2 मिनट में, अपना ब्लॉग गूगल के चंगुल से बचाएँ

आजकल जो हाहाकार मचा हुआ है गूगल खाता बंद होते जाने के कारण, उसी कड़ी में दो दिन पहले गुरूवार की रात ढाई बजे मोबाइल द्वारा हुई एक पुकार पर मुझे गहरी नींद से उठना पड़ा

बड़ी मुश्किल से आँखे खोल कर नाम देखने की कोशिश की पर सब धुंधला नज़र आ रहा था, आखिर बिस्तर पर गया ही 1 बजे जो था। नहीं समझ आया तो, हार कर कान से लगा ही लिया मोबाईल। उधर से पहले तो सॉरी कहा गया इत्ती रात फोन करने के लिए और फिर कातर आवाज़ आई कि मेरे दोनों ब्लॉग गायब हो गए हैं, आप कुछ कर सकते हैं क्या?

सबसे पहले मैंने यही पूछा कि बैक-अप लेते रहे हैं? तो ज़वाब अपेक्षानुसार ही आया- ‘नहीं’। नाराज़ होने का वह कोई वक्त नहीं था। उन्हें अपने ब्लॉग की उस लिंक के अनुसार चलने को कहा जिसमें बताया गया था गूगल द्वारा बंद कर दिए ब्लॉग वापस पाने के उपाय

शुक्रवार दोपहर तक उनके ब्लॉग उनकी झोली में वापस आ गिरे

शाम को सिविक सेंटर की ‘चौपाटी’ में एक पत्रकार ब्लॉगर टकरा गए तो फिर वही विषय। हालांकि उन्होंने एक वर्ष में चार ही ब्लॉग लेख लिखे हैं लेकिन उनकी जिज्ञासा थी कि ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे गूगल द्वारा खाता बंद करने, ब्लॉग छीन लिए जाने के पहले ही कोई ऐसा इंतज़ाम नहीं हो सकता कि उससे गंभीर समस्या होने के पहले ब्लॉग का बैक-अप आदि लिया जा सके ताकि संभावित नुकसान कम किया जा सके?

सामने एक बच्चा बड़े चाव से चाऊमीन गटक रहा था उसे देखते हुए मैंने कहा कि जैसे दो मिनट में मैगी बन जाती है वैसे ही दो मिनट में अपने ब्लॉग बचाए जा सकते हैं। फिर दो मिनट में उन्हें जो बताया वही यह लिख रहा।

सबसे पहली बात तो यह कि जिस ई-मेल आईडी से आपके ब्लॉग चल रहे, उसके अलावा आपके पास जीती जागती काम करती एक अतिरिक्त ई-मेल आईडी हो (नहीं है तो बना लीजिए) अब अपने गूगल ब्लॉगर डैशबोर्ड पर जाए, जिस ब्लॉग को ‘बचाना’ है उसकी सेटिंग पर क्लिक करें।

 

मेन्यू बार के अंत में दिए गए अनुमतियाँ पर क्लिक करें

फिर सामने दिख रहे पृष्ठ में ‘लेखक जोड़ें’ पर क्लिक करें

सामने दिख रहे खाली स्थान पर अपनी ‘अतिरिक्त’ ई-मेल आईडी लिखें, आमंत्रित करें पर क्लिक करें

वहाँ दिखना शुरू हो जाएगा कि आपने किसे खुला आमंत्रण, कब दिया है।

उधर आपकी ‘अतिरिक्त’ ई-मेल आई डी में एक मेल पहुँच चुकी होगी कि आपको फलां ब्लॉग में सहयोग के लिए आमंत्रित किया गया है (जिसे आपने ही भेजा है)। अब चाहे अपनी ‘असली’ वाली मेल से लॉग-आउट हो कर या किसी दूसरे ब्राऊज़र में उस ‘अतिरिक्त’ मेल में आई आमंत्रण वाली लिंक पर क्लिक करें।

पलक झपकते ही मैगी तैयार! ओह आपका ब्लॉग बचाव तैयार। अतिरिक्त मेल से चल रहे ब्लॉगर डैशबोर्ड में आपका ब्लॉग दिख रहा होगा।

उधर ‘असली’ मेल से खुले ब्लॉगर डैशबोर्ड में दिखना शुरू हो जाएगा कि ‘अतिरिक्त’ आई डी वाला आपसे जुड़ चुका है। अब सबसे ज़रूरी काम करना ना भूलें! उस ‘अतिरिक्त’ आई डी के सामने दिए गए ‘व्यवस्थापकीय विशेषाधिकार प्रदान करें’ लिंक पर क्लिक करें

एक चेतावनी सरीखा लिखा आएगा। बेहिचक व्यवस्थापकीय विशेषाधिकार प्रदान करें’ पर क्लिक कर सारा कार्य समाप्त करते हुए चैन की सांस लीजिए।

अब कभी ‘असली’ आई डी वाला खाता बंद हो जाए तो अपनी ‘अतिरिक्त’ आई डी से ब्लॉगर डैशबोर्ड पर जा कर अपना सारा कार्य कर सकते हैं। बेहतर होगा दूसरी आई डी में नाम फोटो वही रखें, जो पहली वाली आई डी में है।

मैं खुद इसी तरीके से अपने ब्लॉग बचा सकने में सफल हुआ हूँ।

कुछ भूल तो नहीं गया बताने से?

लेख का मूल्यांकन करें

55 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


टिप्पणीकर्ता की ताज़ा ब्लॉग पोस्ट दिखाएँ
[+] Zaazu Emoticons Zaazu.com