ब्लॉगिंग की दुनिया में एक अनोखा ब्लॉग-संकलक, एग्रीगेटर कर रहा आपका इंतज़ार

पिछली बार मैंने संक्षिप्त सी पोस्ट में अपनी इच्छा जाहिर की थी कि अब बहुत हो गई ब्लॉगिंग, अब चला जाए। इसी तारतम्य में अब बात की जाए आगे। मामला था प्रिंट मीडिया पर ब्लॉग चर्चा वाले ब्लॉग का, जिसने हाल ही में 1500 पोस्ट्स का आंकड़ा पूर्ण किया है। मूल तौर पर यह हिन्दी […]
Continue reading…

 

… बहुत हो गई ब्लॉगिंग, अब चला जाए ….

पाबला जी …कुत्तों की तरह केवल भौकना जानते हैं/ पाबला और उनके गैंग कि दादागिरि इस पुरे ब्लाग जगत पर है/ पावला … और … बेबकूफो की जमात अपने आप को हिंदुस्तान का प्रधान मंत्री समझती है/ पावला जी …कौड़ी काम के भी नहीं हैं/ किसी का लिखा अख़बार से उठाकर छाप देना भी कोई […]
Continue reading…

 

‘कुंठित मठाधीशों के ब्लॉग व अरस्तू-चाणक्य शैली की टिप्पणियाँ’ वाले आलोक मेहता के ब्लॉग से सभी पोस्ट्स हटाई गईं

नई दुनियां से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता ने होली के अवसर पर हिन्दी ब्लाग जगत पर व्यंग्य बाण छोड़कर सक्रिय ब्लाग लेखकों को लगभग स्तब्ध कर दिया। जब इस लेख को देखा गया तो अधिकतर ब्लाग लेखक हैरान रह गये। वास्तव में दूसरों पर कटाक्ष और प्रहार करने वाला हिन्दी ब्लाग जगत आज खुद […]
Continue reading…

 

आपके ब्लॉग ने पार किया 1000 पोस्ट्स का आँकड़ा: बधाई लीजिए

पिछले वर्ष 2009 की 4 अप्रैल को प्रारंभ किए गए प्रिंट मीडिया पर ब्लॉग चर्चा ने आज 22 फरवरी 2010 को रंगों के त्यौहार के कुछ दिन पहले, लगभग 10 माह में, 1000 पोस्ट्स का आंकड़ा पार कर लिया है तथा लगभग 2000 टिप्पणियों, 165 फॉलोअर्स सहित इसके पाठकों की संख्या 29,000 पार हो चुकी […]
Continue reading…

 

आप सभी का धन्यवाद

मैं तहेदिल से आप सभी का धन्यवाद करना चाहता हूँ। जिस तरह आप सभी ने, बाँहें फैला कर समाचार पत्र-पत्रिकायों में विभिन्न ब्लॉगों के उल्लेख वाले नये ब्लॉग ‘प्रिंट मीडिया पर ब्लॉग़ चर्चा‘ का दिल खोल कर स्वागत किया है उससे मैं अभिभूत हूँ। अभी सौ घंटे नहीं हुये इसे ऑनलाईन हुए और 1000 से […]
Continue reading…