भिलाई में हुई ब्लॉगर बैठक, दो नए ब्लॉगरों के साथ: चिट्ठाचर्चा डॉट कॉम की प्रगति पर भी चर्चा

मोबाईल की धुन बजी तो नाम चमकता दिखा नरेश सोनी! ठीक 6 बजे थे। वह समय जो तय किया गया था एक ब्लॉगर बैठक का। ‘मुझे मालूम था कि आप सबसे पहले पहुंचोगे’ मैंने हंसते हुए सोनी जी से कहा। आधे घंटे की मोहलत ली मैंने और कॉल खत्म होते ही संजीव तिवारी जी को […]
Continue reading…

 

चिट्ठाचर्चा डॉट कॉम खरीदा गया तो अपराध की गर्त में चले गए!?

अपने सम्बोधन के पश्चात अनिल पुसदकर जी ने जब छत्तीसगढ़ की ब्लॉगर बैठक में मुझे मंच पर आमंत्रित किया तो मैंने, चिट्ठाचर्चा डॉट कॉम पर डेढ़ माह तक निस्वार्थ भाव से हो रहे कार्य के लगभग संपन्न हो चुकने के बाद, कुछ चुनिंदा ब्लॉगरों द्वारा इस प्रक्रिया पर नैतिकता व भावना का मुल्लमा चढ़ा कर […]
Continue reading…

 

चिट्ठाचर्चा डॉट कॉम से शुरू हो कर, वृहद ब्लॉगर सम्मेलन पर खत्म होती बैठक की बातें

मकर संक्राति के कुछ दिन पहले, लगभग सूख चुके लॉन पर धूप का आनंद ले रहा था कि राजकुमार ग्वालानी जी ने मोबाईल पर सम्पर्क किया। हमेशा की तरह गर्मजोशी से बातें शुरू करते हुए कहने लगे कि लगभग एक माह होने को आया, अपनी बैठक नहीं हुई अभी तक। तात्कालिक रूप से 17 जनवरी […]
Continue reading…

 

ऑनलाईन फोरम www.blogmanch.com : चिंतन बैठक से निकला एक और निर्णय

दो सप्ताह पूर्व हिन्दी ब्लॉगरों की एक आकस्मिक चिंतन बैठक में सभी ने अपने अपने तरीके से ब्लॉग जगत की अच्छाईयों बुराईयों की जम कर चर्चा की थी। जहाँ एक ओर कथित गुटबाजी को चंद व्यक्तियों का शोशा ही माना गया तो इस विधा से बन रहे ई-रिश्तों की भूरि भूरि प्रशंसा भी हुई। दोपहर […]
Continue reading…

 

भिलाई में हुई ब्लॉगर चिन्तन बैठक के आरंभिक दो निर्णयों की घोषणा

आज से ठीक एक सप्ताह पहले, स्थानीय हिन्दी ब्लॉगरों की एक आकस्मिक बैठक भिलाई-दुर्ग में हुई थी, जिसे बाद में चिंतन बैठक का नाम दिया गया। पूर्वनियोजित बैठक न होने के कारण कई ब्लॉगरों को सूचना नहीं मिल पाई थी। मैराथन बैठक कही जा सकने वाली इस बैठक के दौरान, कई मह्त्वपूर्ण सकारात्मक निर्णय लिए […]
Continue reading…