चिट्ठाजगत वालों से बात हुई तो स्वार्थ सामने दिखा उनका

पिछले वर्ष जब हिन्दी ब्लॉग एग्रीगेटर चिट्ठाजगत यकायक ओझल हो गया तो इसकी आदत डाल चुके बहुतेरे ब्लॉगर निराश होते दिखे थे। आँख-मिचौली का खेल खेलते कभी कभी इसकी झलक दिखती भी रही लेकिन आखिरकार वापस लौटने की तमाम अटकलों को झुठलाते हुए चिट्ठाजगत विलुप्त हो गया। फिर एकाएक पहले की तरह नए ब्लॉगों की […]
Continue reading…

 

ब्लॉग मंडली में शामिल हो कर धूम मचायें रंग जमायें

प्रत्येक माह के भारतीय पर्व पर हिन्दी ब्लॉगिंग को समर्पित 11 वेबसाईट्स लाए जाने के प्रयासों में अब तक जनवरी में ब्लॉगस इन मीडिया, फरवरी में ब्लॉग मंच को आपके समक्ष लाया जा चुका है। इस बार भारतीय रंग-पर्व होली के अवसर पर आप शामिल हो सकते हैं ब्लॉग मंडली में। ब्लॉग मंडली मूल रूप […]
Continue reading…

 

गूगल ब्लॉगस्पॉट ने एक नया विज़ेट पेश किया

गूगल ब्लॉगर ने ताज़ा ताज़ा एक विजेट प्रस्तुत किया है जिससे द्वारा पाठक आपना ई–मेल दर्ज कर उस ब्लॉग की नई जानकारियाँ अपने ईमेल में प्राप्त कर सकता है. मूल तौर पर यह फीडबर्नर की ईमेल सेवा का ही दूसरा स्वरूप है. बस इतना सा काम ब्लागस्पाट ने किया है कि इसे सीधे एक विजेट […]
Continue reading…

 

एक क्लिक ने सारा ब्लॉग मिटा दिया

मेरे एक मित्र पिछले दिनों ब्लॉग से वेबसाईट पर स्थानांतरित हुए। नई तकनीक थी। जिद कर बैठे कि इसका सम्पूर्ण संचालन मुझे सौंप दें, कुछ प्रयोग करने हैं। कुछ गड़बड़ हुई तो संभाल लेना। अब मुझे करना क्या था, सब कुछ तो उन्हीं का है। दो-तीन दिन तो ठीक बीते लेकिन कुछ दिन बाद देखता […]
Continue reading…

 

क्या ब्लॉगों को विदाई देने का वक्त सचमुच आ गया!?

पिछले दिनों आई एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि 2006 के मुकाबले 2010 में ब्लॉगिंग के प्रति आकर्षण कम हुआ है। हालांकि यह इतनी बुरी खबर नहीं है क्योंकि इसी रिपोर्ट में कहा गया है कि 34 वर्ष कि आयु से ऊपर वाल़े इस विधा में 2008 के मुकाबले अधिक सक्रिय हुए […]
Continue reading…

 

ब्लॉग जगत से हिंदी में ऑनलाईन फोरम की शुरूआत

पिछले माह मकर संक्रांति पर मैंने इस वर्ष 2011 में हिन्दी ब्लॉगिंग को समर्पित 11 वेबसाईट्स लाए जाने का अपना इरादा ज़ाहिर किया था, 2011 के प्रत्येक माह के भारतीय पर्व पर एक वेबसाईट और इसकी शुरूआत की थी www.BlogsInMedia.com की औपचारिक सूचना दे कर। जैसा कि कहा गया, यह ऐसी वेबसाईट्स होंगी जिनमें हिन्दी […]
Continue reading…

 

टिप्पणियों में लिंक देने वाले हो जाएं सावधान !!

अभी अभी ऐसा कुछ हुआ कि अपने एक ब्लॉग लेख के लिए बेहद सामान्य सी टिप्पणी मुझे अपने ई-मेल में दिखी। यूँ ही मैंने वह ब्लॉग पोस्ट खोल ली। वहाँ यह टिप्पणी नहीं दिखी! हैरान होने की बजाए मेरा ध्यान वर्डप्रेस वाली वेवसाईटों की टिप्पणी व्यवस्था की ओर गया तो ब्लॉगस्पॉट द्वारा टिप्पणियों के लिए […]
Continue reading…

 

ब्लॉगरो सावधान! गूगल ने असली लेखन को बढ़ावा देने अपने कोड बदलने शुरू किए

निश्चित तौर पर यह खबर उनके लिए बेहद निराशा ले कर आ रही है जो किसी अन्य के लेखन या खबर को आधार बना कर या ‘प्रेरणा’ ले कर अपने कथित लेख लिखते हैं। हुआ यह है कि खोज इंजन परिणामों में, नकल किए गए लेखों, स्पैम को कम करने के लिए गूगल टीम की […]
Continue reading…

 

हिन्दी ब्लॉगिंग को समर्पित 11 वेबसाईट्स आ रही हैं 2011 में

पिछले वर्ष अनायास ही इतने पारिवारिक हादसे हुए कि तमाम योजनाएँ धरी की धरी रह गईं। अब पुन: स्फूर्ति आई है तो हिन्दी ब्लॉगिंग को केन्द्र में रख कर किए जाने वाले कार्यों से अवगत करवाना चाहता हूँ आपको। जैसी योजना है उसके अनुसार इस वर्ष 2011 में हिन्दी ब्लॉगिंग को समर्पित 11 वेबसाईट्स लाई […]
Continue reading…

 

ज़रूरी है अब, ब्लॉगिंग के लिए सरकारी लाइसेंस!!

अब शुरूआत हो चुकी है ब्लॉगिंग के लिए सरकारी लाइसेंस लेने की! संभवत: विश्व में पहली बार ऐसा हो रहा है। ताज़ा समाचारों के अनुसार सऊदी अरब के संस्कृति और सूचना मंत्रालय द्वारा अब ब्लॉग, ऑनलाइन समाचार पत्र या देश में किसी भी तरह के ई प्रकाशन के लिए लाइसेंस की जरूरत अनिवार्य कर दी […]
Continue reading…

 

मोज़िला ने गलती से पंजीकृत उपयोगकर्ता डेटा वाली फाइल प्रकाशित की

मोज़िला द्वारा अपने ब्लॉग पर सूचित किया गया है कि addons.mozilla.org के उपयोगकर्ता खातों का आंशिक डेटाबेस गलती से एक मोज़िला सार्वजनिक सर्वर पर छोड़ दिया गया था। यह डेटाबेस, किसी के भी द्वारा डाउनलोड किया जा सकने में सक्षम था। देखिए उनका मूल लेख मोज़िला द्वारा भेजी गई ई-मेल: Dear addons.mozilla.org user, The purpose […]
Continue reading…

 

ब्लॉग पढ़ने के लिए एग्रीगेटर तलाश रहे हैं आप? इधर देख लीजिए

मेरे बहुत से मित्र ऐसे हैं जो ब्लॉगिंग नहीं करते लेकिन ब्लॉग पढ़ते ज़रूर हैं। उन्हें ब्लॉग पढ़ने का चस्का या तो मैंने लगाया या फिर समाचारपत्रों में ब्लॉग रचनाएँ देख हुया। आजकल कई मित्र परेशान हैं कि चर्चित एग्रीगेटर अपनी सेवायें नहीं दे रहें ब्लॉग कैसे पढ़ें? अब चालू भाषा में कहा जाए तो […]
Continue reading…