उत्तर भारत की यात्रा: दो नौजवान ब्लॉगरों से हुई पहली मुलाकात

12 ब्लॉगरों की खुशनुमा शाम के बाद अगले दिन 20 दिसम्बर को मुझे भिलाई लौटना था। हजरत निज़ामुद्दीन स्टेशन से दोपहर 3:25 को चलने वाली ट्रेन में वातानूकूलित शयनयान का…

उत्तर भारत की यात्रा: वह खुशनुमा शाम, 12 ब्लॉगरों के नाम

एक दूसरे से पहली बार मिले चार ब्लॉगरों की 18 दिसम्बर को हुई लम्बी बैठक के बाद अजय जी के निवास पर उनकी कई कम्प्यूटर संबंधित तकनीकी उलझनों का शमन…

  • padmsingh

    वाह ! एक एक बातें अक्षरशः याद कैसे रह...

  • एस.एम.मासूम

    खूबसूरत तस्वीरों के साथ एक बेहतरीन ...

उत्तर भारत की यात्रा: दिल्ली के एसीपी से पंगा लेने/ ना लेने का कारण

मैं चल तो पड़ा लुधियाना से शान-ए-पंजाब में सवार हो, लेकिन उसे नई दिल्ली पहुँचते इतनी देर हो गई कि मेट्रो नहीं मिली शाहदरा जाने के लिए। वहाँ मेरी बुआ…

  • ali

    डाक्टर अरविन्द मिश्र जी जो रिस्क बत...

  • खुशदीप सहगल

    सुदूर खूबसूरत लालिमा ने आकाशगंगा को...

अजय झा परिवार, वापस भिलाई आने का दिन, फिर उनका ब्लॉगिंग को अलविदा कहना!!

अजय जी के साथ तकनीकी जानकारियाँ साझा करते–करते 17 तारीख की सुबह ढ़ाई बज गए तो हम अगले दिन का कार्यक्रम बनाते बिस्तर पर जा पहुँचे। सुबह नींद देर से…

  • Mahfooz Ali

    बहुत अच्छी लगी यह पोस्ट........

  • jai

    ये तो बहुत बडा मजाक हो गया
    लोग तो न...

ब्लॉगिंग को बकवास ठहराते पुण्य प्रसून बाजपेयी से हुई मुठभेड़

रविवार का वह खुशनुमा दिन एक साथ बिता, सभी के दिल-ओ-जुबां पर अगली मुलाकात का वादा था। एक एक कर जब सभी प्रफुल्लित मन से विदा लेने लगे तो, अजय…

  • honesty project democracy

    वाह बहुत सुन्दर आपने ब्लोगरों के मि...

  • indu puri

    इतना गुस्सा आ रहा है ना आप पर ,पूछो मत....

मेरी दिल्ली यात्रा: पहली बार राजीव तनेजा, खुशदीप, इरफ़ान, विनीत से रुबरू होने का रोमांच

बेशक विनीत कुमार के मोबाईल नम्बर पर हुए वार्तालाप के बाद मुझे कुछ असहजता सी लगी हो, किन्तु अगले दिन ब्लॉगर साथियों से रूबरू होने का ख्याल मुझे रोमांचित कर…

  • anitakumar

    interesting.......

  • शरद कोकास

    यह परिचय सत्र देख कर मज़ा आ गया .. अब स...

मेरी दिल्ली यात्रा: सूचना मिलते ही मुरैना स्टेशन पर पहुँचे भुवनेश शर्मा जी

पिछले माह, अक्टूबर की 11 तारीख को आधी रात बीत रही थी। अजय कुमार झा चैट पर बतिया रहे थे। एकाएक उनकी ओर से लिखा हुआ आया ‘… सोच रहा…

  • Vivek Rastogi

    वाकई कब हम एक परिवार में प्रवेश कर गय...

  • बी एस पाबला

    हे राम!
    ब्लॉगिंग का गांधी !!!

    खुश...

अजय झा के स्नेह भरे शब्द और मेरा दिल्ली पहुंचना

पिछले महीने की एक शाम अजय कुमार झा जी से जीटाक पर बातचीत चल रही थी। किसी बात पर अजय जी ने बड़े स्नेह से कह दिया कि अब तो…