • vinay says:

    मेरी सुचना क्या सबसे पहले मिली थी क्या ? बहुत

    मेहनत की आपने,मजा़ आ गया ।

  • अविनाश वाचस्पति says:

    ब्‍लॉगम्‍प को
    दिया नाम भूकम्‍प का
    बहुत नाइंसाफी है
    पाबला सरदार
    इसे सुधारकर
    बनाओ असरदार।

  • dhiru singh {धीरू सिंह} says:

    जैसा बौओगे वैसा काटोगे . चरितार्थ हो रहा है और कुछ नही .

  • dhiru singh {धीरू सिंह} says:

    जैसा बौओगे वैसा काटोगे . चरितार्थ हो रहा है और कुछ नही .

  • शरद कोकास says:

    अपना रिक्टर स्केल यंत्र टूट गया है अगली बार इससे भी बडा भूकम्प आने वाला है सो नेक सलाह नया यंत्र खरीद कर रखें ..।

  • Shah Nawaz says:

    बहुत बड़ा वाला भूकंप था भाई! और इस बार अफवाह नहीं, बल्कि सही का भूकंप था! 🙂

  • संजय भास्कर says:

    पाबला दा ग्रेट…
    हमारी भी बधाई स्वीकारें!

  • संजय भास्कर says:

    वाह जी ! अगली साल फिर इससे भी बड़ा भूकंप आये |

  • शेफाली पाण्डे says:

    सचमुच भूकंप … पुन: बधाइयाँ और शुभकामनाएँ

  • राज भाटिय़ा says:

    अब पाव्बाला जी राहत सामग्री भी पहुचाईये ना इन भुकंप से ग्रस्त लोगो को.. अजी कोई लड्डू शड्डू

  • डॉ महेश सिन्हा says:

    क्या आपको ब्लैंक ईमेल मिला था !!

  • Usman says:

    बधाइयाँ और शुभकामनाएँ
    यहाँ भी आये : http://kashmirandindia.blogspot.com/2010/09/blog-post_23.html
    आपकी चर्चा है यहाँ भी ……

  • संगीता स्वरुप ( गीत ) says:

    ज़बरदस्त भूकंप रिपोर्ट ….

  • संगीता स्वरुप ( गीत ) says:

    ज़बरदस्त भूकंप रिपोर्ट ….

  • संगीता स्वरुप ( गीत ) says:

    ज़बरदस्त भूकंप रिपोर्ट ….

  • संगीता स्वरुप ( गीत ) says:

    ज़बरदस्त भूकंप रिपोर्ट ….

  • संगीता स्वरुप ( गीत ) says:

    ज़बरदस्त भूकंप रिपोर्ट ….

  • संगीता स्वरुप ( गीत ) says:

    ज़बरदस्त भूकंप रिपोर्ट ….

  • संगीता स्वरुप ( गीत ) says:

    ज़बरदस्त भूकंप रिपोर्ट ….

  • संगीता स्वरुप ( गीत ) says:

    ज़बरदस्त भूकंप रिपोर्ट ….

  • अजय कुमार झा says:

    सर रिक्टर पैमाना हो या वो साकी का पैमाना इस भूकंप की तीव्रता को मापना उसके बस की बात नहीं ..हम तो चाहते हैं कि ये साल दर साल बढता ही जाए ..एक बार फ़िर मुबारक हो सर

  • चन्द्र कुमार सोनी says:

    ऐसे भूकंप तो बार-बार और जोर-जोर से आने चाहिए.
    अगर भूकंप-वुकंप, आंधी-तूफ़ान की जगह सुनामी आ जाए तो क्या कहने.
    बहुत बढ़िया और आपकी मेहनत को सलाम.
    धन्यवाद.
    http://WWW.CHANDERKSONI.BLOGSPOT.COM

  • Udan Tashtari says:

    बड़ा भीषण भूकंप रहा जी..पूरी लॉग बुक तैयार हो गई.

  • Sanjeet Tripathi says:

    mauke bahut se mile chapet me aane ke lekin apan ne socha ek direct chapet me aa jayein vahi kaafi hai, bar bar naam kyn darj karwa kar muaavja maangein
    😉

  • निर्मला कपिला says:

    ये तो पूरी पुस्तक बन गयी हम भी इसकी चपेट मे आ ही गये। आगे देखें। धन्यवाद।

  • डा० अमर कुमार says:


    उस समय मैं अँदर जचगीरूम में प्यार से हौले हौले रूई के फ़ाहे से आपको पोंछ-पाँछ कर नहला रहा था,
    तो उसका यह सिला दिया, मेरा नाम ही उड़ा दिया ? ठीक है, प्राजी.. आपके पेट में दाढ़ी मुझे तभी दिख गयी थी !

    हमरी न मानो, तो बेबे से पूछो
    बेबे से पूछ कर देख लो !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
[+] Zaazu Emoticons Zaazu.com