डायरी के पन्ने: रीवां, जबलपुर, कान्हा किसली की यादें

भिलाई से रीवां, जबलपुर, कान्हा किसली की यात्रा के दौरान हुए रोमांचक अनुभवों का लेखा जोखा
Continue reading…

 

धुआंधार बारिश, दिमाग का फ्यूज़ और सुनसान सड़कों पर चीखती कन्या को प्रणाम

काठमांडू से लौटते हुए शहडोल, अनूपपुर हो कर भयावह अंधेरी रात में गाड़ी चलाते रीवां से भिलाई पहुँचने का रोमांचक संस्मरण
Continue reading…

 

खौफनाक राह, घूरती निगाहें, कमबख्त कार और इलाहाबाद की दास्ताँ

सडक मार्ग द्वारा काठमांडू से लौटते हुए इलाहाबाद में बिताये गए कुछ घंटों की दास्ताँ
Continue reading…

 

23 साल, वो डरावनी रात और पहाड़ों पर अकेली लड़की से मुलाक़ात

अमरकंटक के पहाड़ों पर एक डरावनी रात के वक्त हुई मुलाक़ात एक युवती से
Continue reading…